Wednesday, November 22News That Matters

News

बड़ी खबर: हो गया कंफर्म, एनडीए में शामिल होंगे नीतीश!

बड़ी खबर: हो गया कंफर्म, एनडीए में शामिल होंगे नीतीश!

News
बिहार की सियासत पर हम बारीकी से नजर बनाए हुए हैं। जिस तरह के हालात वहां की महागठबंधन सरकार में दिख रहे हैं उस से कई तरह की संभावनाओं को जन्म मिल रहा है। बिहार की राजनीति में एक अलग ही तरह का माहौल दिख रहा है। महागठबंधन में शामिल जेडीयू, आरजेडी और कांग्रेस के बीच में जिस तरह से दरारें आ रही हैं उसके बाद से तो ये साफ हो गया है कि सियासी महत्वकांक्षाएं महागठबंधन पर भारी पड़ रही है। इन सबके बीच सीएम नीतीश कुमार और बीजेपी के बीच बढ़ती नजदीकी किसी बड़े फैसले का आहट दे रही हैं। नीतीश के वापस एनडीए में शामिल होने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। अब जी न्यूज ने भी इस खबर को प्रमुखता से उठाया है। जी न्यूज की खबर के मुताबिक नीतीश बहुत जल्द एनडीए में शामिल हो सकते हैं। जी न्यूज की खबर के मुताबिक एक बार फिर से नीतीश कुमार और पीएम मोदी के बीच रिश्ते सामान्य हो सकते हैं। नीतीश एनडीए में शामिल हो सकते
सुप्रीम कोर्ट के कार्यवाही पर अब होगी सीसीटीवी की नजर

सुप्रीम कोर्ट के कार्यवाही पर अब होगी सीसीटीवी की नजर

News
लम्बे समय के बाद अब आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने कोर्ट के अंदर कैमरा लगाने की अनुमति दे दी। सुप्रीम कोर्ट ने फैसला देते हुए कहा कि कोर्ट की कार्यवाही को रिकॉर्ड करने के लिए सभी राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश के कम से कम 2 जिलों की अदालतों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएं। कोर्ट के इस फैसले के बाद अब कोर्ट की कार्यवाही कैमरे में रिकॉर्ड की जा सकेगी। न्याय में पारदर्शिता को ध्यान में रख यह फैसला लिया गया। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जस्टिज आदर्श.के.गोयल और उदय.यू.ललित की बेंच ने फैसला सुनाते हुए देश की 24 हाईकोर्ट को आदेश दिया कि वे तीन महीने के अंदर यह सुनिश्चित करें कि राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेशों की कम से कम दो जिला एवं सत्र न्यायालयों के अंदर और बाहरी परिसर में बगैर अॉडियो के सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएँ। सरकार और न्यायपालिका के बीच इस मसले को लेकर पहले भी बातचीत होती रही है। अगस्त
यूपी नहीं बल्कि इन राज्‍यों के लोग खाते हैं सबसे ज्‍यादा नॉनवेज, जानें कौन सा राज्‍य है नंबर 1

यूपी नहीं बल्कि इन राज्‍यों के लोग खाते हैं सबसे ज्‍यादा नॉनवेज, जानें कौन सा राज्‍य है नंबर 1

News
यूपी में योगी आदित्‍यनाथ के सीएम बनने के बाद बूचड़खानों पर कार्रवाई होनी शुरू हो गई है। लखनऊ से लेकर इलाहाबाद तक और नोएडा से लेकर बनारस तक बूचड़खानों को बंद किया जा रहा है। इसके चलते पूरा मामला धीरे-धीरे राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। यहीं नहीं कांग्रेस के कुछ सांसद पूरे मामले को संसद में भी उठा चुके हैं। मीडिया भी बूचड़खानों को बंद करने और जारी रखने के मसले पर अपनी अलग-अलग राय दे रहा है। फिलहाल पूरा मामला जहां एक तबके की रोजी-रोटी से जुड़ा हुआ है वहीं दूसरी ओर एक तबके की आस्‍था का सवाल है। माना जा रहा है कि इसके बाद देश में वेज बनाम नॉन वेज की बहस और तेज हो सकती है। हालांकि भारत भले ही दुनिया भर में वेजिटेरियन कंट्री की छवि रखता हो, लेकिन सच तो यह है कि 15 साल से ऊपर की देश की 71 फीसदी आबादी मीट या नॉनवेज का सेवन करती है। यह हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि केंद्र सरकार की सैम्‍पल रजिस्‍ट्रे
योगी इफ़ेक्ट: इंस्पेक्टर नागेश मिश्रा हुए ससपेंड, जानें क्‍या हुआ था इस इंस्‍पेक्‍टर के साथ

योगी इफ़ेक्ट: इंस्पेक्टर नागेश मिश्रा हुए ससपेंड, जानें क्‍या हुआ था इस इंस्‍पेक्‍टर के साथ

News
जहां एक ओर सीएम के निर्देश के बाद एसएसपी समेत पुलिस के तमाम आलाधिकारी स्वच्छता अभियान में शामिल हो रहे हैं वहीं, पर राजधानी के थानेदार शायद किसी के भी आदेश मानने को तैयार नही हैं और शनिवार को हद तो तब हो गयी जब एक थानेदार ने मुंह में तम्बाकू दबाकर ही स्वच्छता की शपथ दिला डाली। इसकी जानकारी जब एसएसपी मंजिल सैनी को हुई तो उन्होने इस थानेदार को सस्पेंड करने में तनिक भी देर नही लगायी साथ ही एसएसपी ने अन्य थानेदारों को चेतावनी भी दे डाली कि अगर नियम का उल्नघन हुआ तो बक्शा नही जायेगा। पीस पार्टी के अध्यक्ष डा. अयूब पर एक युवती द्वारा रेप का आरोप लगाये जाने के बाद उन्हे बचाने के आरोप में चर्चा में आये इंस्पेक्टर मडियांव नागेश मिश्रा तम्बाकू व मशाले का सेवन करने के लिए भी जाने जाते हैं और उन्हे थाने में तम्बाकू दबाये अक्सर देखा जाता रहा है। सीएम के आदेश के बाद प्रदेश सरकार के सभी मंत्री व
पीएम मोदी के मन की बात इस बार कहा कुछ खास, स्टूडेंट्स को भी दिये कई अहम सलाह

पीएम मोदी के मन की बात इस बार कहा कुछ खास, स्टूडेंट्स को भी दिये कई अहम सलाह

News
पीएम मोदी ने रविवार को 30वीं और यूपी चुनाव के नतीजे आने के बाद पहली बार मन की बात की. पीएम मोदी ने बोर्ड एग्जाम की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स को कई अहम सलाह देते हुए इस कार्यक्रम की शुरुआत की. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने बांग्लादेश को उसके स्वतंत्रता दिवस को शुभकामनाएं देते हुए उसे मजबूत सहयोगी बताया. पीएम ने अमर शहीदों भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को याद करते हुए उन्हें देश के लिए प्रेरणा स्रोत बताया. चंपारण सत्याग्रह का जिक्र पीएम ने 'मन की बात' में कई मुद्दों पर विस्तार से बात की. उन्होंने बच्चों की चल रही परीक्षाओं से लेकर चंपारण सत्याग्रह, न्यू इंडिया, ट्रैफिक नियम, डिजिधन योजना, भोजन की बर्बादी, डिप्रेशन और अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर बात की. पीएम ने चंपारण सत्याग्रह का जिक्र करते हुए कहा, इस आंदोलन से हमें संघर्ष और सृजन की प्रेरणा मिलती है. यह आंदोलन देश में एक बड़ा बदलाव था. अं
सीएम योगी की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी है इस IPS के ऊपर, जानें कैसी है उनकी पर्सनल लाइफ स्टाइल

सीएम योगी की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी है इस IPS के ऊपर, जानें कैसी है उनकी पर्सनल लाइफ स्टाइल

News
सीएम योगी आदित्यनाथ इन दिनों फुल एक्शन में हैं। वे अभी अपने ऑफीशियल रेसिडेंस में शिफ्ट नहीं हुए हैं, बल्कि वीवीआईपी गेस्ट हाउस में रह रहे हैं। योगी नवरात्र के पहले दिन सीएम आवास में शिफ्ट होंगे। ऐसे में उनकी सिक्युरिटी के लिए हरदम अलर्ट रहती हैं लखनऊ की SSP मंजिल सैनी। इसी लेडी कॉप के बारे में आज आपको बताने जा रहे है।     मंजिल सैनी देश की पहली ऐसी महिला हैं, जिसने शादी के बाद IPS के लिए क्वालिफाई किया। 2005 बैच की IPS मंजिल सैनी की गत 9 मार्च को 17वीं मैरिज एनिवर्सरी थी।     यूपी असेंबली इलेक्शन की वजह से मंजिल इस खास ओकेजन को हसबैंड जसपाल दहल के साथ सेलिब्रेट तक नहीं कर पाईं। जसपाल अपने दोनों बच्चों के साथ दिल्ली NCR में रहते हैं। उनका नोएडा में एक्सपोर्ट का बिजनेस है।     मंजिल सैनी जहां सीएम योगी की सिक्युरिटी में बिज
योगी के सीएम बनते ही लखनऊ के मशहूर ‘टुंडे कबाबी’ पर मंडराने लगा खतरा

योगी के सीएम बनते ही लखनऊ के मशहूर ‘टुंडे कबाबी’ पर मंडराने लगा खतरा

News
यूपी में योगी सरकार आने के बाद अवैध बूचड़खाने बंद कराने का काम जोर-शोर से चल रहा है, जिसके चलते मीट और बीफ की सप्लाई में भारी गिरावट आ गई है। इस वजह से लखनऊ की मशहूर 'टुंडे कबाबी' दुकान 110 सालों में पहली बार बुधवार को बंद रही। माल खत्म होने के कारण बंद हुई दुकान की वजह से इस दुकान के कबाब पसंद करने वालों को मायूसी हाथ लगी। हालांकि कुछ समय के बाद दुकान फिर से खुल गई।   टुंडे कबाबी के मालिक अबू बकर ने गुरुवार को कहा, 'बूचड़खाने बंद होने की वजह से मटन और भैंसे के मीट की जबरदस्त कमी हो गई है, जिसकी वजह से मेरी दुकान पर अब सिर्फ चिकन ही बिक रहा है।' हालांकि लखनऊ की इस मशहूर दुकान के मालिक ने यह भी कहा कि अवैध बूचड़खानों को बंद करने का सीएम का फैसला बहुत अच्छा है, लेकिन उन्होंने सीएम से अनुरोध किया कि वह लीगल और लाइसेंस वाले बूचड़खानों पर पाबंदी न लगाएं। 1905 में लखनऊ के अकबरी