इस सवाल का जवाब देकर 17 साल बाद भारत की मानुषी छिल्लर ने जीत लिया Miss World का खिताब

जिंदगी में कुछ पाना हो तो खुद पर ऐतबार रखना सोच पक्की और क़दमों में रफ़्तार रखना कामयाबी मिल जाएगी एक दिन निश्चित ही तुम्हें बस खुद को आगे बढ़ने के लिए तैयार रखना । कामयाब होना किसका ख्वाब नहीं होता? आज के समय में हर इंसान कामयाब होना चाहता है। लेकिन कामयाबी आसानी से नहीं मिलती। उसके लिए बहुत मेहनत के साथ ही एक सही योजना का होना आवश्यक है। और साथ में जरूरी है कामयाबी हासिल करने के लिए प्रेरित होना। प्रेरणा एक ऐसी चीज है जो इन्सान से कुछ भी करवा सकती है।

इसी बात की उदाहरण बनी है हरियाणा की मानुषी छिल्लर मानूषी  बचपन से ही अपने मन में मिस वर्ल्ड बनने का अरमान सजोयें हुई थी और इसके लिए उन्होंने अपनी पढाई के साथ साथ अपने लुक्स बॉडी लैंग्वेज के लिए कड़ी मेहनत की है जिसकी बदौलत आज वो सफलता के शिखर पे है |

मानुषी छिल्लर ने चीन के सान्या शहर एरेनम में रंगारंग आयोजन के दौरान 107 देशों की सुंदरियों को पछाड़ते हुए मिस वर्ल्ड का ताज अपने नाम किया है । आपको बता दे की मानुषी से पहले ऐश्वर्या राय,डायना हेडेन और प्रियंका चोपड़ा  समेत अभी तक भारत की 6 सुंदरियों ने मिस वर्ल्ड का ख़िताब जीत चुकी है आखिरी बार सन 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने इस खिताब को भारत के नाम किया था और अब  हरियाणा की मानुषी छिल्लर ने शनिवार को मिस वर्ल्ड खिताब जीतकर भारत की 17 साल का इंतजार खत्म किया। और अंतररास्ट्रीय स्तर पर प्रदेश का गौरव बढाया है |

यह भी पढ़ें: भारतीय सुंदरी के सिर सजा का Miss World का ताज, जानें मानुषी से जुड़ी कुछ खास बातें

मानुषी का परिवार मूल रूप से बहादुरगढ़ के बामडौली गांव का रहने वाला है मानुषी के पिता मित्रबसु पेशे से डॉक्टर हैं और मां नीलम इब्मास कालेज में बायोकेमिस्ट्री की प्रोफेसर हैं। मानुषी खुद भी मेडिकल की स्टूडेंट हैं| मानुषी की प्रांरभिक पढ़ाई दिल्ली के संत थॉमस स्कूल में हुई। इसके बाद मानुषी ने भगत फूल सिंह गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज फॉर वीमेन सोनीपत में अपनी पढ़ाई की और वो कार्डियक सर्जन बनना चाहती है|

इस कॉन्टेस्ट के फाइनल राउंड में मानुषी से एक प्रश्न पूछा गया था वो इस दुनिया में कौन से प्रोफेशन को सबसे अधिक वेतन पाने का हकदार मानती है मतलब की किस प्रोफेशन की सैलरी सबसे अधिक होनी चाहिए और क्यों?? इस प्रश्न का जवाब मानुषी ने इतनी खूबसूरती से दिया जो सभी को प्रभावित कर दिया उनका जवाब था “एक माँ” उनके हिसाब से एक मां को सबसे ज्यादा इज्जत मिलनी चाहिए और जहां तक सैलरी की बात है, तो इसका मतलब रुपयों से नहीं बल्कि सम्मान और प्यार से है|

मानुषी की इस  शानदार उपलब्धि  के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री  ने उन्हें बधाई दी है और उन्होंने कहा है मानुषी की इस सफलता से भारत की सभी बेटियों को प्रेरणा मिली है |मिस वर्ल्ड बनने से पहले मानुषी मिस फेमिना इंडिया का ख़िताब भी जीत चुकी है |
Share this on

Leave a Reply