Dev Deepawali 2018 : वाराणसी में हो रही खास तैयारी, 21 लाख दीपों से जगमग होंगे घाट

काशी में कार्तिक महीने की पूर्णिमा को 23 नवंबर के दिन गंगा नदी के घाट पर देव दीपावली के शुभ अवसर पर दीपों से सजाया जा रहा है तथा इसके साथ ही सांस्कृतिक विरासतों और धरोहरों की झलक देखने को मिलेगी। इस कार्यक्रम कि पूरी तैयारी तुलसी घाट पर संपन्न होगी। बनारस के साथ ही बहरीन से भी आए कलाकार अनिल कुमार ने कुंची से ही मणिकर्णिका, जलासेन, सिंधिया घाट आदि की अलौकिक तस्वीर के विषय में फिर से बातें शुरू की है। प्रोफेसर विजयनाथ मिश्रा के निर्देशन में चल रहे कलाकार घाटों पर भ्रमण करते हुए सैलानियों – दर्शनार्थियों के साथ साथ गंगा आरती, मणिकर्णिका घाट पर जल रही चिताओं के दृश्य को दर्शाने की कोशिश कर रहे हैं।

Dev Deepawali 2018

 

यह भी पढ़ें : भारत का एक ऐसा मंदिर जहां नहीं की जाती हैं पूजा, सच्चाई जानकार आपको भी होगी हैरानी

गंगा की लहरों लेजर शो के जरिये होगा विशेष कार्यक्रम

मिश्रा जी ने बताया की इस बार काशी आओ प्रवासी 22 फीट ऊंचा लोगो सबको आकर्षण का केंद्र बना रहेगा। इसके अलावा आपको यह भी बता दें की इस बार देव दीपावली के मौके पर गंगा में लेजर शो का भी आयोजन हो रहा है, जिस दौरान गंगा की लहरों पर माँ गंगा की गाथा भी सुनाई जाएगी। इस पूरे कार्यक्रम की तैयारी पर्यटन विभाग कर रहा है और आपको यह भी बताते चलें की पहली बार गंगा में लेजर शो का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हाथों से 23 नवंबर को यानी की देव दीपावली के दिन राजघाट पर किया जाएगा। इसके अलावा अस्सी घाट पर भी स्थाई और नियमित तौर पर लेजर शो की योजना बनाई गई है।

Dev Deepawali 2018

 

गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज हो सकता है नाम

आपकी जानकारी के लिए यह भी बताते चलन की इस बार काशी के अर्धचंद्राकार घाटों पर दीपों की चमक फैलाने में ना तो काशीवासीयों की तरफ से ना ही प्रशाशन की तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। माना जा रहा है की इस बार काशी की देव दीपावली पर्व को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराए जाने का भी शीघ्र प्रयास किया जाएगा।

Dev Deepawali 2018

वहीं फूलों की सजावट से मथुरा की श्री कृष्ण जन्माष्टमी की झलक भी दिखेगी, मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने ये सूचना दी है कि सभी घाटों पर एक समान सजावट की जाएगी। काशी में देव दीपावली पर घाटों से लेकर विभिन्न स्थानों पर त्योहार जैसा माहौल बनाने के लिए राज्य सरकार ने पहली बार 50 लाख रुपए मुहैया कराई है।

Dev Deepawali 2018

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on