Friday, December 15

4G के बाद अब भारत में पहली बार एरिक्सन द्वारा किया गया 5G तकनीक का “लाइव” प्रदर्शन

भारत एक ऐसा देश है, जो तकनीकिय मामले में आगे बढ़ रहा है। आज हम सभी की लाइफ इन तमाम तकनीको पर डिपेंड  हो गयी है। हम सभी के लाइफ का अहम हिस्सा बन चुके ये तकनीक जो हमारे पहले के रहन सहन के तरीको को पूरा बदल के रख दिया है और पहले की लाइफ से आज की लाइफ बहुत ही रफ्तारो से भरी हुए काफी तेज हो गई है। जहाँ हम सभी तकनीकी मामलो में प्रगति कर रहे है। वही हमारे जीवन का अहम हिस्सा बन चुके स्मार्टफोन भी दिनों दिनों और बेहतर होते जा रहे है। अभी सभी अपने फोन में 4जी नेटवर्क यूज़ कर रहे है। लेकिन अब हम अपने स्मार्टफोन में 5जी भी यूज़ कर पाएंगे। जिसकी स्पीड 20 जीबी पर सेकेण्ड होगी जिससे आप कुछ भी मात्र चंद सेकेण्डस में डाउनलोड कर पाएंगे।

यह भी पढ़े : ये हैं दुनिया के टॉप 10 हैकर, जिनके कारनामों से दंग रह गई दुनिया

भारत में नये अन्वेषण लाने 5जी पारिस्थितिक तंत्र को तैयार करने के उद्देश्य से संचार प्रौद्योगिकी की प्रमुख वैश्विक कंपनी एरिक्सन ने शुक्रवार को 5जी का एंड-टू-एंड प्रदर्शन किया जिसमे एरिक्सन के 5जी टेस्ट बेड और 5जी न्यू रेडियो (एनआर) के द्वारा किया गया। जिसमें बेहद कम लेटेंसी 3 मिली सेकेंड के साथ 5.7 गीगा बाइट प्रति सेकेंड की स्पीड प्राप्त हुई। एरिक्सन के नये अध्ययन के मुताबिक 5जी भारतीय दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को साल 2026 तक 27.3 अरब राजस्व पैदा करने की क्षमता है।

सरकार ने 2020 तक देश में 5जी नेटवर्क को लाने की योजना बनाई गई है। एक मजबूत 5जी पारिस्थितिक तंत्र के निर्माण की दिशा में इस प्रदर्शन को आयोजित किया था। इस विषय पर एरिक्सन इंडिया के प्रबंध निदेशक नितिन बंसल ने कहा कि दूरसंचार नेटवर्क में 5जी नए स्तर के प्रदर्शन और विशेषताओं को लेकर आएगी और सेवा प्रदाताओं के लिए राजस्व के नए प्रवाह खुलेंगे। 5जी 2026 तक भारतीय ऑपरेटरों के लिए 43 फीसदी वृद्धिशील राजस्व उत्पन्न करने की क्षमता रखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: