Monday, December 18

फोर्टिस ने डेंगू के इलाज का बिल थमाया 18 लाख रुपये, फिर भी नहीं बचा सके बच्ची की जान

डेंगू एक ऐसी बीमारी जिसमें सभी की हालत काफी नाजुक हो जाती है।बहुत से लोग इस बीमारी के शिकारी हो जाया करते है। कई बार इस ख़तरनाक बीमारी से जान भी जाने का डर बना रहता है। यह बीमारी गन्दगी से जन्में मच्छरों के काटने से होती है। डेंगू में अक्सर लोगो को बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों और जोड़ो में बहुत ही ज्यादा दर्द होता है। आज हम आपको ऐसे ही एक घटना से रूबरू कराने जा रहे है जिसे जानकर आप भी चौक जाएँगे।

इसी बीमारी से पीड़ित एक सात साल की बच्ची को डॉक्टरो ने बचा नहीं पाया। हैरान करने वाली बात इसमें ये है कि बच्ची के इलाज के लिए डॉक्टरों ने उन्हें 18 लाख रूपये का बिल बनाया जिसे देखकर बच्ची के माता पिता भी दंग रह गए। यह घटना दिल्ली के पास फोर्टिस हॉस्पिटल का है। इलाज के दौरान बच्ची के माता-पिता को 19 पन्नों का बिल दिया गया जिसमें 661 सीरिंज, 2,700 दस्ताने और कुछ अन्य चीजों की कीमत शामिल की गई थी।

यह भी पढ़ें : अगर आपको महसूस होते हैं कैंसर के ये 9 संकेत तो हो जाएं सावधान, वरना पड़ेगा भारी

जिसको हॉस्पिटल वालो ने कथित तौर पर इलाज के समय प्रयोग किया था। दिल्ली के द्वारिका में रहने वाले जयंत सिंह जो बच्ची के पिता है उन्होंने इस इलाज के लिए एडवांस में पैसे दिए थे बच्ची की जान न बच्चने के कारण उन्होंने हॉस्पिटल पर आरोप लगाया है कि बिल की धनराशि बाद में बढ़ा दी गई है और मनमानी की गई है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इतने महंगे बिल के बाद भी आद्या की सेहत का ठीक तरह से ख्याल नहीं रखा गया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

इस पुरे मामले को संज्ञान में लेते हुए स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने ट्वीट किया कि कृपया इस घटना की सारी जानकारी मुझे hfwminister@gov.in पर दें जिससे इस मामले पर जरूरी कार्रवाई की जाए सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *