धनतेरस की रात दीपक जलाते समय भूल से भी न करें ये गलती, होता है अपशकुन

इस साल भी लोग आने वाले धनतेरस और दिवाली के त्यौहार का इंतजार कर रहे हैं, दरअसल धनतेरस और दिवाली हिन्दू धर्म को मानने वाले लोगों को प्रमुख त्यौहार होता हैं| दिवाली का त्यौहार आने से पहले ही लोग अपने घर की साफ-सफाई करते हैं और धनतेरस और दिवाली के दिन दीपक जलाने का रिवाज हैं| ऐसी मान्यता हैं कि धनतेरस के दिन कुबेर महाराज की पुजा करने से पूरे साल घर में धन की कोई कमी नहीं होती हैं और आपके जीवन में हमेशा खुशहाली बनी रहती हैं|

यह भी पढ़ें : शास्त्रों के अनुसार इस समय में नहाना माना गया है पाप, कहीं आप भी तो नहींं करते राक्षसी स्नान

धनतेरस और दिवाली के दिन दीपक जलाना अनिवार्य होता हैं क्योंकि इस दिन घर में अंधेरा होना अपशकुन माना जाता हैं, हालांकि दिवाली के दिन बहुत सारे लोग दीपक जलाते तो हैं लेकिन दीपक जलाते वक्त कुछ बातों का ध्यान नहीं रखते हैं और जिसके कारण उनके द्वारा किए गए पुजा का कोई लाभ प्राप्त नहीं होता हैं तो आइए जानते हैं कि धनतेरस और दिवाली के दिन दीपक जलाते वक्त किन बातों का खास ध्यान देना चाहिए|

(1) धनतेरस या दिवाली के दिन दिये खरीदते समय इस बात का जरूर ध्यान दें कि दिये पूरी तरीके से साबुत हो और वो कहीं से भी खंडित ना हो क्योंकि खंडित दिये का इस्तेमाल धनतेरस या दिवाली के दिन जलाना अशुभ माना जाता हैं|

(2) दीपक जलाने में सरसों के तेल का ही इस्तेमाल करे तो ज्यादा अच्छा होगा|

(3) शास्त्रों के मुताबिक दिये में सरसों के तेल साथ एक साबुत लौंग जरूर डाल दें। ऐसा करने से पूजा का पूर्ण फल मिलता है और ध्यान रहे कि लौंग कहीं से भी खंडित ना हो यानि लौंग फूल वाला हो|

(4) धनतेरस के दिन किसी भी गरीब इंसान को नहीं सताना चाहिए क्योंकि यदि आप इस दिन किसी गरीब को सताते हैं तो देवी माँ लक्ष्मी आपसे नाराज हो जाएंगी और वो आपके घर से सदा के लिए चली जाएंगी| जिसके कारण आपके घर में धन संबंधी समस्या उत्पन्न हो सकती हैं|

Share this on