Thursday, December 14

बॉलीवुड का काला सचः बिन बताए 14 साल की लड़की से 5 मिनट तक किस करता रहा हीरो

1960-1970 के दशक की फिल्मों आपको अक्सर देखने को मिलेगा जब रोमांस को गुलाब के फूलों के टकराने, झरनों, पंक्षियों के चोंच लड़ाने और खौलते हुए दूध के माध्यम से पर्दे पर उतारा जाता था. लेकिन उसी दौर में एक अभिनेत्री हुईं, ‌जिनके बारे में चर्चा उड़ी कि उनकी आने वाली फिल्‍म में एक करीब पांच मिनट का किस‌िंग सीन दिखने वाला है. फिल्म रिलीज नहीं हुई, इससे पहले ही उस अभिनेत्री को इतने काम मिलने और मीडिया में कवरेज मिलने लगी कि लोगों को लगा कि यह उसने जानबूझ कर किया. लेकिन अभिनेत्री आज भी यही बात कहती है. क्या हुआ था उस दिन. आपको जानकर हैरानी होगी कि एक 14 साल की लड़की को बिना बताए फिल्म के सेट पर एक हीरो ने सहसा बाहों में भर लिया. और उसके होठों पर अपने होंठ रख दिए.

 

 

यह करने से पहले डायरेक्टर ने पूरे रवायत के साथ रन कैमरा… वन, टू, थ्री…. ऐक्‍शन बोला था. 14 साल की लड़की फिल्म की हीरोइन थी. ऐसे में वह चाहकर भी हीरो को धक्का देखकर खुद से दूर नहीं कर पाई. हीरो करीब 5 मिनट तक लड़की के साथ किस करता रहा. पूरे सेट मौजूद लोग तमाशा देखते रहे. सीन खत्म हुआ तो हीरोइन आंखों में आंसू भरे भागते हुए अपने मेकअप रूम चली गई. दरअसल, यह कहानी है अभिनेत्री रेखा की. जिसके बारे में विस्तार से किताब रेखाः दी अनटोल्ड स्टोरी में लेखक यासिर उस्मान ने लिखा है.

लेखक के अनुसार निर्माता कुलजीत पाल और अभिनेता बिस्वजीत को हर हाल में एक कामयाब फिल्म की जरूरत थी. बंबई के नामी महबूब स्टूडियो में इन दोनों की फिल्म “दो शिकारी” की शूटिंग चल रही थी. राजा नाथवे इसके सिनेमेटोग्राफर और निर्देशक दोनों थे. कुलजीत, बिस्वजीत और राजा ने मिलकर एक प्लान बनाया. जिसका शिकार एक 14 साल की लड़की होने वाली थी. जो अपनी पारिवारिक जरूरतों के कारण न चाहते हुए भी इस फिल्म की हीरोइन बनना स्वीकार की थी.

उस दिन रेखा और बिस्वजीत के रोमांटिक सीन फिल्माया जाना था. शूटिंग से पहले सबकुछ तय हो चुका था. कैमरा हर पल को कैद करने के लिए तैयार हो चुका था. जैसे ही निर्देशक ने राजा नाथवे ने एक्‍शन बोला, बिस्वजीत ने रेखा को अपनी बाहों भर लिया. और अपने होंठ रेखा के होंठों से लगा दिए. अचानक हुए इस किस रेखा सन्न थीं. इस किस का कोई जिक्र उनसे नहीं किया गया था. लेकिन कैमरा रोल होता रहा. न निर्देशक ने कट बोल रहे थे, न हीरो बिस्वजीत उन्हें छोड़ रहे थे. लेखक यासिर उस्मान अपनी किताब रेखाः दी अनटोल्ड स्टोरी में लिखते हैं, ये सीन थोड़ा-बहुत नहीं बल्कि तकरीबन पांच मिनट तक चलता रहा. पांच मिनट तक बिस्वजीत रेखा को किस करते रहे. यूनिट के लोगों ने सीटियां और तालियां बजानी शुरू कर दीं. वो सीटियां काफी बाद तक रेखा के जेहन में गूंजती रहीं. रेखा की आंखें बंद थीं, मगर उनमें आसूं भरे थे.

बाद में जब ‌बिस्वजीत से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने यह कहकर किनारा कर लिया कि वह तो अभिनेता हैं, जो निर्देशक ने उन्हें सीन समझाया था, उन्होंने सबकुछ वैसा ही किया था. मेरी कोई गलती नहीं थी. वह मेरे मजे के लिए नहीं था. लेकिन रेखा गुस्सा थीं. उन्हें लगता है उनके साथ धोखा हुआ था. जबकि कुलजीत पाल ने एक अन्य इंटरव्यू में दावा किया था, “रेखा वहां थीं, जब सीन पर चर्चा हो रही थी. उन्हें किसिंग सीन करने में कोई दिक्कत नहीं थी. उन्होंने कहा था कि वह किस कर लेंगी. मैंने उनसे साफ कहा था वह कुछ ऐसा करने जा रही हैं, जो हिन्दी फिल्मों की हीरोइनें नहीं करतीं. उन्हें सीन के बारे में सबकुछ पता था.” लेकिन रेखा हमेशा यही कहती रहीं कि इसके बारे में उन्हें कुछ नहीं बताया गया था. बल्कि सीन के बाद रेखा गुस्से से भरी हुई थीं. ये धोखा था. उनका शोषण था. शायद मन में ये सवाल भी था कि ये कैसे लोग थे जो अपने फायदे के लिए एक 14 साल की लड़की का इस्तेमाल करने से पहले जरा भी नहीं ठिठके!

 

लेकिन रेखा खामोश रहीं. उन्हें पता था कि अगर वो हंगामा करेंगी तो इसका अंजाम अच्छा नहीं होगा. उन्हें फिल्म से निकाल दिया जाएगा. उनका कैरियर शुरू होने से पहले ही खत्म हो जाएगा. जैसा उस वक्त समाज में होता था कमोबेश आज भी होता है, उनकी खामोशी को उनकी हां (मर्जी) मान लिया गया। बाद में लाइफ जैसी और टाइम जैसी मैगजीन ने रेखा को मनाया और कवर फोटो किस करते हुए खींची. इसके बाद सबको लगने लगा कि रेखा एक चालू किस्म में लड़की हैं जो कुछ भी कर सकती है. लेखक के अनुसार उन्होंने जब मशहूर फिल्‍म पत्रकार जेरी पिंटो से फिल्‍म इंडस्ट्री में हीरोइनों के होने वाले शोषण के बारे में बात की तो उन्होंने चौंकाने वाली बातें बताईं. उनके मुताबिक कई चर्चित अभिनेत्रियों का शुरुआती दिनों में शोषण हुआ है. इनमें नितू सिंह, रेखा जैसे नाम हैं. यही नहीं, वो कहते हैं गुरु दत्त ने वहीदा का शोषण किया था. तब वहीदा महज 16 साल की थीं. तकनीकी तौर पर तब वह नाबालिग थीं. अगर इसमें उनकी मर्जी थी भी तब भी यह शोषण के दायरे में आएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: