Saturday, December 16

Health & Fitness

मात्र एक रात में इस उपाय को अपनाकर दूर भगाए पिंपल

मात्र एक रात में इस उपाय को अपनाकर दूर भगाए पिंपल

Health & Fitness
पिंपल से लड़ने के लिए बेशक हम तमाम तरीके के प्रोडक्ट लगाते हैं, डॉक्टर के पास भी जाते हैं। लेकिन फिर भी पिंपल की समस्या अक्सर ज्यों की त्यों रहती है। जबकि हकीकत यह है कि पिंपल दूर भगाने के लिए प्राकृतिक और आसान तरीके मौजूद हैं। आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि प्राकृतिक तरीकों से एक रात में ही पिंपल का सफाया किया जा सकता है। आइये इन तरीकों से रूबरू होते हैं। 1. बर्फ थैरेपी अगर आपके घर में बर्फ का एक टुकड़ा मौजूद है तो पिम्पल होने पर दवाई लगाना और उसके हटने का इंतजार करना बेवकूफी है। जी, हां! बर्फ असल में पिम्पल की लालिमा को कम करता है, सूजन कम होती और जलन में भी कमी आती है। वास्तव में बर्फ लगाने से रक्तसंचार में वृद्धि होती है और रोमछिद्रों को भी प्रभावित करती है। बर्फ के जरिये पिम्पल के इर्द-गिर्द मौजूद गंदगी और तेल पूरी तरह निकल जाता है। आपको सिर्फ इतना करना है कि एक कपड़े में बर्फ के टुकड़े क
केवल पलक झपकाने भर से ही आपका दिमाग हो जाएगा तेज, जानें कैसे

केवल पलक झपकाने भर से ही आपका दिमाग हो जाएगा तेज, जानें कैसे

Health & Fitness
दिमाग तेज करने के लिए बहुत अधिक प्रयास करने की जरूरत नहीं है, बल्कि पलक झपकने से ही दिमाग तेज होता है। पलक झपकाने और आंखों की रोशनी के बीच के संबंध को लेकर कई शोध हुए, लेकिन एक शोध पलकों और दिमाग के संबंध को लेकर हुआ। इस शोध की मानें तो जब हम पलकें झपकाते हैं तो दिमाग और अधिक सक्रिय हो जाता है और हम अधिक तल्लीनता से काम करते हैं। इस लेख में इसके बोर में जानते हैं। ‘करेंट बॉयोलॉजी’ में छपे यूनिवर्सिटी आफ सिंगापुर द्वारा किये गये शोध की मानें तो जब हम पलकें झपकाते हैं तब हम जो भी देख रहे होते हैं उसपर ध्यान केंद्रित करते हैं। शोधकर्ताओं की मानें तो जब भी हम पलकें झपकाने के दौरान आंखों को बंद करते हैं तब आखें खोलने के बाद आंखों की पुतली वापस एक ही स्थिति पर नहीं आती, बल्कि पुतली की स्थिति बदल जाती है। यही प्रक्रिया दिमाग को अधिक सक्रिय बनाती है। पलकें झपकाने के दौरान आंखों से तरल पदार्थ नि
अगर आप भी बाल झड़ने से हैं परेशान तो रोज खाएं ये एक चीज जरूर होगा फायदा

अगर आप भी बाल झड़ने से हैं परेशान तो रोज खाएं ये एक चीज जरूर होगा फायदा

Health & Fitness
मूंग की दाल का सेवन अलग-अलग प्रकार के व्‍यंजनों के लिए किया जाता है। मूंग दाल से खिचड़ी, मूंग दाल का लड्डू, मूंग दाल का हलवा और अन्‍य तरह के स्‍वादिष्‍ठ और सेहतमंद पकवान तैयार किए जाते हैं। सभी दालों में सबसे पौष्टिक दाल मूंग दाल होती है, इसमें विटामिन ए, बी, सी और ई की भरपूर मात्रा होती है। साथ ही पौटेशियम, आयरन, कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। मूंग बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यदि मूंग को अंकुरित (स्प्राउट) होने के बाद खाया जाए तो इससे बालों के झड़ने की समस्‍या समाप्‍त हो जाती है। यह बालों को घने, चमकदार और मजबूत बनाते हैं। यदि आप अंकुरित (स्प्राउट) मूंग का सेवन करें तो शरीर में कुल 30 कैलोरी और 1 ग्राम फैट ही पहुंचता है। अंकुरित मूंग दाल में मैग्नीमशियम, कॉपर, फोलेट, राइबोफ्लेविन, विटामिन, विटामिन सी, फाइबर, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन बी-6, नि
अगर आप भी खाती हैं चिकन तो हो जाइए सावधान क्‍योंकि जीवन भर होगा पछतावा

अगर आप भी खाती हैं चिकन तो हो जाइए सावधान क्‍योंकि जीवन भर होगा पछतावा

Health & Fitness
शाकाहारी होने के कई फायदे हैं लेकिन फिर भी लोग मांसाहार का सेवन करते हैं, ये जानते हुए कि इसके नुकसान कितने ज्यादा हैं । खैर, ये खबर पढ़ने के बाद शायद आप चिकन का सेवन बंद कर दें । मछली, मटन खाने वाले राहत की सांस ले सकते हैं क्‍योंकि यहां बात सिर्फ चिकन की हो रही है । दरअसल बाजार में मिलने वाला चिकन तमाम तरह की दवाईयों से तैयार किए हुए मुर्गों से मिलता है । क्‍या आप जानते हैं एक चूजे से मुर्गा बनाने के लिए ऑक्‍सीटोसीन के इनजेक्‍शन दिए जाते हैं । डिमांड पूरी करने, ज्‍यादा पैसा कमाने के लिए चूजों को अप्राकृतिक तरीकों से बड़ा किया जाता है । ना तो उन्‍हें अच्‍छे दाने खिलाए जाते हैं औरचिकन ना ही किसी तरह की कोई देखभाल की जाती है । आपने कभी मुर्गियों से भरे कैंटर को देखा है, मुर्गे ऐसे ठूंस कर भरे जाते हैं कि मानों वो जीव ना होकर बस सामान हों ।
क्या आपको पता है चिकन व अंडे से भी ज्‍यादा शक्तिशाली है मूंगफली, जानें कैसे

क्या आपको पता है चिकन व अंडे से भी ज्‍यादा शक्तिशाली है मूंगफली, जानें कैसे

Health & Fitness
अक्सर लोग मीट और अण्डे का सेवन करते है अपनी सेहत बनाने के लिए तो कभी स्वाद के लिए, कहा जाता है की मीट या अंडा प्रोटीन का सबसे अच्छा होता है। जब भी कोई व्यक्ति अपने वजन या उम्र के हिसाब से कमजोर होता है या फिर किसी इंसान में कमजोरी होने लगती है तो उसे मीट और अण्डे खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं मूंगफली में मीट और अण्डे के मुकाबले कई गुना अधिक प्रोटीन और अन्य पोषक तत्व होते हैं। आपको बता दे कि मूंगफली को सेहत का खजाना भी कहा जाता है। शायद आपको इस बार यकीन ना आए, लेकिन ये सच है कि मूंगफली मीट और अण्डे की तुलना में काफी शक्तिशाली होती है। आइए जानते हैं कि मूंगफली में ऐसे कौन से गुण हैं जिससे उसने मांस को भी पीछे छोड़ दिया है।   मूँगफली के अनेकों फायदे : वानस्पति प्रोटीन का स्त्रोत है मूंगफली। मूंगफली में मांस की तुलना में 2.3 गुना और अण्डे की तुलना 2.5 गुना
जानें, सोने के क्‍या है सही पोजीशन

जानें, सोने के क्‍या है सही पोजीशन

Health & Fitness, Interesting
यह तो सभी जानते है कि पर्याप्त नींद लेना स्वस्थ शरीर के लिए कितना आवश्यक है, लेकिन आज की भागदौड़ वाली ज़िन्दगी में हमारे पास खुद के लिए भी समय नहीं है। आज लोगों की दिनचर्या काम से शुरू होती है और काम पर ही ख़त्म हो जाती है। अगर पुरुषो की बात की जाये तो सुबह उठते ही वो घर के कुछ कार्यो में व्यस्त हो जाते है या रात को लेट सोने की वजह से सुबह देर से उठते है। इसके बाद जब उनकी नींद खुलती है तो उनके दिमाग में एक ही बात घूमती कि ऑफिस के लिए लेट न हो जाये और जल्दी-जल्दी तैयार होकर अपने काम पर निकल जाते है। इसके बाद दिनभर ऑफिस के काम में निकल जाता है। फिर घर आकर भी रात को देर तक काम करेंगे, टीवी देखेंगे या तो लैपटॉप चलाते रहेंगे और देर रात को सोने की कोशिश करेंगे। वही महिलाओं की दिनचर्या भी कुछ इसी तरह की होती है अंतर केवल इतना है कि अगर वो हाउसवाइफ है तो उनके दिन बच्चो और घर के कामो में निकल जा
दूध के साथ भूलकर भी न खाएं ये चीजें, वरना होगा भरी नुकसान

दूध के साथ भूलकर भी न खाएं ये चीजें, वरना होगा भरी नुकसान

Health & Fitness
दूध हमारी सेहत के लिए अधिक लाभकारी है। इसको पीने से आप कई बीमारियों से बच सकते है। साथ ही यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। यह हमारे शरीर के साथ-साथ दिमाग को भी तेज करता है। हम सभी जानते हैं कि दूध पीने से सेहत में कितना निखार आता है लेकिन गर्म दूध पीने से हमें क्‍या लाभ पहुंचता है, ये बहुत कम लोगो को पता है। इसलिए दूध पीनी बहुत ही आवश्यक है। लेकिन कुछ ही लोगों को ये बात पता है कि दूध पीने का भी एक समय होता है। जिससे आपको पूरा फायदा मिले। इसी तरह हम दूध के साथ क्या चीज ले रहे है। इससे हमारे शरीर पर क्या प्रभाव पडेगा। यह चीजे बहुत ही मायने रखती है। अपनी खबर में ऐसी ही कुछ खाद्य पदार्थों के बारें में बता रहे है। जिनको कभी भी दूध के साथ नहीं लेना चाहिए। इससे आपको काफी परेशानियों का सामना न करना पडेगा। जानिए ऐसी कौन सी चीजे है जो दूध के साथ नहीं खानी चाहिए। कभी भी उडद की दाल खा
इन तरीकों से न करे शहद का प्रयोग, शहद बन जाता है ज़हर

इन तरीकों से न करे शहद का प्रयोग, शहद बन जाता है ज़हर

Health & Fitness
माना जाता है कि शहद अमृत के समान होता है और स्‍वास्‍थ्‍य के लिये काफी लाभदायक होता है। अगर इसे सही तरीके से लिया जाए तो स्‍वास्‍थ्‍य के लिये अच्‍छा होगा पर यदि इसे गलत तरीके से सेवन किया जाए तो यह जहर के समान बन जाता है। आयुर्वेद में यह अमृत के समान माना जाता है लेकिन आयुर्वेद में ही इसे खाने के कुछ तरीकों पर रोक- टोंक लगाई गई है। शहद हमेशा शुद्ध ही खाना चाहिये। यह स्‍वास्‍थ्‍य के साथ सुंदरता भी निखारता है। आइये जानते हैं कि शहद कब बन जाता है जहर -   शहद कब बन जाता है जहर - 1. शहद को कभी भी गरम खाद्य पदार्थों के साथ ना खाएं। 2. कभी भी चाय या कॉफी में शक्‍कर की जगंह पर शहद का प्रयोग ना करें। यह नुकसान पहुंचा सकता है। 3. खट्टे फल, अंगूर, अमरूद या गन्‍ने के साथ शहद लेने से लाभ मिलता है। 4. शहद को आंच पर कभी नहीं पकाना चाहिये। 5. मांस, मछली के साथ शहद का सेवन जहर के स