टाटा ओपन का बचाव करने उतरेंगे बोपन्ना और नेदुंचेझियान

गत चैम्पियन भारत के रोहन बोपन्ना और जीवन नेदुंचेझियान की जोड़ी यहां होने वाले टाटा ओपन के पुरूष युगल वर्ग में आपने खिताब का बचाव करने उतरेगी। पुणे के महालुंगे बालेवाड़ी स्टेडियम में 30 दिसंबर से छह जनवरी तक खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट के मुख्य ड्रा के पुरूष युगल मुकाबलों में पांच भारतीय खिलाड़ी अपनी किस्मत आजमाऐंगे। टाटा ओपन महाराष्ट्र के आयोजकों ने एटपी 250 वर्ल्ड टूर टूर्नामेंट के ड्रा की आज घोषणा की।

रोहन-नेदुंचेझियान के अलाव इसमें पिछले साल के उपविजेता पूरब राजा और दिविज शरण इस बार अलग-अलग जोड़ीदारों के साथ उतर रहे हैं। राजा ने अनुभवी लिएंडर पेस के साथ जोड़ी बनायी है तो वहीं दिविज अमेरिका के स्कॉट लिप्स्की के साथ उतरेंगे। विश्व रैंकिंग में 18वें स्थान पर काबिज 36 वर्षीय बोपन्ना ने करियर में अब तक 17 युगल खिताब जीते हैं। इस भारतीय खिलाड़ी ने इस साल फ्रेंच ओपन के रूप में अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब मिश्रित युगल वर्ग में गैब्रिएला दाब्रोवस्की के साथ जीता।

यह भी पढ़े :-धोनी की पावरफुल हेलिकाप्टर शॉट्स के बीच इस क्रिकेटर का पूरा हो गया खास सपना

बोपन्ना और नेदुंचेझियान की जोड़ी ने इस साल की शुरूआत में शरण और राजा की जोड़ी को हराकर चेन्नई ओपन का खिताब अपने नाम किया था। इस जीत से पहले नेदुंचेझियान दो साल के करियर में तीन युगल खिताबों को अपने नाम करने में कामयाब रहे थे। यह जोड़ी एक बार फिर से पिछली सफलता को दोहराना चाहेगी। शरण के लिये यह साल अब तक अच्छा रहा है। उन्होंने साल का अपना तीसरा खिताब एटीपी यूरोपियन ओपन को लिप्स्की के साथ जीता था।

पेस-राजा की जोड़ी ने भी इस साल दो खिताब जीतकर लय में होने के संकेत दिये हैं। दिलचस्प बात यह है कि 2017 चेन्नई ओपन में पेस (एंड्रेसा के साथ) पहले दौर में राजा-शरण से हारकर बाहर हो गये थे। पेस एटीपी इंडियन ओपन में अब तब 18 बार उतरे हैं जिसमें उन्होंने महेश भूपति के साथ मिलकर पुरूष युगल में 1997, 1998, 1999, 2002 और 2011 में जीत दर्ज की। पिछले बार उन्होंने यहां 2012 में जान्को टिप्सारेविक के साथ खिताब अपने नाम किया था। शीर्ष ड्रा में विश्व रैंकिंग में 13वें स्थान पर काबिज फ्रांस के पियरे ह्यूगस हर्बर्ट भी इस टूर्नामेंट में दिखेंगे, जो जोनाथन आइस्सेरिक के साथ जोड़ी बना कर उतरेंगें।

टूर्नामेंट के निदेशक प्रशांत सुतार ने कहा, ‘‘टाटा महाराष्ट्र ओपन के पुरूष युगल में हमारे पास शानदार खिलाड़ी है। इसमें पेस और बोपन्ना जैसे दिग्गज खिलाड़ी भी शामिल हैं जो साल दर साल अपने खेल में सुधार कर रहे। शारण, राजा और जीवन (नेदुंचेझियान) की मौजूदगी से टूर्नामेंट में भारतीय खिलाड़ियों का मजबूत दल है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ वास्तव में, हमारे पास विकल्प के तौर पर विष्णु वर्धन और श्रीराम बालाजी भी हैं, अगर वे इसमें शामिल होते है तो टूर्नामेंट के इस वर्ग में सात भारतीय खिलाड़ी हो जायेंगे। यह भारतीय खिलाड़ियों और भारतीय टेनिस के लिए अच्छा है।’’
Share this on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *