सर्वे के अनुसार, इस बीज में हैं कैंसर को जड़ से खत्म करने की ता‍कत

देखा जाए तो अाज हर तीसरे इंसान को कैंसर की बिमारी है, ऐसा देखने को मिलता है की हर कोई किसी ना किसी बीमारी से ग्रस्त होता है मगर उन सभी में ज़्यादातर की संख्या कैंसर पीड़ित की है औऱ इस बहुतेरे इस बीमारी से परेशान है। कुछ तो इस बीमारी के शुरु होते ही खुद को खत्म कर देते हैं। लेकिन अब इससे घबराने की या चिंता करने की कोई जरुरत नही है। कैंसर के मरीजों पर 25 वर्षों के शोध के बाद कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी के मेडिकल फिजिक्स एवं साइकोलॉजी के सीनियर प्रोफेसर डॉ. हर्डिन बी जॉन्स का कहना है कि कैंसर के इलाज के तौर पर प्रयोग की जाने वाली कीमोथैरेपी कैंसर पीड़ित मरीज को दर्दनाक मौत की तरह ले जा सकती है।

इसके बजाए प्राकृतिक तौर पर अपनाई जाने वाली घरेलू दवा, कैंसर के इलाज में अधिक कारगर साबित होती है, वह भी बगैर किसी साइड इफेक्ट के. हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसी दवा के बारे में जो कैंसर कोशिकाओं को तेजी से समाप्त करने में बेहद कारगर साबित हो सकती है।

हाल ही में हुए एक शोध में यह बात साबित हुई है कि अंगूर के बीजों का सत्व या अर्क ल्यूकेमिया और कैंसर के अन्य प्रकारों को बहुत ही सकारात्मक ढंग से ठीक करने में बेहद मददगार साबित होता है।

शोध में यह साबित हो चुका है कि अंगूर के बीज सिर्फ 48 घंटे में हर तरह के कैंसर को 76 प्रतिशत तक विकीर्ण करने में सक्षम है। अमेरिकन एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित एक कैसर रिसर्च के अनुसार अगूर के बीज में पाया जाने वाला जेएनके प्रोटीन, कैंसर कोशिकाओं की विकीर्णों को नियंत्रित करने का काम करता है। कैंसर के इलाज के तौर पर अंगूर के बीज काफी कारगर घरेलू उपाय है।

Share this on

Leave a Reply