10 वीं मैथ्स के एग्जाम में सीबीएसई करेगा ये बड़ा बदलाव, छात्रों को मिलेगी अब ये सुविधा

सीबीएसई ( सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ) आने वाले वर्ष 2020 में शैक्षणिक स्तर से दसवीं कक्षा की परीक्षाओं में बड़ा बदलाव करने वाला है। सीबीएसई बोर्ड,कक्षा दस के छात्रों के लिए गणित की दो स्तरीय परीक्षा आयोजित करने वाली है। सीबीएसई अपनी तरफ से एक परिपत्र (सर्कुलर) जारी किया है जिसमें ये सूचना मिली है कि अगले साल से यानी की 2020 से गणित की दो स्तरीय परीक्षाएं होंगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गणित की परीक्षा का पहला स्तर – मानक जो कि मौजूदा सामान्य स्तर की परीक्षा होगी और दूसरी गणित – मूल ,जो आसान स्तर की गणित की परीक्षा होगी। उसमे ये बताया गया है कि गणित का मौजूदा स्तर और पाठ्यक्रम सामान्य ही रहने वाला है। उस परिपत्र में ये भी है कि राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा के अन्तर्गत दो स्तर कि परीक्षाओं से दो अलग – अलग तरह के छात्रों को लाभ तो होगा ही साथ ही इससे परीक्षाएं अलग अलग होंगी तो छात्रों के उपर तनाव भी कम होगा। उस परिपत्र में ये भी स्पष्ट रूप में लिखा गया है कि ये सर्वथा सच है कि छात्रों की सबसे मुश्किल परीक्षा के समय तनाव का ज्यादा स्तर होता है।

यह भी पढ़ें-CBSE 2019: सीबीएसई बोर्ड एग्जाम में होने वाले हैं ये 6 बड़े बदलाव, आज ही जानें

उसमें ये भी कहा गया है कि इस महत्वपूर्ण बात को ध्यान में रखते हुए बोर्ड परीक्षाओं के माध्यम से हुए इस सत्यापन के बाद सीबीएसई बोर्ड ने छात्रों के लिए गणित की परीक्षा दो स्तरों में आयोजित करने के लिए विचार कर फैसला लिया है। यह फैसला 2020 के मार्च महीने तथा उसके बाद समाप्त होने वाले शैक्षणिक सत्रों पर लागू होगा।

आपको बता दें कि स्टैंडर्ड लेवल उन सभी छात्रों को ध्यान में रख कर बनाया गया है जो की अपनी आगे की पढ़ाई गणित विषय ले कर करना चाहते हैं और दूसरी तरफ बेसिक स्तर पर परीक्षा उनके लिए होगी जो कि गणित में उच्च शिक्षा नहीं लेना चाहते।

परीक्षा का फॉर्म भरते समय ही छात्र स्टैंडर्ड या बेसिक गणित में से किसी एक का विकल्प चुन सकते हैं। अगर कोई छात्र गणित में फेल हो जाता है तो कंपार्टमेंट परीक्षा में अपनी गणित की परीक्षा का स्तर बदल भी सकता है। यदि कोई छात्र बेसिक गणित को चुना है और वह परीक्षा पास कर लेता है तो वो अपना स्तर सुधारने के लिए कंपार्टमेंट की परीक्षा में गणित विषय में स्टैंडर्ड गणित की दोबारा परीक्षा दे कर अपने स्तर को सुधार सकता है।

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on