हिंदू कैलेंडर 2018: दिसंबर महीने में पड़ेंगे कई सारे व्रत और त्योहार, जानें इनकी तिथि और तारीख

इस साल का अंतिम महीना यानी कि दिसंबर की शुरूआत हो चुकी है। इस महीने में कई सारी तिथियां आने वाली हैं। लोग इन विशेष तिथियों पर व्रत उपवास करते हैं। ये बहुत पहले से चली आ रही एक परंपरा है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग इन तिथियों पर व्रत उपवास करते हैं उनकी सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं। तो चलिए जानते हैं उन तिथियों के बारे में जो कि इस महीने आने वाली हैं।

यह भी पढ़ें-31 दिसंबर के पहले कर ले हनुमान जी के ये उपाय, आने वाला साल खोलेगा तरक्की के रास्तें

3 दिसंबर – इस दिन उत्पन्ना एकादशी है। आज के दिन विष्णु भगवान के लिए व्रत उपवास किया जाता है । सालभर में कुल 26 एकादशियां आती हैं लेकिन उनमें उतपन्ना एकादशी का अपना एक अलग ही महत्व है।

6 दिसंबर – इस दिन अगहन मास की अमावस्या है। इस तिथि को श्राद्ध कर्म करना चाहिए । वैसे तो हर अमावस्या का खास महत्व होता है लेकिन अगहन मास को अमावस्या का महत्व और भी बढ़ जाता है। ये अमावस्या बहुत ही पुण्य फलदायी होता है।

7 दिसंबर – इस दिन स्नान दान करने वाली अमावस्या तिथि है। आज के दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करने की मान्यता है।

11 दिसंबर – इस दिन अंगारक विनायकी चतुर्थी है। इस तिथि में भगवान गणेश की पूजा होती है तथा इनके लिए व्रत उपवास करते हैं।

12 दिसंबर – आज के दिन विवाह पंचमी है। शास्त्रों के अनुसार त्रेता युग में इसी दिन भगवान श्रीराम और माता सीता का विवाह हुआ था।

18 दिसंबर – इस तिथि को मोक्षदा एकादशी के रूप में मनाते हैं। आज ही के दिन भगवान विष्णु को खुश करने के लिए विशेष रूप से उपाय किए जाते हैं।

22 दिसंबर – आज के दिन दत्तात्रेय की जयंती मनाई जाती है। इसे दत्त पूर्णिमा भी कहा जाता है।

25 दिसंबर – इस दिन क्रिसमस का त्योहार है। इसके साथ ही अंगारक गणेश चतुर्थी का व्रत भी है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन चंद्रमा के दर्शन कर उनकी पूजा अर्चना करनी चाहिए।

Share this on