प्रद्युमन ने अपनी हत्या से पहले मां को लिखी थी आखिरी चिट्ठी, जिसे पढ़कर भर आएंगी आखें

गुडगाँव के विख्यात रेयान इंटरनेशनल स्कूल में घाटी हृदय विदारक घटना के बाद जो हाल उस मासूम बच्चे की माँ का है वह बड़ा ही दर्दनाक है, सेकंड स्टैंडर्ड में पढ़ने वाले बच्चे के साथ भी ऐसी जघन्य घटना घाट सकती है इसका किसी ने भी अंदाज़ा नही लगाया था। आपको बता दे इस दर्दनाक घटना के बाद से सुमचा देश गम में डूबा है और हर माता-पिता अब अपने बच्चे के स्कूल की की हर रिपोर्ट रख रहे है। हालांकि प्रदुयम्र की हत्या के बाद आरोपी कंडक्टर पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है लेकिन फिर अभी उसके माता पिता सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, जिस बेदर्दी से उसकी स्कूल में हत्या की गई है उससे हर कोई हैरान है।

बता दे की इस घटना के बाद मासूम प्रद्युम्न की एक चिट्ठी सामने आ रही है जो उसने करीब एक साल पहले अपनी मां को लिखी थी।सात साल का प्रद्युम्न मां के हर अहसास को अपनी हर सांस के साथ समझता था तभी तो उसने अपने हाथों से अपनी मां के लिए कोरे कागज पर इन अहसासों को उकेरा था। उसने ये चिट्ठी तब लिखी थी जब उसे ठीक से लिखना भी नहीं आता था। नन्हे बच्चे ने इस चिट्ठी में अपनी टूटी फूटी हिन्दी में लिखकर जताया था कि वो अपनी मां से कितना ज्यादा प्यार करता है। इस चिट्ठी में प्रद्युम्न ने लिखा है, “आज मैं अपनी मां के बारे में बोलूंगा, मां तुम कितना काम करती हो।

इस खत को पढ़ कर उस मां पर क्या बीत रही होगी जिसका दिल अब भी यह मानने को तैयार नहीं है कि उसके साथ दिन भर शरारत करने वाला मासूम सा बच्चा जिसने कभी किसी का कुछ भी नहाई बिगड़ा अब इस दुनिया में नहीं है। अब रेह गयी है तो सिर्फ यह चिट्ठी और उसकीकुच तस्वीरें। ये खत उस बेटे की आखिरी यादों का कभी न भूलने वाला जरिया है। जिसे नौ महीने अपनी कोख में पाला और जन्म देने के बाद बीते सात साल से उसकी हर मुस्कान पर ये मां अपनी जान निसार करती थी।

बता दें शुक्रवार को प्रद्युम्न सुबह स्कूल के टॉयलेट में खून से लथपथ मिला था। स्कूल की तरफ से उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। बाद में पुलिस ने मामला दर्ज करके इस केस की छानबीन की तो स्कूल के बस कंडक्टर को मुख्य आरोपी बनाया गया है और उसने हत्या की बात स्वीकार भी कर ली है, फिलहाल आरोपी पुलिस की हिरासत में है।

Share this on

Leave a Reply