सोमवार को है ये खास तिथि, चाहते हैं अपनी किस्मत चमकाना तो इन 5 में से जरूर करेें एक उपाय

हम सभी के जीवन में कुछ क्षण ऐसे होते है, जो काफी सुखदायक होते है वहीँ कुछ ऐसे भी क्षण भी होते जो काफी कष्टकारी होते है। यह जीवन का एक क्रम है, जो हम सभी के जीवन में जरुर आता है, हम सभी के जीवन में उतराव चढाव होते ही रहते है लेकिन आप इन कष्टों को कुछ उपायों द्वारा दूर जरुर कर सकते है। पहले हम आपको यह बता दे कि यह सोमवार काफी खास है क्योकि 18 दिसम्बर को पौष मास की अमावस्या का पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन स्नान का विशेष महत्व मना गया है और साथ ही दान-पुण्य और पूजा-पाठ करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है।

अमावस्या के दिन किये गये धार्मिक कार्यों का फल बहुत जल्दी मिलता है और देवी-देवता भी अति शीघ्र प्रसन्न हो जाते है। 18 दिसम्बर को दिन सोमवार पड़ने के कारण यह अमावस्या ‘सोमवती अमावस्या’ कहलाती है। तो चलिए आपको बतातें है, इस दिन किन-किन उपायों को करके आप देवी-देवताओं को अति शीघ्र प्रसन्न करके उनकी कृपा प्राप्त कर सकते है।

 

उपाय :

1. सोमवती अमावस्या के दिन आटे को गुथे और बहुत छोटी-छोटी आटे कि लोई बना करके मछलियों को चारे के रूप में खिलाएं। ऐसा कई दिनों तक प्रतिदिन करने से आपको धन से सम्बंधित सारी परेशानियों से छुटकारा मिलेगा।

2. इस दिन आप सुबह जल्दी उठें और स्नान करने के बाद हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें।

3. हनुमान जी को लड्डू का भोग और चमेली के तेल के दीपक चौमुखा जलाएं साथ ही ‘ऊँ रामदूताय नम:’ इस विशेष मंत्र का 108 बार जाप करें। ऐसा करने से आपके सारे दुखों का निवारण होगा और हनुमान जी की कृपा भी बनी रहेगी।

यह भी पढ़े: आइए जानते हैं शनि देव को प्रसन्न करने के सरल और अचूक उपाय

4. इस दिन गरीबो को अन्न का दान काफी शुभ माना गया है, इस दिन आप गेहूं का दान कर सकते है। यदि हो सके तो किसी गरीब को भोजन खिलाए। ऐसा करने से आपके घर से दरिद्रता दूर होगी और साथ ही अन्नपूर्णा माता की कृपा भी बनी रहेगी।

 

5. अमावस्या के दिन भगवान शिव की पूजा जरुर करें भगवान शिव के शिवलिंग पर तांबे के लोटे से जल चढ़ाएं और जल चढ़ाने के बाद बेल पत्र भी चढ़ाए साथ ही 108 बार ‘ऊँ नम: शिवाय’ इस विशेष मंत्र का जाप करें। ऐसा करने से आपको डर और भय से मुक्ति मिलेगी साथ ही महाकाल की कृपा भी बनी रहेगी।

तो ये थे कुछ उपाय जिन्हें आप इस सोमवार जरुर करें, जिससे आप पर सभी देवी देवताओं की कृपा बनी रहें और साथ ही आपके सारे कष्टों का निवारण होकर, आपके घर में धन-धान्य का लाभ व सुख-शांति का वातावर्ण बना रहें।

Share this on

Leave a Reply