10 साल बाद धोनी ने किया बड़ा खुलासा, कैसे मिली थी 2007 में कप्तानी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जिन्होंने अपने नाम कई रिकॉर्ड कर रखे है और भारतीय टीम के लिए काफी सफल कप्तान भी रहे है। 10 सालो के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने एक बडा खुलासा किया जिसमे उन्होंने यह बताया की उन्हें किस प्रकार भारतीय टीम की कमान सौपी गयी।

आपको हम बता दे कि महेंद्र सिंह धोनी अब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं। लेकिन धोनी ने कुल 90 टेस्ट मैचों में 30.09 की औसत से 4876 रन बनाए है। जिनमें उन्होंने 6 शतक और 33 अर्द्धशतक बनाये है। इसके अलावा धोनी ने 309 वनडे में 51.71 की औसत से 9826 रन और साथ ही 83 टी-20 मैचो में 1281 रन बना चुके हैं। धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने टी-20 वर्ल्डकप भी जीता है।

यह भी पढ़े: आईएसएल-4 में केरल और कोलकाता के बीच मुकाबला गोलरहित ड्रॉ

महेंद्र सिंह धोनी ने एक अग्रेंजी वेब पोर्टल को इंटव्यू में बताया कि उन्हें साल 2007 में टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया तब धोनी को यह मालूम नही था की उन्हें कप्तान बनाने की बात चल रही है। तब वे उस चर्चा में भी मौजूद नहीं थे। धोनी ने बताया कि खेल के प्रति उनके समझ और इमानदारी को देखते हुए उन्हें भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया।

उन्होंने यह भी बताया कि उस वक्त धोनी टीम के सबसे युवा खिलाड़ियों में से एक थे। जब उनके सीनियर खिलाड़ी उनसे सलाह मांगते थे तो धोनी किसी डर के बिना अपनी पूरी बात रखते थे। उस समय के दौरान धोनी ने टीम के सभी सदस्यों के साथ अच्छे संबंध बना लिए थे। शायद यही कारण था कि उन्हें कप्तानी सौपी गई।

महेंद्र सिंह धोनी ने यह भी बताया कि उनके क्रिकेट के केरियर में उन्हें ऐसे बहुत से पल मिले जो उनके लिए बेहद खास हैं जिन्हें वो सम्भाल कर रखना चाहते हैं। लेकिन सन् 2011 में वर्ल्डकप को जीतना उनके केरियर का सबसे ज्यादा यादगार लम्हा है।

Share this on

Leave a Reply