इंग्लैंड से सीरीज़ हारने के बाद धोनी के सन्यास की लगाई जा रही हैं अटकलें, जानें क्या है इसके पीछे का सच

इंग्लैंड ने मंगलवार को भारत को तीसरे और निर्णायक एकदिवसीय मैच में 8 विकेट से हराकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया। यह भारतीय टीम की विराट की कप्तानी में पहली द्विपक्षीय एकदिवसीय सीरीज हार थी। अभी भारत की हार पर विशेषज्ञों के बीच चर्चा शुरू भी नहीं हुई थी कि लाईव फुटेज में कुछ ऐसा दिख गया कि ट्‍विटर पर अफवाहों की बाज़ार गर्म हो गयी और लोग धोनी के संन्यास की अटकलें लगाने लगे।

बता दें कि धोनी ने 30 दिसंबर 2014 को टेस्ट मैच से संन्यास लिया था और तब भी वो मैच खत्म होने के बाद अंपायर से स्टंप लेकर चल दिए थे। यही वजह है कि ट्विटर पर यूजर्स उनके रिटारमेंट की अटकलें लगा रहे हैं। इस सीरीज में धोनी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। आखिरी मैच में धोनी ने 66 गेंदों में 42 रन बनाए, जबकि उससे पहले हुए मैच में उन्होंने 59 गेंदों में 37 रन बनाए थे।

अम्पायर से गेंद लेने की असली वजह

आखिर क्यों उन्होंने मैच खत्म होने के बाद गेंद अपने पास रख ली। इस बात को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे थे लेकिन अब इसका खुलासा हो गया है कि धोनी ने गेंद अपने पास क्यों रखी थी। एक रिपोर्ट के मुताबिक महेंद्र सिंह धोनी ने गेंदबाजी कोच भरत अरूण को गेंद दिखाने के लिए ऐसा किया था। एम एस धोनी, भरत अरूण को दिखाना चाहते थे कि गेंद की हालत कैसी है ताकि उन्हें वहां की परिस्थितियों का पता लग सके। इसी वजह से महेंद्र सिंह धोनी ने मैच खत्म होने के बाद ड्रेसिंग रूम वापस लौटते समय अंपायर से गेंद लेकर अपने पास रख ली थी।

बताते चलें कि इंग्लैंड में अगले साल विश्व कप होना है और बीसीसीआई चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद कह चुके हैं कि धोनी उस टीम के विकेटकीपर के लिए पहली पसंद होंगे। भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री भी स्पष्ट कर चुके है कि धोनी विश्व कप में खेलेंगे। इसके बावजूद धोनी द्वारा इस तरह मैच हारने के बाद बॉल लिए जाने से फैंस हैरान है।

 

( लगातार youthtrend के खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करें )
Share this on

Leave a Reply