करवाचौथ पूजा में भूल से भी न करें यह 10 गलतियाँ

करवाचौथ का व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और आपसी प्रेम संबंधो को मजबूत बनाए रखने के लिए करती हैं| ऐसे मेन सुहागिन महिलाएं पूरे दिन भूखी और प्यासी रहती हैं और रात में चाँद और अपने पति का चेहरा चलनी में देख कर व्रत तोड़ती हैं| लेकिन करवाचौथ के दिन कुछ कामों को करना वर्जित माना गया है। ऐसे कहाँ जाता हैं कि इन कामों को करने से सुख-शांति खत्म हो जाता है और अपशगुन हावी हो जाता है। तो आइए जानते हैं उन कामो के बारे में जो करवाचौथ के दिन नहीं करना चाहिए|

यह भी पढ़ें : अगर बार-बार बुझ जाती है अखंड ज्योति तो जान लें ये तरकीब

(1) यदि संभव हो तो इस दिन लाल रंग के ही वस्त्र पहने ये रंग गर्मजोशी और मनोबल का प्रतीक होता है और साथ ही ये रंग प्यार और रोमांस का प्रतीक भी होता है| सभी महिलाएं लाल रंग के कपड़ो में अधिक सुंदर और आकर्षक दिखाई देती है।

(2) करवाचौथ के दिन कैंची, सुई, चाकू यहां तक कि सेफ्टीपिन का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसे सही नहीं माना जाता है।

(3) आधुनिक समाज में आजकल के युवा पुरुष भी अपनी पत्नियों के लिए करवाचौथ का व्रत रखने लगे है| लेकिन इन्हें ये कार्य नहीं करना चाहिए| दरअसल इससे आपसी प्यार तो बढ़ सकता है लेकिन ये बहूत ही अशुभ होता है और इससे करवा का अपमान होता है।

(4) करवाचौथ व्रत के दिन, दिन काटने के लिए पत्ते खेलना, सोना, किसी की चुगली करना जैसे काम बिल्कुल भी ना करे|

(5) इस दिन नीले, भूरे या काले रंग के कपड़े बिल्कुल भी ना पहने और हमेशा ध्यान रखें की करवाचौथ की पूजा करने से पहले मायके वालो को अपनी बेटी के घर मिठाइयां, तोहफे और ड्राई फ्रूट्स जरूर भेजें|

(6) इस दिन करवाचौथ पुजा करने के पहले और बाद में भजन-कीर्तन जरूर करना चाहिए|

(7) करवाचौथ के दिन लड़ाई-झगड़ा नहीं करने चाहिए|

(8) इस दिन करवाचौथ के कथा को बहुत ध्यान-पूर्वक जरूर सुने|

(9) इस दिन किसी की निंदा ना करे और भूलकर भी किसी रूठे को ना मनाए|

(10) महिलाओं को कभी भी अपने सिंदूर को बालो से नहीं छिपाना चाहिए|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on