Saturday, December 16

Religion

ये 6 पाप करने पर भगवान शिव देते है भयंकर दंड

ये 6 पाप करने पर भगवान शिव देते है भयंकर दंड

Interesting, Religion
भगवन शिव जो देवो देव महादेव है, संसार के कण कण में बसी हुयी असीम उर्जा शिव है, शिव जी को प्रेम का प्रतिक मन जाता है, उन्हें एक अछे पति के तौर पर भी जाना जाता है और एक अछे पिता के तौर भी उन्हें पूजा जाता है, जो कुवारी लडकिया नंदी के कान में अच्छा पति पाने की इच्छा प्रकट करती है, उन्हें शिवजी कभी निराश नहीं करते, वैसे तो शिवजी भोलेनाथ है, शिव जी को किसी भी स्थान पर पूजा जा सकता है, उन्हें एक लोटा पानी चढ़कर भी प्रसन्न किया जा सकता है, आज मैं आपको शिव पूरण में बताये हुए ऐसे 6 पापो के बारे में बताने जा रहा हु जिन्हें करने पर शिवजी अत्यंत भयंकर दंड देते है. 1. शादी तोड़ने की कोशिश: जो भी लड़की शिवजी के वहां नंदी के कान में स्वयं के लिए अच्छा पति मिलने की इच्छा प्रकट करती है, उनपर शिव हमेशा कृपा करते है, लेकिन अगर कोई व्यक्ति किसी दुष्ट वजह से शादी तोड़ने की कोशिश करता है, कोई स्त्री किसी दुस
किसी भी मनुष्य को कौए से सिख लेनी चाहिए ये 5 बातें

किसी भी मनुष्य को कौए से सिख लेनी चाहिए ये 5 बातें

Interesting, Religion
मनुष्य कौएं को एक तुच्छ पक्षी मानते है, परन्तु कौएं को सबसे बुद्धिमान पक्षी का भी दर्ज प्राप्त है, वैज्ञानिक भी कौएं के एक बुद्धिमान पक्षी मानते है, एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार कौएं की बौधिक क्षमता एक ७ साल के बच्चे जितनी प्रबल होती है, और वह उसका पुरपुर इस्तेमाल करता है. आचार्य चाणक्य ने अपने नीतियों कौएं के ५ गुणों का वर्णन किया है और जो भी उन बातो का पालन करता है, वह जीवन में कभी असफल नहीं होता. आईये जानते है कौएं के वो को गुण है जिनसे हमें सिख मिलती है. 1. अपनी पत्नी के साथ एकांत में प्रणय करना: कहा जाता है की कौएं इतर पक्षियों की तरह किसी भी जगह पर प्रणय नहीं करते, ऐसा करते हुए उन्हें बहोत की कम लोगो ने देखा है, मनुष्य को भी इस बात को आचरण में लाना चाहिए, किसी भी व्यक्ति को अपने साथी के साथ प्रणय क्रिया करने से पहले चारोतरफ देखना चाहिए, ऐसे कामों  एकांतवास में ही करना उचित होता ह
घर के आटे में चुपचाप डाल दे ये चीजे, पैसो की होगी ऐसी बारिश कि आप संभाल नहीं पाएंगे

घर के आटे में चुपचाप डाल दे ये चीजे, पैसो की होगी ऐसी बारिश कि आप संभाल नहीं पाएंगे

Religion
कई परिवारों में लोग अक्सर ये शिकायत करते है, कि घर के सदस्य जितना कमाते है, उससे कभी पूरा नहीं पड़ता. इतना कमाने के बावजूद भी उन्हें तंगहाल जीवन ही व्यतीत करना पड़ता है. वैसे आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताने वाले है, जिससे आपकी ये शिकायत हमेशा के लिए दूर हो जाएगी. आपको बता दे कि हम आपको तुलसी का ऐसा रामबाण उपाय बताने वाले है, जिसे आजमाने के बाद आपको कभी आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा. गौरतलब है, कि इस उपाय को करना जितना आसान है, इसका असर भी उतनी ही तेजी से दिखता है. इसके इलावा यह उपाय आर्थिक तंगी तो दूर करेगा ही, पर साथ ही परिवार के सदस्यों में हो रहे कलेश को खत्म करने में भी सहायता करेगा. तो चलिए अब हम आपको बताते है, कि आखिर यह चमत्कारी उपाय क्या है. 1. इस उपाय के अनुसार शनिवार को आटा पिसवाने के लिए जाते समय थोड़े से गेहूं में 100 ग्राम काले चने, 11 पत्ते तुलसी और दो दाने केसर के
चाणक्य के अनुसार भूलकर भी ऐसी स्त्री से न करें विवाह

चाणक्य के अनुसार भूलकर भी ऐसी स्त्री से न करें विवाह

Religion
चाणक्यनीति शास्त्र या आचार्य चाणक्य द्वारा प्रदान किया गया एक ऐसा ग्रंथ है, जिसमें मनुष्य के जीवन में सुधार लाने हेतु सुझाव दिए गए हैं। इस ग्रंथ में बहुत सारे सूत्र शामिल किए गए हैं, जिनका यदि सही रूप से पालन किया जाए तो हमारा जीवन चमत्कारिक ढंग से बदल सकता है। आचार्य चाणक्य आचार्य चाणक्य ने बताया कि उनको जिंदगी के प्रत्येक दांव-पेंच आते थे। कौन किस समय क्या सोच रहा है और उसकी अगली चाल क्या होगी, यह आचार्य चाणक्य बखूबी भांप लेते थे। अपने इन्हीं प्रयोगों के बाद चाणक्य ने इस महान ग्रंथ की रचना की थी, जिसे पढ़ने पर हमें मनुष्य के विचित्र स्वभाव एवं उसकी सोच के बारे में पता चलता है। नीति ग्रन्थ चाणक्य नीति के द्वारा पुरुष, महिला, बच्चे, बूढ़े, सभी के स्वभाव के बारे में जाना जा सकता है। मित्र एवं शत्रु या किसी भी अन्य मानवीय रिश्ते की गहराई को समझा जा सकता है। इन सभी रिश्तों को जिस नजर से ह
घर में रहने वाली छिपकली भी बताती है कैसा होगा आपका भविष्य

घर में रहने वाली छिपकली भी बताती है कैसा होगा आपका भविष्य

Religion
ज्योतिष के अनुसार दैनिक जीवन में बहुत सारे ऐसे संकेतों के बारे में बताया गया है जिनसे हमें अंदाजा हो जाता है कि भविष्य में कैसा समय होगा जैसे छिपकली के शरीर पर गिरने से भी शुभ-अशुभ प्रभावों के बारे में जाना जा सकता है। ज्‍योतिष के अनुसार छिपकली का पुरुषों के बाएं अंगों व महिलाओं के दाहिने अंगों पर गिरना अशुभ माना जाता है और पुरुषों के दाएं अंगों व स्त्रियों के बाएं अंगों पर गिरना शुभ होता है। जब छिपकली शरीर के किसी अंग पर गिरे तो उस स्थान को पानी से धो लें या नहा लें क्योंकि उसके शरीर में जहरीला पदार्थ होता है। जब वह किसी पर गिरती है तो अपने शरीर का जहर आपकी त्वचा पर छोड़ देती है।   - बालों पर छिपकली का गिरना मौत आने का संकेत है। - दाएं कान पर छिपकली के गिरने से गहनों की प्राप्ति होती है और बाएं कान पर गिर जाए तो आयु में वृद्धि होती है। - छिपकली का नाक पर गिरना भाग्‍योदय क
इस वजह से होता है किन्नरों का जन्म, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

इस वजह से होता है किन्नरों का जन्म, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

Interesting, Religion
प्रकृत‌ि में नर नारी के अलावा एक अन्य वर्ग भी है जो न तो पूरी तरह नर होता है और न नारी। जिसे लोग हिजड़ा या किन्नर या फिर ट्रांसजेंडर के नाम से संबोधित करते हैं। जी हां हिजड़ा जिसके बारे में जानने की उत्सुकता हमेशा से लोगों के जेहन में रहती है। आपको शायद पता नहा हो कि किन्नरों का जननांग जन्म से लेकर मृत्यु परांत एक जैसा ही रहता है। यूं कहें कि इनके जननांग कभी विकसित नहीं होते। किन्नरों के अंदर एक अलग गुण पाए जाते हैं। इनमे पुरुष और स्त्री दोनों के गुण एक साथ पाए जाते हैं। आज हम आपको बताएँगे किन्नरों के जन्म से जुड़े कई सवाल उठते है हमारे दिमाग में, क्या मकसद होता है इनके जन्म का। आपने गौर किया होगा की जब भी हमारे घर के आस पास कोई ख़ुशी का माहौल होता है तो अक्सर किन्नर जुट जाते है। ऐसा खासतौर पर तब ज्यादा होता है जब किसी के घर में बच्चा पैदा होता है। इस तरह के जश्न में वे ढेर सारे दुवाओं औ
शाम के समय भूल से भी ना करें ये 5 काम आती है दरिद्रता

शाम के समय भूल से भी ना करें ये 5 काम आती है दरिद्रता

Religion
शाम के वक्त भूलसे भी ना करे ये 5 काम दरिद्रता आती है। शास्त्रार्थ में ये काम शाम के समय नहीं करने चाहिए। शास्त्रों में बताये हुए ऐसे पांच कामों के बारे में बताने जा रहा हुॅँ जिन्हें श्याम के वक्त नहीं करना चाहिए ऐसा करने पर दरिद्र आता है। भोजन करना शाम के समय कभी भोजन नहीं करना चाहिए,इसे शास्‍त्रों की दृष्टी में गलत मन गया है, ऐसा करने से धन का नाश हो सकता है और इस समय भोजन करने पर आपका पेट भी खराब हो सकता है। अगर आपको बहोत भूख लगी हो तो आप फल आहार ले सकते है। झाड़ू मारना शाम के समय झाड़ू कभी नहीं चलाना चाहिए, इससे घरकी सारी सकारात्मक उर्जा बाहर चली जाती है और इस कारण से घर में दरिद्रता आ सकती है। शाम के समय अच्‍छे मन से लक्ष्‍मी जी की पूजा करनी चाहिए, इससे धन की प्राप्ति होती है इसीलिए ध्यान रखे शाम होने से पहले ही घर को अच्‍छे तरह से साफ़ करले। प्रेम संबंध शास्त्रों के
इस जगह रखेंगे नमक की पोटली तो रातों रात बन जाएंगे करोड़पति

इस जगह रखेंगे नमक की पोटली तो रातों रात बन जाएंगे करोड़पति

Religion
नमक का इस्तेमाल ज‌िस तरह से खाने को लजीज बना देता है उसी तरह नमक अपके जीवन को भी मजेदार बना सकता है, ऐसा वास्‍तु व‌िज्ञान का मत है। वास्तु व‌िज्ञान के अनुसार नमक में गजब की शक्त‌ि होती है जो न स‌िर्फ आपके घर को सकारात्मक ऊर्जा से भर देती है बल्क‌ि आपके घर में सुख समृद्ध‌ि भी बढ़ाने का काम करती है। लेक‌िन इसके ल‌िए स‌िर्फ खाने में नमक नहीं कई दूसरे कामों में भी नमक का प्रयोग करना होगा। हम आपको बताने जा रहे हैं नमक के उपाय जो आपके घर की नकारात्‍मक ऊर्जा को नष्‍ट कर मालामाल कर देंगे। डली वाला नमक लाल रंग के कपड़े में बांधकर घर के मुख्य द्वार पर लटकाने से घर में किसी बुरी ताकत का प्रवेश नहीं होता है। कारोबर में उन्नति के लिए अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर और तिजोरी के ऊपर लटकाना लाभप्रद माना गया है।  यह भी पढ़ें: अपनी लम्बाई का धागा लेकर चुपचाप करें ये उपाय फिर होगा गजब
अपनी लम्बाई का धागा लेकर चुपचाप करें ये उपाय फिर होगा गजब का चमत्‍कार

अपनी लम्बाई का धागा लेकर चुपचाप करें ये उपाय फिर होगा गजब का चमत्‍कार

Religion
हिन्दू धर्म में शनि देव को मनुष्यों के कर्मो का दंड देने वाले न्यायाधीश कहा जाता हैं। वे सभी मनुष्य के अच्छे और बुरे कर्मो का फल देते हैं। अगर आपको शनि दोष हैं और आप शनिदेव को प्रसन्न करना चाहते हैं? तो आज हम आपको शनी देव को मनाने के लिए ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाने पर शनि देव आप पर प्रसन्न हो जायेंगे और आपके आपके जीवन से दुःख, कलेश, असफलता आदि को दूर करेंगे और अपनी कृपा आप पर बरसाएंगे। शनिदेव के प्रसन्‍न होने से आपका जीवन सफल हो जाएगा। तो आइए जानते हैं उन उपायों को अगर आप शनि को प्रसन्न करना चाहते हैं तो शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष के नीचे दीपक जलाएं और दोनों हाथों से पीपल के पेड़ को स्‍पर्श करें। इस दौरान पीपल के पेड़ की परिक्रमा करें और शनि मंत्र 'ऊं शं शनैश्‍चराय नम:' का जाप करते रहना चाहिए, यह आपकी साढ़ेसाती की सभी परेशानियों को दूर ले जाता है। साढ़ेसाती के प्रको
स्त्री के पूरे जीवनचक्र का बिम्ब है नवदुर्गा के नौ स्वरूप

स्त्री के पूरे जीवनचक्र का बिम्ब है नवदुर्गा के नौ स्वरूप

Religion
नवरात्रि शुरु हो गई है। इस दौरान मां दुर्गा के नौ रुपों की पूजा की जाती है। देवी दुर्गा के नौ रूप हैं शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंधमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्री। इन नौ रातों में तीन देवी पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ रुपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते हैं। नवदुर्गा के नौ स्वरूप स्त्री के जीवनचक्र को दर्शाते है।     1. जन्म ग्रहण करती हुई कन्या "शैलपुत्री" स्वरूप है। 2. स्त्री का कौमार्य अवस्था तक "ब्रह्मचारिणी" का रूप है। 3. विवाह से पूर्व तक चंद्रमा के समान निर्मल होने से वह "चंद्रघंटा" समान है। 4. नए जीव को जन्म देने के लिए गर्भ धारण करने पर वह "कूष्मांडा" स्वरूप में है। 5. संतान को जन्म देने के बाद वही स्त्री "स्कन्दमाता" हो जाती है। 6. संयम व साधना को धारण करने वाली स्त्री "कात्यायनी" रूप है। 7. अपने