इस नवरात्रि पर माता रानी की कृपा से इन 5 राशि वालों को मिलेगा कर्ज से छुटकारा, जानें कौन सी है वो राशि

नवरात्रि साल में दो बार आती है पहली चैत्र नवरात्रि और दूसरी शारदीय नवरात्रि। इसके अलावा आषाढ़ और माघ मास के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाले दो गुप्त नवरात्रि पर भी मां दुर्गा की विशेष पूजा अर्चना की जाती हैं। ज्योतिष की दृष्टि से चैत्र नवरात्रि विशेष महत्व है। इस वर्ष चैत्र नवरात्र की शुरुआत 18 मार्च (रविवार) से हो रही है और इस नवरात्री पर एक विशेष संयोग भी बन रहा है जो 5 राशियों के लिए काफी फलदायी है।

मेष राशि

इस नवरात्रि महासंयोग बन रहा है। इस नवरात्रि विशेष तौर पर आपके पुराने कर्ज को चुकाने में सफल होंगे। मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी। जिसके कारण आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी। आर्थिक स्थिति लगातार मजबूत होगी।

सिंह राशि

इस नवरात्रि मां दुर्गा की कृपा आपके ऊपर सबसे अधिक रहेगी विशेष। परिवार की आर्थिक स्थिति को मजबूती प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। जिसमें आपको सफलता मिलेगी। आप के मान सम्मान और प्रतिष्ठा में लगातार वृद्धि होगी। आने वाला समय आपके लिए सबसे अच्छा होगा।

यह भी पढ़े : नवरात्री विशेष: इन नौ दिनों के लिए बना है खास रंग, उसी अनुसार वस्त्र धारण कर करें मां की पूजा

कन्या राशि

इस नवरात्रि सुबह सुबह उठकर सबसे पहले मां दुर्गा का स्मरण करने से आपके सभी कष्ट दूर होंगे। पुराने कई वर्षों से अटके हुए सरकारी काम तेजी से बनेंगे। क्रोध पर आप को नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। क्रोध में आकर लिए गए किसी भी प्रकार के फैसले आपको हानि पहुंचा सकते हैं।

वृश्चिक राशि

महालक्ष्मी की दया दृष्टि आप पर बनी रहेगी। आर्थिक स्थिति तेजी से मजबूत होगी। कई वर्षों से चली आ रही कमजोर आर्थिक स्थिति को मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका अदा करेंगे। इस नवरात्रि आप अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को मजबूती प्रदान करने में अहम भूमिका निभाएंगे परिवार के लोगों को आप पर गर्व होगा आप कुछ ऐसा कार्य कर सकते हैं माता रानी की कृपा से आप समाज में अपनी अलग पहचान बनाने में सफल होंगे।

मकर राशि

महालक्ष्मी की दया दृष्टि आप पर बनी रहेगी मदिरापान करने वाले दोस्तों का साथ कुछ समय के लिए छोड़ दें तो बेहतर होगा। समाज में आप की अलग पहचान बनेगी। पुराने कर्ज चुकाने के लिए किए गए प्रयास सफल होंगे। मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी।

Share this on

Leave a Reply