Tuesday, January 16

राहू और केतु का हो रहा है महापरिवर्तन, इन राशियों पर मंडरा रहा है खतरा

हमारे ज्योतिष में ग्रहों की चालो के द्वारा हमारे बारे में सब कुछ पता लगाया जा सकता है। हमारे जीवन में होने वाली सभी घटनाएँ इन्हीं ग्रहों की चाल पर निर्भर करती है। हमारा आने वाला भविष्य कैसा होगा? हमे किससे विवाह करनी चाहिए? अथवा किससे नही करनी चाहिए? कब हमें धन लाभ होगा? और कब हमे बहुत से कष्टों का समना करना होगा? आदि इस तरह के सारे प्रश्नों का उत्तर ज्योतिष में होता है, जो ग्रहों की दशा देखकर बताई जाती है।

ज्योतिष में इन सभी ग्रहों में से दो ऐसे ग्रह है, जो शुभ नहीं माने गया है। ये चाहे किसी भी राशि में प्रवेश करें उस राशि के जातकों को काफी ज्यादा कष्टों का सामना करना ही पढता है और इस बार भी ये दोनों ग्रह 24 दिसम्बर को इन दो राशियों को काफी प्रभावित करने वाली है तो चलिए आपको बताते है कौन है वो दो राशियाँ?

हमारे ज्योतिष में राहू और केतु दो ऐसे ग्रह है जो काफी अशुभ माने जाते है। ये ग्रह जिस भी राशि में प्रवेश करते है उस राशि के जातकों के जीवन में काफी परेशानिया आती है। इनका प्रभाव भी लगभग एक से डेढ़ वर्ष तक बना रहता है क्योंकि ये ग्रह इतने समय के उपरांत ही राशि बदला करते है। आपको हम बता दे इस बार ये दोनों ग्रह 24 दिसम्बर को शाम 4 बजे दूसरी राशि में आगमन करने वाला है। राहु सिंह राशि को छोड़कर इस दिन कर्क राशि में प्रवेश कर रहा है और वहीँ केतु कुंभ राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश कर रहा है।

यह भी पढ़े : आपके नाम में ही छिपा होता है आपका भविष्‍य, जानें कैसे

कर्क राशि :

कर्क राशि के जातकों में राहू का गोचर जन्मराशि से हो रहा है, जिसके चलते घर में तनाव का माहौल रहेगा और काफी विवादों से भरा रहेगा, दाम्पत्य जीवन में भी काफी कष्टों का सामना करना पड़ेगा। ऐसे समय में आपको किसी भी नए व्यापार की शुरूवात नहीं करनी चाहिए। कर्क राशि में राहु का प्रवेश होने के कारण इस राशि के जातकों में धार्मिक कार्यों की ओर रुचि कम रहेगी। इस समय में आपकी एक समस्या का जहाँ अंत होगा तो वहीँ दूसरी नई परेशानियां सामने आएगी।

मकर राशि :

केतु कुम्भ राशि को छोड़कर मकर राशि के जातकों में प्रवेश कर रहा हैं, जिसका सबसे प्रभाव आपके जीवन साथी पर हो सकता है। व्यापार से सम्बंधित काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है  और  रिश्तों में काफी दरार पैदा हो सकती है।

नोट : इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *