होली 2019: 14 मार्च से शुरू हो रहा है होलाष्टक, भूलकर भी 8 दिन तक ना करें ये काम

हिन्दू धर्म के मुताबिक होली के कुछ दिनों को अशुभ माना जाता हैं और होली के पहले आठ दिनों को होलाष्टक कहा जाता हैं| इस साल यानि होलाष्टक 2019 की शुरुआत 14 मार्च से शुरू हो जाएगी और यह 21 मार्च तक रहेगी| होलाष्टक की समाप्ती होलिका दहन के साथ ही समाप्त हो जाएगी| दरअसल होलाष्टक की इस अशुभ अवसर पर किसी भी तरह के शुभ कार्यों की मनाही होती हैं| ऐसी मान्यता हैं कि होलाष्टक के दिनों में कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता हैं और यदि किया भी जाता हैं तो वह कार्य कभी भी सफल नहीं होता हैं|

होलाष्टक को इसलिए माना जाता हैं अशुभ

हिन्दू धर्म के मुताबिक, राजा हिरण्यकश्यप अपने बेटे प्रह्लाद को नारायण की भक्ति में डूबा देखा तो वह क्रोधित हो गया और होली के पहले आठ दिनों तक कई प्रकार के कष्ट दिये| यही कारण हैं कि होली के आठ दिनों को अशुभ माना जाता हैं क्योंकि नारायण के भक्त प्रह्लाद को इन्हीं आठ दिनों में बहुत सारे कष्टों को झेलना पड़ा था|

होलाष्टक में क्या करे और क्या ना करे

(1) यदि आप भगवान की कृपा पाना चाहते हैं तो होलाष्टक में व्रत करे|

(2) यदि व्रत नहीं कर पा रहे हैं तो अपने इच्छानुसार दान करे, दान में आप वस्त्र, अनाज या फिर धन का दान कर सकते है|

(3) इस अशुभ समय में भूलकर भी शादी, गृह प्रवेश, निर्माण कार्य, नामकरण आधी शुभ कार्यों को ना करे, इसके साथ ही किसी नए कार्य की भी शुरुआत ना करे|

(4) ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक इन दिनों में जो भी कार्य किए जाते हैं वो कष्टकारी और पीड़ादायक होते हैं|

(5) यदि इन दिनों में विवाह किए भी जाते हैं तो भविष्य में संबंध विच्छेद, कलह आदि हो सकते हैं|

(6) इन दिनों में ग्रह अपने स्थानों में बदलाव करते हैं| इसलिए होलाष्टक के समय में कोई शुभ कार्य नहीं किया जाता हैं|

(7) होलाष्टक के दिनों में शुभ कार्य करने से व्यक्ति के जीवन में कष्ट, पीड़ाकर प्रवेश होता हैं|

यह भी पढ़ें : होली आने से पहले ही घर से हटा दें ये 6 चीजें, वरना हो सकते हैं कंगाल

(8) इन दिनों में यदि आप विवाह करते हैं तो जल्द ही आपके संबंध अपने जीवनसाथी के साथ टूट जाएंगे| इसलिए जहां तक संभव हो सके होलाष्टक में कोई भी शुभ कार्य ना करे|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on