इंडियन क्रिकेट टीम को मिला करिश्‍माई ऑलराउंडर, गेंदबाजी में इनके नाम है अनोखा रिकॉर्ड

रविवार को तमिलनाडु प्रीमियर लीग में वीबी कांची वीरंस और डिंडिगुल ड्रैगन्स के बीच खेले गए मैच में एक खिलाड़ी ने कुछ ऐसा कारनामा कर दिया, जिसे देखकर सभी भौचक्के रह गए। वीबी कांची वीरंस की ओर से खेलते हुए मोकित हरीहरन ने एक ही मैच में दोंनों हाथों से गेंदबाज़ी करते हुए सभी को चौंका दिया।

दोनों हाथों से की गेंदबाज़ी

बता दें कि तमिलनाडु प्रीमियर लीग के एक मैच में स्पिन गेंदबाज़ मोकित हरिहरन ने दोनों हाथ से गेंदबाज़ी की। उन्होंने मैच में दाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के सामने बाएं हाथ से गेंदबाज़ी की जबकि बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों को उन्होंने दाएं हाथ से गेंदबाज़ी की। इस मैच में मोकित ने 4 ओवर में बिना कोई विकेट लिए 32 रन दिए। इसके साथ ही साथ हरिहरन ने बल्लेबाज़ी में कमाल दिखाते हुए 50 गेंदों में ताबड़तोड़ नाबाद 77 रनों की पारी भी खेली।

ज्ञात हो कि मोकित भारत के पहले ऐसे खिलाड़ी नहीं है जो दोनों हाथों से गेंदबाज़ी करने में सक्षम हैं। इनसे पहले विदर्भ के स्पिन गेंदबाज़ अक्षय कर्नेवर भी ये कमाल कर चुके हैं। पिछले साल जब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत दौरे पर आई थी, तब बोर्ड अध्यक्ष एकादश की तरफ से खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में अक्षय कर्नेवर ने एक ही ओवर में दोनों हाथों से गेंदबाजी करने का कमाल किया था।

क्रिकेट के नियम

क्रिकेट के नियमों के मुताबिक कोई गेंदबाज अंपायर या बल्लेबाज को बिना बताए एक ही ओवर में लेग स्पिन, ऑफ स्पिन या फिर तेज गेंदबाजी कर सकता है। हां, यदि गेंदबाज एक ही ओवर में दोनों हाथों से गेंदबाजी करता है तो उसे पहले अंपायर को बताना होगा, वरना वह नो-बॉल मानी जाएगी।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी यह कमाल हो चुका है

क्रिकेट के इतिहास में इससे पहले भी कई गेंदबाजों ने दोनों हाथों से गेंदबाज़ी की है। हालांकि क्रिकेट के इतिहास में ऐसे कमाल बहुत ही कम देखने को मिले हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऐसा सिर्फ एक-दो बार देखने को मिला है जब गेंदबाज ने दोनों हाथों से गेंदबाज़ी की हो।

( लगातार youthtrend के खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करें )
Share this on

Leave a Reply