Sunday, November 19News That Matters

बात बात पर रोने वाली लड़कियां कमजोर नहीं बल्कि होती हैंं खास, उनके अंदर होते हैं ये सभी गुण

जिस वातावरण में हम जीते है वहाँ कई सारी भावनाओ के लोग रहते है और अक्सर लोगों को यही लगता है कि जो लोग बात-बात पर रोते हैं वो अंदर से बहुत कमज़ोर होते हैं लेकिन एक रिसर्च की रिपोर्ट के अनुसार ये बात बिल्कुल गलत है कि बात-बात पर रोने वाले लोग कमज़ोर होते हैं बल्कि ऐसे लोग दूसरों की तुलना में काफी मजबूत और खास होते हैं। आज हम बात करेंगे कि बार-बार रोने वालों में क्या-क्या खासियत होती है, आईये जानते हैं।

अगर आप रोते है तो इसका मतलब ये है कि आप भावनाओ की परवाह और इज्जत करते है, इसके इलावा रोने के बाद आपके मन का हर बुरा या दबा हुआ भाव खत्म हो जाता है। इसमें कोई शक नहीं कि दोस्ती का रिश्ता भावनाओ से जुड़ा हुआ होता है, ऐसे में जो लोग कभी कभी अपना रिश्ता साबित करने के लिए रो देते है, उनका इमोशनल कोशेंट काफी अच्छा होता है। इसके इलावा ऐसे लोग दूसरो की भावनाओ को भी आसानी से समझ लेते है।

यह भी पढ़ें : आइए जानते हैं ‘आई लव यू’ को 20 अलग-अलग भाषाओं में कहने का तरीका

बात-बात पर रोने वाले व्यक्ति को ग़लती से भी कमज़ोर समझने की भूल न करें, ऐसे लोग कमज़ोर नहीं बल्कि अंदर से बहुत मजबूत होते हैं। कोई भी प्रॉब्लम हो इन्हें खुद को संभालना बखूबी आता है, रोने का मतलब ये नहीं होता कि वह कमज़ोर हैं बल्कि रोने से वह खुद को अच्छा और मजबूत महसूस करते हैं। कहते हैं कि रोने से तनाव दूर भाग जाता है तनाव होने पर व्यक्ति को खुल कर रोने की सलाह दी जाती है| ऐसा इसलिए क्योंकि तनाव या परेशानी होने पर रोना औषधि की तरह काम करता है।

बात-बात पर रोने वाले या इमोशनल लोग बिल्कुल साफ़ दिल होते हैं, उनके मन में किसी के लिए किसी प्रकार का बुरा भाव नहीं होता| जो भी तकलीफ उन्हें होती है उसे वो अपने आसुओ में बहा देते है। जो लोग  इमोशनल होते हैं वो बहुत अच्छे दोस्त साबित होते हैं, क्योंकि ऐसे लोग दूसरों की फीलिंग्स को काफी अच्छी तरह समझते हैं और उनकी कद्र करते हैं, बात बात पर रोना हमारे सहनशीलता को भी दर्शाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: