शत्रुघ्न सिन्हा के आशियाने पर लगी बुरी नजर, सरकार ने चलाया बुलडोजर, जानें क्‍या है वजह

बॉलीवुड की काफी जानी मानी हस्ती शत्रुघ्न सिन्हा को हम सभी जानते है, अपने समय में यह भी काफी लोकप्रिय अभिनेता रहे है और अपने अभिनय से काफी लोगो के दिल जीते है। इन्होने बॉलीवुड को कई ऐसे फ़िल्में दी, जो बॉलीवुड जगत के लिए यादगार बन गई। वर्तमान में यह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य भी है।

जहाँ इन्होने अपने अभिनय के माध्यम से करोड़ो लोगो का दिल जीता तो वहीँ इनकी बेटी सोनाक्षी सिन्हा ने भी बॉलीवुड में कदम रखकर अपने पिता की तरह ही अपने अदाकारी से कई दर्शको का दिल जीता। ऐसे में आज हम आपको शत्रुघ्न सिन्हा से जुडी एक ऐसी खबर बताएँगे, जिससे जानने के बाद आपको भी बहुत बड़ा झटका लगेगा। जी हाँ, आज जो हम आपको खबर बाटने जा रहे है, उसके अनुसार शत्रुघ्न सिन्हा के घर पर हाल ही में बुल्डोजर चलवा दिया गया है।

तो चलिए आपको बताते है क्या है पूरा मामला?

सूत्रों की माने तो यह बताया जा रहा है कि शत्रुघ्न सिन्हा के जुहू में बने बंगले के अवैध ढांचे पर बीएमसी ने बुल्डोजर चला दिया है। हाल ही में आई इस जानकारी के अनुसार यह बताया जा रहा है कि सोमवार को बीएमसी ने शत्रुघ्न सिन्हा के जुहू स्थित आठ मंजिला बंगले के अवैध ढांचे को गिरा दिया है। आपको हम यह भी बता दे कि उस समय शत्रुघ्न सिन्हा उस घर में मौजूद थे।

यह भी पढ़े :-लोमड़ी से भी ज्यादा चालाक होेते हैं इस राशि वाले जातक, बेवकूफ बनाना तो इनके बाएँ हाथ का है खेल

यह पहला ऐसा मामला नहीं है, अभी कुछ समय पहले ही क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। जहाँ उनके अवैध घर को भी बीएमसी ने बुल्डोजर चलवा दिया था। आपको यह यह भी बता दे कि शत्रुघ्न सिन्हा के इस घर का नाम ‘रामायण’ है और वो यहाँ सोनाक्षी और अपने पूरे परिवार के साथ यहाँ रहते हैं।

यह भी पढ़े :-शादी के कुछ ही दिन बाद विराट कोहली ने कुछ इस तरह से तोड़ दिया अनुष्‍का व अपने फैंस का दिल

इस मामले अधिकारियों का कहना है कि शत्रुघ्न सिन्हा के घर में छत पर एक टॉयलेट, एक ऑफिस और एक पूजा घर का निर्माण अवैध स्थान पर हुआ था। ऐसे में हमने पूजा घर को छोड़कर बाकी अवैध ढांचों को गिरा दिया। इसके साथ ही साथ हमनें पूजा घर में रखे मंदिर को दूसरे स्थान पर शिफ्ट करने और पूजा कमरे को हटाने के लिए भी कहा है।

इस पुरे मामले में जब शत्रुघ्न सिन्हा से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि सरकार घर के अंदर टॉयलेट निर्माण को बढ़ावा दे रही थी इसलिए हमने छत पर एक शौचालय निर्माण कराया ताकि बिल्डिंग में काम करने वाले लोग उसे इस्तेमाल में ला सके। मुझे बीएमसी द्वारा इसको हटाये जाने से कोई आपत्ति नहीं है। पूजा घर को फिलहाल एक अस्थायी जगह शिफ्ट कर दिया गया है और हम इसके लिए स्थायी जगह  ढूंढ रहे हैं। मैं अधिकारियों को उनके काम में बिना कोई बाधा डाले उनका समर्थन कर रहा हूँ।
Share this on

Leave a Reply