Thursday, February 22

प्रद्युम्न हत्याकांड में जेल से बाहर आते ही बस कंडक्‍टर अशोक ने कहा, ‘जीते जी मैंने नरक भोग लिया’

प्रद्युम्न मर्डर केस जिसमे सी.बी.आई. ने कई खुलासे किए वही अब जेल से निकले कंडक्टर अशोक ने भी कई चौकाने वाले खुलासे किये। जिसे जानने के बाद आप भी हैरान हो जाएँगे। प्रद्युम्न हत्या कांड में छात्र प्रद्युम्न की हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुए बस कंडक्टर अशोक को बुधवार को जेल से बरी किया गया। 75 दिन जेल में रहने के बाद जब वह जेल से बाहर निकला तो वह काफी बीमार और परेशान दिख रहा था।

अशोक  ने मीडिया को बताया कि जेल में उसे पुलिस हिरासत के दौरान बहुत टॉर्चर किया गया जिसे सोचते ही उनकी रूह कांप जाती है। अशोक ने बताया कि पुलिस ने उन्हें इंजेक्शन और करेंट के जरिए काफी टॉर्चर किया गया जिसे अब वो सब सोचते हुए उनकी रूह कांप उठती है और साथ ही यह भी कहते है कि जीते जी मैंने नरक भोग लिया।

यह भी पढ़े :- शशि थरूर ने ट्वीट कर उड़ाया था मानुषी का मजाक, मानुषी ने दिया करारा जवाब सुनकर खुश हो जाएगा दिल

अशोक की पत्नी ममता ने भी यह बताया कि पुलिस अशोक को उल्टा लटकाकर माराती थी और गुनाह स्वीकार करने के लिए नशा भी दिया गया।  उन्होंने यह भी कहा कि सीबीआई जांच पूरी कर दोषी को सजा देगी और इस केस में अशोक के खिलाफ भी सीबीआई को कार्रवाई भी करनी चाहिए। वह बाहर आ गए जिसके लिए वह भगवान व मीडिया को धन्यवाद देती हैं। पति के घर लौटने पर जितनी खुशी उन्हें है, उतना ही दुःख प्रद्युम्न के मर्डर पर भी है।

इस हत्याकांड के मामले में सवालों के बिच गुरुग्राम की पुलिस अशोक के जेल से बाहर आने से बुरी तरह फंस गई है और उनकी नींद भी उड़ गई है। जिस पर पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने कहा है कि प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच की जा रही है। जिन लोगो ने इस मामले की जांच गलत  प्रकार से की है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस आयुक्त अपनी सफाई पेश कर रही है।

Share this on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *