जि‍स मंदिर में शिव-पार्वती ने लिए थें सात फेरे, वहीं होगी आकाश व श्लोका की शादी

अभी हाल ही में देश के सबसे धनी उद्योगपति मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश और हीरा कारोबारी रसेल मेहता की छोटी बेटी श्लोका की इंगेजमेंट हुयी थी| अब दोनों की शादी देवभूमि उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के मशहूर त्रियुगी नारायण मंदिर में हो सकती हैं। अभी कुछ दिनों पहले ही रिलायंस कंपनी के अधिकारियों की एक टीम ने मंदिर और यहां तैयार हो रहे वेडिंग डेस्टिनेशन की जानकारी जुटाई थी और दूसरी ओर सरकार भी इस मौके का फायदा उठाना चाहती हैं क्योंकि यहां देश के बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश के वेडिंग होने से इस जगह की काफी अच्छी ब्रांडिंग होगी|

इस मंदिर के बारे में मान्यता है कि यहां पर शादी करने वाले जोड़े की शादीशुदा जिंदगी संवर जाती है। यह मंदिर इसलिए भी खास हैं कि क्योंकि इसी मंदिर में भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था और आज भी इनकी शादी की निशानियां यहां मौजूद हैं। इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इसमें एक ज्वाला पिछले तीन युगों से जल रही है और इसी ज्वाला को साक्षी मानकर भगवान शिव और पार्वती ने सात फेरे लिए थे|

यह भी पढ़ें : सावन का महिना शुरू होते ही इन 3 राशि वालों पर सबसे ज्यादा मेहरबान होंगे भगवान शिव, मिलेगा सौभाग्य

इस मंदिर में श्रद्धालु प्रसाद के रूप में लकड़ियां चढ़ाते हैं। इसके साथ ही इस पवित्र अग्नि कुंड की राख अपने घर ले जाते हैं। इस राख़ की यह मान्यता हैं कि यह वैवाहिक जीवन में आने वाली सभी समस्याओं को दूर करती है। कुछ दिनों पहले ही त्रिवेंद्र की सरकार ने इस मंदिर के ऐतिहासिक महत्व को ध्यान में रखते हुए इस स्थान को वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने का फैसला लिया हैं।

इस मंदिर के वेडिंग डेस्टिनेशन बनने से इसको देश-विदेश में पहचान मिलेगी। जिससे की पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा| इसलिए अब मंदिर के आस-पास सभी सुविधाओं को ध्यान में रख कर इसे विकसित किया जाएगा| पता चला हैं की इस मंदिर के वेडिंग डेस्टिनेशन बनने के बाद सबसे पहला शादी का आयोजन अंबानी परिवार के बाते का होगा।

इसकी देखरेख मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार केएस पंवार कर रहे हैं। दरअसल उत्तराखंड से अंबानी परिवार का लगाव पुराना है। मुकेश अंबानी यहां चार धाम के दर्शन के लिए अक्सर आते हैं। मुकेश अंबानी भले ही देश के सबसे अमीर व्यक्ति हैं लेकिन वे धर्म-कर्म आदि में विशेष रुचि रखते हैं|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on

Leave a Reply