नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी, सारी रात हुई जमकर मस्ती

हर वर्ष नया साल आता है और हम पुराने साल को अलविदा कह देते हैं, नए साल का स्वागत हम जश्न मना कर करते हैं, पार्टी, मस्ती और धमाल की धूम दुनिया के कोने कोने में रहती है। दुनिया के तमाम गांव, शहर सभी नए वर्ष के स्वागत के लिए बहुत  उत्साह के साथ जश्न के रंग से तर रहते हैं और अपने मस्त मौला अंदाज के लिए मशहूर अल्हड़ों का शहर काशी, प्रत्येक त्यौहार को बड़े धूमधाम के साथ मनाता है और जब बात नए साल की हो तो काशी यानी की वाराणसी कैसे पीछे रह सकता है।

नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी

नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी

दुनिया भर में अपने मस्त मौला अंदाज के लिए काशी और काशीवासियों को जाना जाता है, तो आइए जानते हैं कि नए वर्ष के लिए काशी में किस तरह से स्वागत किया। काशी में एक तरफ घाट हैं तो दूसरी तरफ होटल, मॉल्स भी हैं। काशी वासियों ने नए वर्ष के जश्न मनाने की तैयारी पहले से कर रखी थी और जैसे ही रात 12 बजे हर किसी का उत्साह बस अपने चरम पर था। नव वर्ष के आगमन की खुशी और उत्साह में पूरी तारा से सराबोर काशीवासीयों ने पहले से ही इसकी तैयारी कर रखी थी। शहर में मौजूद सभी होटल चमकते झालरों और लाइट से जगमग दिखे।

नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी

साथ ही साथ सभी होटलों, क्लब और मॉल में सेलिब्रेशन के धूम की तैयारी पहले से ही कर दी गयी थी। मतलब आप कह सकते हैं की नाय साल के स्वागत में काशी की जनता कोई कसर नही रखे हुए थी। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि नए वर्ष की तैयारी में तोहफों से सभी दुकाने सजी हुई है और ग्राहकों के लिए नए वर्ष के अवसर पर छुट ने इसमें रंग डाल दिया है। गिफ्ट शॉप हो या ऑनलाइन बाजार सभी नए वर्ष के जश्न की तैयारी में व्यस्त है शहर के सभी होटल डिस्को क्लब में डीजे नाइट और जश्न की धूम रहेगी 31 दिसंबर वर्ष का अंतिम दिन होता है वही नए वर्ष का स्वागत भी इसी दिन से शुरू हो जाता है जिसके जश्न के लिए शहर में तमाम पार्टी नाइट लाइफ का आयोजन किया गया था और  जश्न में हर वो लोग शामिल हुए जिसके लिए उन्होने पहले से तैयारी कर रखी थी।

नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी

छावनी क्षेत्र में स्थित होटल सूर्या में भी नए वर्ष का बेहतरीन स्वागत किया गया, वहीं दूसरी तरफ न्यू ईयर थ्रो डाउन का जश्न कपल और लेडीज के लिए तैयार था जहां  80 के दशक के डिस्को पर एक बार फिर से रमाडा प्लाजा काशीवासियों को थिरकने को मजबूर कर दिया। फिर क्या था नए साल के जश्न की रात दुगनी लंबी हो गई थी और लोगों की मस्ती और धूम धड़का अपने चरम पर। वैसे भी 31 दिसंबर वर्ष का अंतिम दिन होता है और 31 की रात को डी कैफे, डीजे नाइट, डीजे स्पार्क्स, डीजे रॉक आदि का भी बेहतर प्रबंद हुआ था ताकि लोगों की मस्ती में कहीं से भी कोई कमी ना आने पाये।

नए साल के जश्न में कुछ इस तरह डूबी काशी

काशी में नए साल का स्वागत जहां कुछ लोगों ने होटल और माल में डीजे और डांस आदि कर के मनाया वहीं बहुत से लोगों ने इस आखरी दिन और नाय वर्ष के पहले दिन गंगा किनारे और सारनाथ, बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी के विश्वनाथ मंदिर तथा कई लोगों ने गंगा उस पार रामनगर के किले में अपने परिवार के संग पिकनिक तथा घूम कर मनाया। वहीं होटल ग्रेपवाइन रामनगर में न्यू ईयर में रॉक स्टार मल्लिका ने भी लोगों के साथ धूम मचाई और नए साल का काफी जोरदार स्वागत किया।

Share this on