Wednesday, December 13

ट्रेन के इन पांच नम्बरों में छिपी होती है ट्रेन की सारी जानकारी, जानें कैसे

आज संसार के लगभग सभी देशों में लोहे की पटरियों पर रेल गाडियां चलती हुई नज़र आती हैं। इनके द्धारा केवल मनुष्य ही एक स्थान से दुसरे स्थान तक नहीं जाता, बल्कि मनुष्य के जीवन में कम आने वाली हजारों वस्तुएं भी रेलगाड़ी द्धारा एक स्थान से दुसरे स्थान तक ले जाई  जाती हैं। आज रेलगाडियां मनुष्य की बहुत बड़ी सेवा कर रही है।

इसके मदद से हमारी यात्रा काफी सुगम हो गयी है, रेलगाड़ी से सफ़र हर कोई करता है कोई रोज करता है तो वही कोई कुछ समय के बाद करता है लेकिन हम लोगो में से ही कितने लोग ऐसे भी होगे जो रेलगाड़ी से रोज सफ़र तो करते है लेकिन उन्हें उसका नाम भी सही से पता नहीं होता। आज हम आपको रेलगाड़ी से ही जुडी एक जानकारी देना चाहेगे जिसके मदद से आप किसी भी ट्रेन के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकते है बस कुछ चीजे आपको याद रखनी होगी।

यह भी पढ़ें : आइएएस के इंटरव्यू में लड़की से पूछा गया ऐसा सवाल, जिसका जवाब सुन सन्न रह जायेंगे आप

 

आपने अगर कभी रेलगाड़ी के इंजन पर गौर किया होगा तो अपने देखा होगा की रेलगाड़ी के इंजन के सामने एक पांच अंको का कोड लिखा होता है जिसके बारे में हम सभी में से कुछ ही लोगो को पता होगा की इस कोड का मतलब क्या होता है। लेकिन हम आपको बताना चाहेगे की इसी पांच अंक के कोड में पूरी रेलगाड़ी की जानकारी छिपी होती है।

आइये जानते है इस कोड के बारे में

  • अगर आपके कोड का पहला अंक 0 है तो इसका मतलब है की ये एक स्पेशल ट्रेन है जो की किसी खास अवसर पर चलायी जाती है जैसे (समर, स्‍पेशल और हॉलीडे) आदि समय पर।
  • अगर कोई लम्बी दुरी की ट्रेन है तो उसका पहला अंक 1 होता है।
  • पहला अंक २ होने पर भी लम्बी दूरी का ही ही संकेत करता है।
  • अगर कोलकाता सब अर्बन की ट्रेन है तो पहला अंक 3 होगा।
  • पहला अंक 4 मतलब चेन्नई, नई दिल्ली, सिंकदराबाद और अन्य मेट्रोपॉलिटन शहर को दर्शाता है।
  • 5 नंबर कन्वेंशनल कोच वाली पैसेंजर ट्रेन के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है।
  • मेमू ट्रेन के लिए 6 का प्रयोग किया जाता है।
  • डूएमयू और रेलकार सर्विस के लिए 7 का इस्तेमाल होता है
  • 8 नंबर मौजूदा समय में आरक्षित स्थिति के बारे में बताता है।
  • मुंबई क्षेत्र की सब-अर्बन ट्रेन के बारे में बताने के लिए 9 का इस्तेमाल किया जाता है।

जब किसी ट्रेन के पहले लेटर 0, 1 और 2 से शुरू होते हैं तो बाकी के चार लेटर रेलवे जोन और डिजिवन को दर्शाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: