आपकी थोड़ी सी समझदारी, समय सेे पहले आपको दिला सकती हैै होम लोन के भारी बोझ सेे राहत

हर व्यक्ति का सपना होता है कि उसका अपना एक घर हो। वह अपने खुद के घर में रहे। लेकिन आम आदमी को अपने रोज़ के खर्चे भी महंगाई की वजह से मुश्किल लगते है। लिमिटेड इनकम की वजह से रोज़ के खर्चे निकालने के बाद बहुत कम ही सेव कर पाते है। ऐसे में उनका सपना अधूरा रह जाता है लेकिन भारत सरकार और भारतीय बैंको ने ऐसे लिमिटेड इनकम वाले परिवारों का घर बनाने का सपना साकार करने वे लिए होम लोन योजना चला रही है।

पार्ट पेमेंट की ताकत :-

होम लोन को चुकाने के क्रम में ईएमआई से ज्यादा रकम जमा करने का इंतजार नहीं करें। थोड़े पैसे ही जमा कर ब्याज की ज्यादा रकम बचा सकते है। 9% की ब्याज की दर से 50 लाख रुपय का होम लोन 20 वर्ष के लिए 9 वर्ष 3 माह में चूका सकते है। अगर आप 12 वी० ईएमआई के बाद 3 लाख रु० और जमा करवा सकें।

ये भी पढ़े:- अब बिज़नेस आइडिया देकर आप भी पा सकते हैं 1 करोड़ तक का लोन, जानें क्या है पूरी प्रक्रिया

बचत की रकम का इस्तेमाल :-

बचत की गई रकम को घर खरीदने में खर्च न करके लोन के बाद उसे समय से पहले लोन चुकाने में इस्तेमाल करना चाहिए। अगर आप ऐसा नहीं भी करते है तो परेशान होने वाली बात नहीं है। पहले से कोई बचत किया हो तो उसका इस्तेमाल लोन को समय से पहले ख़त्म करने में कर सकते है

ईएमआई बढ़ाकर वक्त घटाए :-

अगर आपके पास पैसा नहीं बच पता तो भी आप लोन चूका सकते है। अगर 9% की व्याज दर से 20 वर्ष के लिए 50 लाख रू० के लोन पर हर साल 15% ज्यादा ईएमआई चुकाया जाए तो भी 97 वे महीने पूरा लोन चुकता हो जाएगा ऐसा एक फाउंडर ने बताया और एक दूसरे फाउंडर ने बताया की जब ब्याज दर उपर जाते तो अवधी बढ़ने नहीं दे बल्कि ईएमआई की रकम बढ़ा दें।

अगर व्याज दर घटे तो ईएमआई की रकम घटाने की जगह अवधि ही कम कर दे। इससे आप फास्ट लोन चुकता कर पाएंगे। टैक्स छूट पाने के लिए प्रीपेमेंट नहीं करना गलत दिशा में जाना है।

Share this on