Monday, January 22

Business

हो जाइए तैयार, बहुत जल्द बदलने वाला है आपका मोबाइल नंबर

हो जाइए तैयार, बहुत जल्द बदलने वाला है आपका मोबाइल नंबर

Business
देश मे जितनी तेजी से संचारक्रांति आ रही है उतनी ही तेज़ी से टेलिकॉम कंपनी भी आए दिन नए प्रयोग और सुविधाएं देती जा रही है। कई सारे छोटे छोटे बदलाव के बाद अब टेलीकॉम कंपनीयां एक बड़ा बदलाव लाने जा रही है। वर्षों से मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर रहे लोगों के नंबर अब बदलने वाले हैं। बढ़ते उपभोक्ताओं को देखते हुए दस अंकों की सीरिज ही खत्म होने वाली है। फिर ऐसी स्थिति में 11 डिजीट करने पर विचार किया जा रहा है। जल्द ही मध्यप्रदेश के कुल 6 करोड़ 24 लाख 59 हजार 204 से अधिक मोबाइल उपभोक्ताओं के नंबर बदलने जाएंगे। इसका असर पूरे देश के नंबरों समेत मध्यप्रदेश के उपभोक्ताओं पर भी पढ़ेगा।     आकड़ों के माने तो फिलहाल 125 करोड़ की आबादी वाले देश में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 103 करोड़ के पार निकल गई है। इसके साथ ही 30 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन भी हैं।माना जा रहा है की 2016 के अंत तक
जब बनाना हो पहला रेज़्य़ूमे

जब बनाना हो पहला रेज़्य़ूमे

Business
22 साल का रोहन जो कॉलेज रोंक बैंड मे लीड सींगर है और इंटर कॉलेज थिएटर फेस्टिवल का विनर भी उसने अपनी सफलाताओं को अपने रेज्यू़म में ब्ल्यू ग्लिटर पेन से लिखा था । उसका सोचना था कि इससे एंप्लॉयर प्रभावित होकर उसे तुरंत ही जॉब के लिए चुन लेंगे। उसे यह नही पता था कि डाटा एंट्री जैसी जॉब्स के लिए इन सफलताओं की कोई जरूरत नही है। रेज्यूम पहली बार बनाने में अक्सर ऐसी गलतिंयाँ हो जाती है जिससे उनके जॉब और करियर दोनो पर असर पडता है। एक प्रभावी रेज्यूम बनाना भी एक कला है इससे संबन्धित आवश्यक जानकारियाँ निम्न है। 1. रैज्यूम मे कैसी जानकारियां होनी चाहिए इसके लिए सबसे पहले कुछ पुराने और बेहतर बने रेज्यूम से हेल्प ले लें। 2. रेज्यूम को एम एस आफिस के वर्ड के फाइल पर ही बनाये और प्रोफेशनल फॉन्टस(जैसे - टाइम्स न्यू रोमन एण्ड एरियल) का ही यूज करें और रेज्यूम का पेज सफेद ही रखें। 3. रेज्यूम के लिए ए-
छोटी बचत से करें बड़ी शुरुआत

छोटी बचत से करें बड़ी शुरुआत

Business
सीमित आमदनी, बढती महंगाई और ढेर सारी जरूरतें....आज का आम मध्यवर्गीय व्यक्ति इन्हीं तीन शब्दों के साथ जूझ रहा है। इस हालात को पूरी तरह बदलना नामुमकिन है, पर आकस्मिक परेशानियों से बचने के लिए इमर्जेंसी फंड बनाना बहुत जरूरी है। यह तभी संभव होगा जब साल की शुरुआत से ही अपने अनावश्यक खर्चों में कटौती करते हुए परिवार की वित्तीय योजना कुछ इस ढंग से बनाई जाए कि उसमें बचत की गुंजाइश हमेशा बनी रहे। आइए सखी के साथ जानें इमर्जेंसी फंड को मजबूत बनाने के लिए कुछ खास तरीके। पहले प्लान करें इमर्जेंसी फंड बनाने से पहले एक ऐसी सूची बनाएं, जिसमें हर महीने होने वाली कुल आमदनी और कुछ खर्च का विस्तृत विवरण हो। इस सूची में कार और होमलोन के लिए चुकाई जाने वाली िकस्तें भी शामिल करें। सभी जरूरतों को अनिवार्य, आपातकालीन और टालने योग्य खर्चों की तीन श्रेणियों में विभाजित करें। ईएमआइ की िकस्तों और अनिवार्य घरेलू खर्च