भारत के एक सीक्रेट लैब में हो रहा फुल बॉडी ट्रांसप्लांट

विज्ञान इतना आगे जा सकता है हम सोच भी नहीं सकते है क्योकि आज हम  आपको विज्ञान के एक ऐसे  चमत्कार के बारे में बताने जा रहे है जो शायद आपको एक बार  जरुर सोचने के लिए मजबूर कर देगा | आपने मानव शरीर के अंगो के ट्रांसप्लांट के बारे में तो सुना ही होगा जैसे किडनी ,लीवर हार्ट ,पैंक्रियास ,दांत आदि कई सारे अंग ऐसे है मानव शरीर  में जिसका ट्रांसप्लांट होता है लेकिन क्या आपको पता है अब विज्ञान ने एक ऐसी खोज की है जिसके बाद सिर्फ अंगो को  ही नहीं बल्कि पुरे शरीर को ही ट्रांसप्लांट किया जा सकता है |

इस प्रोसेस के लिए भारत के एक सीक्रेट लैब में स्टेम सेल पर काम चल रहा है। स्टेम सेल या  मूल कोशिका ऐसी कोशिकाए होती हैं, जिनमें शरीर के किसी भी अंग  को कोशिका के रूप में विकसित करने की क्षमता मिलती है। इसके साथ ही ये अन्य किसी भी प्रकार की कोशिकाओं में बदल सकती है। वैज्ञानिकों के अनुसार इन कोशिकाओं को शरीर की किसी भी कोशिका की मरम्मत के लिए प्रयोग किया जा सकता है। इस प्रकार यदि ह्रदय  की कोशिकाएं खराब हो गईं, तो इनकी मरम्मत स्टेम कोशिका द्वारा की जा सकती है।

यह भी पढ़ें : आइए जानें, ब्लड में कैसे पूरी करें Platelets की संख्या

इसी प्रकार यदि आँख की कोर्निया  की कोशिकाएं खराब हो जायें, तो उन्हें भी स्टेम कोशिकाओं द्वारा विकसित कर प्रत्यारोपित किया जा सकता है। यदि परिवार में किसी व्यक्ति को कोई गम्भीर बीमारी है तो इन स्टेम सेल्स से उसका उपचार किया जा सकता है। इसके लिए उस व्यक्ति के परिवार के अन्य किसी सदस्य (जो उससे आनुवंशिक रूप से जुड़ा हो) के बोनमैरो से स्टेम सेल निकाल कर, उन्हें प्रयोगशाला में तैयार किया जाएगा तथा बीमार व्यक्ति में प्रत्यारोपित कर दिया जाएगा।

यह कोशिकाएं क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की जगह ले लेती हैं और व्यक्ति स्वस्थ्य हो जाता है। जिसे F B T कहा जाता है और डॉक्टरो के मुताबिक इस इलाज को 6 मरीजो पर अपनाया जा चूका है और सभी मरीज़ अपने पुराने दिमाग और नए शरीर के साथ पूरी तरह स्वस्थ है और  अगर ऐसे ही ये इलाज सफल होता रहा तो कुछ ही सालो में ये इलाज सभी के लिए मौजूद होगा और लोगो के लिए जीवनदान साबित होगा।
Share this on

Leave a Reply