Friday, December 15

‘गूगल फॉर इंडिया’ इवेंट के दौरान गूगल ने भारत में लॉंच किया ऑल इन वन “गो ऐप”

हम सभी स्मार्टफोन यूज़ करते है और यह तो हर कोई जनता है की कोई भी स्मार्टफोन गूगल के बिना अधुरा है। जैसा की हम जानते है कि गूगल एक सर्च इंजन है और गूगल के कई एप्लीकेशन भी आते है जो हम अपने स्मार्टफोन में इस्तेमाल करते है। गूगल के कई एप्लीकेशन डाउनलोड करके हम अपने फोन को कई नए फीचर से अटैच करते है। एक तरफ जहाँ हम गूगल के इतने सारे ऐप यूज़ करते है वहीँ गूगल ने हाल ही में दिल्ली में आयोजित ‘गूगल फॉर इंडिया’ इवेंट में यह अनाउंसमेंट किया है कि गूगल ने अब कम रैम और कम कीमत वाले स्मार्टफोन के लिए ऑल इन वन यानी की ‘गो ऐप’ लॉन्च किया है।

गूगल ने यह ऐप आम लोगो को ध्यान में रखते हुए लॉंच किया है। बताना चाहेंगे की यह ऐप खासकर उन लोगो के लिए है जो कम कीमत के स्मार्टफोन यूज करते है। इस ऐप के जरिए वो लोग भी गूगल के कई ऐप का इस्तेमाल सिर्फ एक ही ऐप के द्वारा कर पाएंगे। बता दे की “गो ऐप” के जरिये यूजर्स गूगल सर्च, वॉयस सर्च, जिफ़, यूट्यूब, गूगल ट्रांसलेट के अलावा और भी कई ऐप यूज़ कर पाएंगे।

यह भी पढ़े : दिसंबर में भारत आने वाला है ये धांसू स्मार्टफोन, जानें क्‍या है इसकी कीमत

ऐसा माना जा रहा है की इस ऐप यूज़ को इस्तेमाल करने में कोई दिक्कत सहनी नहीं पड़ेगी, इस ऐप को आप अपने 512 एमबी से 1 जीबी रैम वाले स्मार्टफोन में भी आसानी से प्रयोग कर पाएंगे। इस गो एडिशन को गूगल ने एंड्राइड ओरियो को इस भारत के लिए प्रस्तुत किया है। जोकि एंड्रॉयड 8.0 ओरियो का एक ऑप्टिमाइज़्ड वर्ज़न है। बता दे की गूगल गो ऐप का साइज 5 एमबी से भी कम है, साथ ही इसमें डाटा की खपत मात्र 40 प्रतिशत तक ही होती है जिसके वजह से यह कम फीचर वाले स्मार्टफोन में भी गो ऐप का अच्छे से इस्तेमाल किया जा सकेगा।

4G के बाद अब भारत में पहली बार एरिक्सन द्वारा किया गया 5G तकनीक का “लाइव” प्रदर्शन

गूगल गो ऐप गूगल के लेटेस्ट ओएस में एक प्री-इंस्टॉल्ड ऐप का सेट आपको मिलेगा जिसमें आप गूगल के कई सारे ऐप एक ही जगह उस यूज़ कर पाएंगे और इस ऐप के सेट का नाम गूगल गो होगा। गूगल गो ऐप में गूगल की सर्विस के साथ ही साथ फेसबुक, क्रिकबज़ और इंस्टाग्राम जैसे कई ऐप आपको मिलेंगे। इन ऐप की प्री इंस्टॉल होगी जिससे यूजर्स को बाद में डाउनलोड करना नहीं होगा। ‘गूगल फॉर इंडिया’ के इवेंट में गूगल के वाइस प्रेसिडेंट इंजीनियरिंग शशिधर ठाकुर ने भी यह कहाँ कि हमने हजारों भारतीय नागरिकों से फीडबैक लिया है, ताकि गूगल गो के जरिए इंटरनेट को अन्य नए यूज़र्स तक पहुंचया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: