आखिर कौन थी रानी पद्मावती, जानिए क्या था इनका इतिहास

‘पद्मावती‘ एक आगामी भारतीय ऐतिहासिक फिल्म है जिसका निर्देशन संजय लीला  भंसाली ने किया है |फ़िल्म में मुख्य भूमिका में दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह हैं। यह फ़िल्म 1 दिसम्बर 2017 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।इस फ़िल्म में चित्तौड़ की प्रसिद्द राजपूत रानी पद्मिनी का वर्णन किया गया है जो रावल रतन सिंह की पत्नी थीं | इस फिल्म में दीपिका पादुकोण को पद्मावती का किरदार में पेश किया गया है |

आज हम आपको अपनी इस पोस्ट में बताएँगे की आखिर कौन थी रानी पद्मावती? और क्या है उनका इतिहास??

यह भी पढ़ें: रिलीज़ हुआ ‘पद्मावती’ का नया गाना, दीपिका और शाहीद की दिखी शाही केमिस्ट्री

रानी पद्मावती के बारे में इतिहास बहुत कुछ बयां करता है |रानी पद्मावती भारत के चित्तौड़ की 13 वी -14 वी सदी की रानी थी | इनकी कहानी सबसे पहले कवि मलिक मुहम्‍मद जायसी की वजह से 15-16वीं सदी में सुर्खियों में आया जो की ग्रंथ ‘पद्मावत’ में प्रकाशित किया गया |इनके पिता का नाम  गंधर्व  सेन और माता का नाम  रानी चंपावती  था |

रानी पद्मावती चित्‍तौड़ की रानी थीं और पद्मावती चित्तौड़  के राजा रतनसिंह के साथ ब्याही गई थी।कहा जाता है की रानी इतनी ख़ूबसूरत थी की जब वो पानी पीती थी तब उनके गले में पानी नजर आता था और जब पान खाती थी तब उनके गले में लाल रंग उतर जाता था |

रानी पद्मिनी बहुत खूबसूरत थी और उनकी खूबसूरती पर  दिल्ली के शासक अलाउद्दीन खिजली  की नजर पड़ गई. अलाउद्दीन हर कीमत पर रानी पद्मिनी को हासिल करना चाहते थे | इसलिए सन  1303 इन्होने चित्तौड़ पर हमला कर दिया था  |

इस युद्ध में  राजपूतों की हार हुई और राजा रावल रतन सिंह मारे गये जिसकी वजह से रानी विधवा हो गयी और  यु्द्ध में विजय हासिल करने के बाद अलाउद्दीन खिलजी  बहुत खुश था क्योंकि उसे लगा अब वो रानी से विवाह कर सकता है लेकिन जब महल में पहुंचा तो उसने देखा की   रानी पद्मावती समेत महल की अन्य दसिया आत्मदाह कर चुकी थी | उस युग में ये परंपरा थी की पति के मृत्यु के बाद पत्नी आत्मदाह कर लेती थी |

 

रानी पद्मिनी ने आग में कूदकर जान दे दी, लेकिन अपनी आन-बान पर आँच नहीं आने दी।रानी पद्मावती के साहस और बलिदान की गौरवगाथा इतिहास में आज भी अमर है  और सदियों तक आने वाली पीढ़ी को गौरवपूर्ण आत्मबलिदान की प्रेरणा प्रदान करती  रहेगी |
Share this on

Leave a Reply