अपनी नीली आंखो से दुनिया को दीवाना बनाने वाले ‘पाकिस्तानी चायवाले’ का चौकाने वाला सच आया सामने

आपको पाकिस्तान को वो चायवाला याद है, जो अपनी नीली आंखों की वजह से मशहूर हो गया था। सोशल मीडिया पर इस पाकिस्तानी चायवाले की फोटो खूब वायरल हुई थी। लोगों ने इस स्मार्ट चायवाले की खूब तारीफ की और इसकी फोटो को खूब पसंद किया। लाखों लड़कियां उस चाय वाले की दीवानी हो गईं और उसे सोशल मीडिया के माध्यम से शादी के लिए प्रपोज़ करने लगी। उन तस्वीरों से अरशद को काफ़ी फ़ायदा हुआ और उसे मॉडलिंग और म्यूज़िक एल्बम के कई कॉन्ट्रैक्ट मिल गए।

वही चाय वाला एक बार फिर चर्चा में है, लेकिन इस बार चर्चा की वजह उसकी ख़ूबसूरती नहीं बल्कि किसी और वजह से। आपको बता दे की हाल ही में इस नीली आंखों वाले चायवाले को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है और उसका एक बड़ा सच सबके सामने आया है। जिस अरशद खान को लोगों ने पाकिस्तानी चायवाले के नाम से मशहूर कर दिया दरअसल वो पाकिस्तानी है ही नहीं। बताया जा रहा है की अरशद खान पाकिस्तान में अवैध तरीके से रह रहा था, असल में वो अफ़गानिस्तान का नागरिक है। पाकिस्तानी संस्था एनएडीआरए (नेशनल डाटाबेस एंड रजिस्‍ट्रेशन अर्थॉरिटी) ने ख़ुद इस बात की पुष्टि की है।

असल में इस झूठ से पर्दा तब उठा जब अरशद अपना पासपोर्ट बनवाने एनएडीआरए पहुंचे। वहां जांच-पड़ताल में सामने आया कि अरशद पाकिस्‍तान के नागरिक नहीं हैं। जांच में ये भी पता चला कि अरशद ने अपनी पहुंच का इस्तेमाल करके पाकिस्तान के लिए फर्ज़ी मतदाता पहचान पत्र भी बनवा लिया था। अब पाकिस्तानी अधिकारियों का कहना है कि वो उस चायवाले के खिलाफ़ क़ानूनी कार्यवाही करेंगे।

पाकिस्तान में अफगानिस्तान के उच्चायुक्त डॉ उमर जाखीलवाल ने भी इस बात की पुष्टि की है और एक ट्विट कर इस कंफर्म किया है। हालांकि अब यह तो साफ हो गया है कि अरशद गैरक़ानूनी ढंग से पाकिस्तान में रह रहा था, मगर अब देखना यह होगा कि पाकिस्तानी अधिकारी उसके खिलाफ़ क्या कार्यवाही करते हैं। खैर आपको बता तक की इस बात की अरशद खान ने इस तरह का झूठ आखिर किस वजह से बोला इसका खुलासा अभी तक नहीं हो पाया है।

Share this on

Leave a Reply