इन 5 जगहों पर ऑनसाइट म्यूज़ियम बनवाएगी मोदी सरकार, जानें कौन से शहर हुए शामिल

अभी हाल ही में देश का बजट पेश किया गया जिसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारणन ने ऐलान करते हुए पाचं
 
इन 5 जगहों पर ऑनसाइट म्यूज़ियम बनवाएगी मोदी सरकार, जानें कौन से शहर हुए शामिल

अभी हाल ही में देश का बजट पेश किया गया जिसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारणन ने ऐलान करते हुए पाचं पुरातात्विक स्थलों का निर्माण करने की घोषणा की है। देश में कहां कहां बनेंगे यह पांचों स्थल आइए आपको बताते हैं। इन पांचों जगहों पर ऑन-साइट म्यूजियम बनाए जाएंगे। पेश किए गए बजट में निर्मला सीतारमणन ने इसकी घोषणा कर जानकारी दी थी। हालांकि इनका निर्माण कब शुरू होगा अभी इस बात पर कोई चर्चा नहीं है।

इन जगहों पर बनेगा ऑनसाइट म्यूज़ियम

इन 5 जगहों पर ऑनसाइट म्यूज़ियम बनवाएगी मोदी सरकार, जानें कौन से शहर हुए शामिल

राखीगढ़ी, हरियाणा

राखीगढ़ी हरियाणा के हिसार जिले में लगभग 6500 ईसा पूर्व की सिंधु घाटी सभ्यता का स्थान हैं। यहीं पर पुरातत्विक स्थल बनाने की याजोन है। यहां पर खुदाई से मिले कंकालों की कार्बन डेटिंग से पता चला है कि ये प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता से संबंधित हैं।

हस्तिनापुर, उत्तर प्रदेश

मेरठ जिले के अंदर
हस्तिनापुर गंगा नहर के पास है। बता दें कि इसका संबंध महाभारत काल से जुड़ा हुआ है। महाभारत भी हस्तिनापुर की चर्चा है। पुरातत्व विभाग हस्तिनापुर की स्थिति और स्मृति को ईसा से एक हजार वर्ष पूर्व की मानता है।

शिवसागर, असम

असम राज्य में शिवसागर एक जिला है जोकि राज्य की राजधानी दिसपुर से लगभग 350 किमी दूर है। लेकिन अब यहां पर पुरातत्व स्थल बनेगा जो कई महत्वपूर्ण खोज करेगा।

यह भी पढ़ें : ये हैं भारत के 5 सबसे महंगे वकील, जानें कौन है पहले नंबर पर ?

इन 5 जगहों पर ऑनसाइट म्यूज़ियम बनवाएगी मोदी सरकार, जानें कौन से शहर हुए शामिल

धोलावीरा, गुजरात

गुजरात राज्य के धोलावीरा को भारत में स्थित दो हड़प्पा शहरों में से दूसरा शहर का दर्जा प्राप्त है। माना जाता है कि 1800 ईसा पूर्व से 3000 ईसा पूर्व के बीच यह बसा था।. इस पुरातात्विक साइट का सबसे पहली बार पता साल 1967 में चला था।

आदिचनल्लूर, तमिलनाडु

आदिचनल्लूर तमिलनाडु राज्य के तूतुकुड़ी जिले में स्थित है। यहां से लिखित इतिहास से पहले के दौर की कई चीजें पुरातत्व विभाग को मिली हैं। अब और बारीकी से यहां की खोज करने के उद्देश्य से यहां पर भी पुरातत्व विभाग का निर्माण किया जाएगा।

From around the web