Friday, January 19

किस किस जगह इस्तेमाल हुआ है आपका आधार, इस तरह कर सकते है पता

आधार कार्ड भारत सरकार  द्वारा  भारत  के नागरिकों को जारी किया जाने वाला पहचान पत्र है। यह संख्या, भारत में कहीं भी, व्यक्ति की पहचान और पते का प्रमाण  होता है ।आज के समय में हर भारतीय नागरिक के लिए आधार कार्ड सबसे अहम दस्तावेज बन चूका है इसीलिए कहा जाता है हमारा आधार हमारी पहचान इसीलिए अगर आज हमे कोई भी जरूरी काम करना हो जैसे बैंक में खता खुलवाना हो, मोबाइल नंबर लेना हो आघार कार्ड होना अनिवार्य हो चूका है।

 

आज के समय में आधार कार्ड हमारे लिए जितना उपयोगी साबित हो रहा है वही इसके गलत इस्तेमाल होने की आशंका भी पैदा हो रही है क्योंकि आधार कार्ड से हमारे सारे दस्तावेजो को जोड़ा जा रहा है चाहे वो बैंक का खता हो या जमींन  के कागजात तो इसीलिए ये जरूरी हो गया है की आप को इस चीज की पूरी जानकारी हो की हमारा आधार कार्ड कहाँ कहाँ और किस काम के लिए इस्तेमाल हो रहा है और जोड़ा गया है।

आइये जानते है कैसे इस सुविधा का इस्तेमाल करना है

इसके लिए आपको सबसे पहले आपको uidai की वेबसाइट पर जाना होगा और यहां आपको ‘Aadhaar Authentication History’ का विकल्प दिखेगा। जैसे ही आप  इसपे क्ल‍िक करेंगे, आपके सामने एक नई विंडो खुल कर आयेगी इस विंडो पे आपको अपना आधार नंबर डालना है साथ ही नीचे दिया गया कैप्चा दर्ज करके कंटिन्यू कर देना है।

यह भी पढ़े : अगर आपके पास भी है पांच रुपये केे ये नोट तो आप भी बन सकते हैं लखपति

इसके बाद आपसे पुछा जायेगा की आपको कब से कब तक की जानकारी चाहिए आप उसमे जितने दिन तक की डिटेल चाहते है दर्ज कर दीजिये। उसके बाद आपको ओटीपी जनरेट करने का आप्शन दिखेगा  उस पर क्ल‍िक करना है.और आपके उस मोबाइल नंबर पर ओटीपी आयेगा जो नंबर आपके आधार के साथ रजिस्टर है। इसके बाद उस ओ टी पी इंटर करते ही जिस सीमा अवधी तक की जानकारी चाहते है वो सारी आपके सामने होगी। इस आधार के हिस्ट्री को देखकर अगर आपको किसी तरह की गडबड़ी की आशंका हो तो  आप इसकी शिकायत यूआईडीएआई से 1947 पर कॉल कर के कर सकते हैं।

दरअसल यूआईडीएआई आपका आधार से जुड़ा  सारा डाटा इस लिए पेश करता है क्योंकि जब भी कोई सम्बन्धीत व्यक्ति आपके आधार को यूज करता है तो इसे यूज करने के लिए उस व्यक्‍त‍ि को यूआईडीएआई को रिक्वेस्ट भेजनी होती है जो इस डिटेल को अपने पास सुरक्षित रख लेता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *