Tuesday, December 12

हो जाइए तैयार, बहुत जल्द बदलने वाला है आपका मोबाइल नंबर

देश मे जितनी तेजी से संचारक्रांति आ रही है उतनी ही तेज़ी से टेलिकॉम कंपनी भी आए दिन नए प्रयोग और सुविधाएं देती जा रही है। कई सारे छोटे छोटे बदलाव के बाद अब टेलीकॉम कंपनीयां एक बड़ा बदलाव लाने जा रही है। वर्षों से मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे लोगों के नंबर अब बदलने वाले हैं। बढ़ते उपभोक्ताओं को देखते हुए दस अंकों की सीरिज ही खत्म होने वाली है। फिर ऐसी स्थिति में 11 डिजीट करने पर विचार किया जा रहा है। जल्द ही मध्यप्रदेश के कुल 6 करोड़ 24 लाख 59 हजार 204 से अधिक मोबाइल उपभोक्ताओं के नंबर बदलने जाएंगे। इसका असर पूरे देश के नंबरों समेत मध्यप्रदेश के उपभोक्ताओं पर भी पढ़ेगा।

 

 

आकड़ों के माने तो फिलहाल 125 करोड़ की आबादी वाले देश में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 103 करोड़ के पार निकल गई है। इसके साथ ही 30 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन भी हैं।माना जा रहा है की 2016 के अंत तक मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या और बढ़ने की उम्मीद है। वहीं इंटरनेट कनेक्शन लेने वालों की संख्या अगले साल तक 50 करोड़ पार कर सकती है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के अनुसार मई में उपभोक्ताओं की संख्या 105.80 करोड़ हो गई थी जिसके बाद दूर संचार विभाग जल्द ही नई सीरिज शुरू करने पर विचार कर रहा है।

अनुमानतः मध्यप्रदेश में मोबाइल उपभोक्ता जैसे भारती एयरटेल के 13167350, रिलायंस के 10880742, वोडाफोन के 6915435, टाटा के 5105712, आइडिया के 21824953, एयरसेल के 20694 तथा बीएसएनएल के 4544318 उपभोगता जो नंबर बदल जाने से प्रभावित होंगे। नई सीरिज शुरू करने का जो निर्णय हो रहा है फिलहाल अभी तक तय नहीं हो पाया है कि नया नंबर किस सीरिज से शुरू होगा। ऐसा भी हो सकता है कि आपके मोबाइन के आगे या पीछे कोई अंक जोड़कर उसे 11 नंबरों की सीरिज में तब्दील कर दिया जाए।

जानकारो के मुताबिक कुछ ही दिन में 10 डिजिट वाले नंबरों में एक अंक पुराने मोबाइल नंबर के आगे या पीछे जोड़ना ही पड़ेगा। ऐसी स्थिति पूरे देशभर के नंबर के साथ होगी जिसके बाद हर मोबाइल नंबर बदल जाएंगे। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने बताया कि मई में फोन उपभोक्ताओं की संख्या घटकर 105.80 करोड़ पर आ गई, जो अप्रैल के अंत तक 105.92 करोड़ थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: