Author: Anisha Yadav

क्‍या आपको पता है, आखिर रविवार को ही क्‍यों ज्यादातर जगहों पर होती है छुट्टी? जानें इसकी वजह

क्‍या आपको पता है, आखिर रविवार को ही क्‍यों ज्यादातर जगहों पर होती है छुट्टी? जानें इसकी वजह

Interesting, OffBeat
आपने कभी सोचा है की आखिर क्यों रविवार के दिन ही ज्यादा जगहों पर होती है छुट्टी, जानें इसकी वजह क्या है और क्यों सप्ताह शुरू होते ही हम सभी को रविवार का बेसब्री से इंतजार रहता है क्योंकि इस दिन हम सभी के स्कूल, कॉलेज और ऑफिस की छुट्टी रहती है। हालांकि ऐसा नहीं है की सारे देशो में रविवार को छुट्टी मनाई जाती है लेकिन ज्यादातर देशो में रविवार के दिन छुट्टी मनाई जाती है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की पोरे सप्ताह में सन्डे को ही क्यों चुना गया छुट्टी का दिन, इसके पीछे का कारण क्या है। तो आइये हम आपको बताते है रविवार के दिन छुट्टी क्यों होती है और इसके पीछे का कारण क्या है। दरअसल आधिकारिक रूप से 10 जून 1890 को रविवार को छुट्टी के रूप में स्‍वीकार किया गया था अग्रेजी हुकूमत के समय मिल मजदूरों को सप्‍ताह में सातों दिन काम करना पडता था तो मजदूरों के नेता नारायण मेघाजी लोखंडे ने
आज के दिन भूल से भी नहीं तोड़ना चाहिए तुलसी का पत्ता, वरना छा जाती है कंगाली

आज के दिन भूल से भी नहीं तोड़ना चाहिए तुलसी का पत्ता, वरना छा जाती है कंगाली

Religion
हमारे भारतीय संस्कृति में हर काम करने के लिए एक शुभ तिथि या समय तय किया गया है और यदि हम उस समय से हटकर किसी भी काम को करते हैं तो इससे आपको भरी नुक्सान चुकाना पड़ सकता है इसीलिए यदि हम कोई शुभ कार्य करने के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले इसके लिए सही समय का पता लगते हैं जिसे शुभ मुहूर्त कहा जाता है। शास्त्रों के अनुसार शुभ मुहूर्त में काल के अवयवों के रूप में तिथि, वार, नक्षत्र, योग एवं करण आदि को महत्व दिया जाता है। इनमें से वार सर्वाधिक सुगम एवं सरल अवयव है, इसलिए इसे हर व्यक्ति अपने उपयोग में अपनी तरह लेता है और उसी अनुसार कार्य करने लगता है। कुछ ऐसी ही बातें हमारे हिन्दू धर्म में तुलसी के पौधे से भी जुड़ी है जिसके बारे में आज हम आपको कुछ विशेष बताएँगे। ठीक इसी तरह से हमारे ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार सप्ताह के सात दिनों में से कुछ दिनों को क्रूर एवं अशुभ माना जाता है और ये दिन ह
अगर आप भी करते हैं अंडे का सेवन तो जान लें ये बात, 99% लोगों को नहीं है पता

अगर आप भी करते हैं अंडे का सेवन तो जान लें ये बात, 99% लोगों को नहीं है पता

Health & Fitness
आज के समय में अगर कोई व्यक्ति सबसे अधिक चिंतित है तो वो है अपने स्वस्थ के प्रति क्योकि यदि स्वस्थ बिगड़ जाता है तो सब कुछ वही ख़त्म हो जाता है इसीलिए हम सभी अच्छे से भोजन करते है पौष्टिक आहार लेते है व्यायाम आदि भी  करते हैं और कुछ लोग मांस मछली का भी सेवन करते हैं क्योंकि इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन पाया जाता है जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाने में काफी सहयोग करता है | इन सारे खाद्य पदार्थों में से अंडा  जो की  हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं,  आज के समय में छोटे से लेकर बड़े व्यक्ति सभी अंडा खाना पसंद करते हैं, क्योंकि अंडा हमारे शारीरिक कमजोरी को दूर करने के साथ-साथ हमारे शरीर में कैलोरी की मात्रा भी पूर्ण करता है, लेकिन अगर आप अंडा खाते हैं और उसके बारे में जो हम बताने जा रहे हैं वह नहीं जानते हैं, तो आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है। यह भी पढ़े : अगर आप भी खाते हैं मुर
शुरू हो गया फाल्गुन का महिना, करेंगे ये उपाय तो आपको हर तरह की समस्‍या से मिलेगा छुटकारा

शुरू हो गया फाल्गुन का महिना, करेंगे ये उपाय तो आपको हर तरह की समस्‍या से मिलेगा छुटकारा

Religion
हिंदू पंचांग के अनुसार चैत्र माह से प्रारंभ होने वाले वर्ष का बारहवाँ तथा अंतिम महीना जो ईस्वी कलेंडर के मार्च  माह में पड़ता है। इसे वसंत ऋतु का महीना भी कहा जाता है क्यों कि इस समय भारत में न अधिक गर्मी होती है और न अधिक सर्दी। फाल्गुन महीने की पूर्णिमा को फाल्गुनी नक्षत्र होने के कारण इस महीने को फाल्गुन के नाम से जाना जाता है इस महीने का शुरुआत होते ही चरों ओर हर्षोल्लास का माहौल बन जाता है इसीलिए इस महीने को आनंद और उल्लास का महीना भी कहा जाता है। इस ऋतू में बसंत का प्रभाव होने से प्रेम और रिश्तों में उल्लास भर जाता है, इस वर्ष फाल्गुन महिना 01 फरवरी से 02 मार्च तक रहने वाला है। आज हम आपको इस फाल्गुन महीने की कुछ विशेष बाते बताने वाले हैं तो आइये शुरू करते हैं। यह भी पढ़े : तुलसी के सामने 3 बार बोले 2 अक्षर का ये मन्त्र फिर तुरंत होगा चमत्कार हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुस
क्‍या आपको नौकरी करने से रोक तो नहीं रही है आपकी ये छोटी सी गलती

क्‍या आपको नौकरी करने से रोक तो नहीं रही है आपकी ये छोटी सी गलती

Lifestyle, Religion
आज हमारे देश में जो अव्यवस्था इतनी व्याप्त है जिसकी वजह से बेरोजगारी की समस्या विकराल हो चुकी है। हमारे भारत में बेरोजगारी के अनेक रूप हैं जिनमे बेरोजगारी में एक वर्ग तो उन लोगों का है, जो अशिक्षित या अर्द्धशिक्षित हैं और जिसकी वजह से रोजी-रोटी की तलाश में भटक रहे हैं। दूसरा वर्ग उन बेरोजगारों का है जो शिक्षित हैं, जिनके पास काबिलियत भी है लेकिन फिर भी वे बेरोजगार है उन्हें उनके हिसाब का कम नहीं मिल पाता है इसीलिए आज के समय में बेरोजगारी की इस समस्या का आक्रांत शहर और गाँव दोनों ही जगह बराबर है। आज हम अपने देश के युवाओं के बारे में कुछ बताने वाले हैं जो युवा शिक्षित होने के बावजूद भी बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे है और नौकरी की तलाश में हैं। कहीं ना कहीं बेरोजगारी हमारे युवा पीढ़ी को मानसिक रूप से विकृत कर रही है क्याोोंकि देखा जाये तो समय पर युवाओं को नौकरी न मिलने पर परिवार का आर्
अब कच्‍चा दुध घंटे भर में मुहांसो की कर देगा छुट्टी, ऐसे करें इसका इस्‍तेमाल

अब कच्‍चा दुध घंटे भर में मुहांसो की कर देगा छुट्टी, ऐसे करें इसका इस्‍तेमाल

Health & Fitness, Lifestyle
आज कल के अनियमित खानपान और बढ़ते प्रदुषण की वजह से लोगों में मुहांसे की समस्या दिन पर दिन बढती ही जा रही है चाहे फिर वो लड़का हो या लड़की इसके अलावा मुहांसे निकलने की एक और सबसे बड़ी वजह होती है हमारे शरीर में हार्मोनल चेजेंज जिसकी वजह से ज्यादातर इस मुहांसे की समस्या से यंग जनरेशन बहुत अधिक परेशांन  रहती है इसकी वजह से खूबसूरत चेहरा भी बिगड़ जाता है इसीलिए मुहांसे की समस्या से निजात पाने के लिए ना जाने कौन कौन से इलाज करते हैं लेकिन आज हम आपको जो घरेलू उपाय बताने वाले हैं वो आपको इस मुहांसे की समस्या को दूर करने में काफी कारगर साबित हो सकती है  | नींबू का रस पुरुषों के लिये मुंहासे ठीक करने के लिये नींबू का रस बहुत ही फायदेमंद होता है, नींबू का रस चेहरे से एक्सट्रा ऑयल निकाल देता है, नींबू के रस में करीब चार गुना ग्लिसरीन मिला लें, फिर उसे चेहरे पर रगड़े, इससे पुरुषों को कील मुंहासों से
आज इस मुहूर्त में करेंगे देवी विजयालक्ष्मी की पूजा, तो हर दुख हो जाएगा दूर

आज इस मुहूर्त में करेंगे देवी विजयालक्ष्मी की पूजा, तो हर दुख हो जाएगा दूर

Religion
अगर इस कलयुग  में देखा जाये तो धन के बिना संसार का हर सुख असंभव है । इस संसार में अनेक प्रकार के दुःख हैं लेकिन उन सभी दुखों में निर्धनता से बढ़कर कोई दुःख नहीं है।निर्धनता ही  मनुष्य की सबसे बड़ी हार भी है क्योंकि गरीबी के कारण ही व्यक्ति इस संसार में हर जगह पर हार का सामना करता है।इस संसार में देवी को लक्ष्मी को धन की देवी माना जाता है और यदि मा लक्ष्मी की कृपा किसी व्यक्ति पर नहीं बनती तभी वो इस संसार के सबसे बड़े दुःख यानि की निर्धनता का सामना करता है | इसीलिए  संसार के इस श्रेष्ठ दुःख के निवारण हेतु और सांसारिक जीत के लिए देवी महालक्ष्मी के विजयालक्ष्मी स्वरुप का पूजन श्रेष्ठ सिद्ध होता है और आज  यानि की शुक्रवार दि॰ 02.02.18 फाल्गुन कृष्ण द्वितीय पर पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र से बने शोभण योग व वाणिज्यकारण होने के कारण देवी विजयालक्ष्मी का पूजन  का श्रेष्ठ योग बन रहा है । इनका स्व
शादी के बाद कुछ इस हाल में नजर आई एक्‍ट्रेस अनुष्‍का, सूती साड़ी और चप्पल में जाती दिखीं, जानें क्‍या है मामला

शादी के बाद कुछ इस हाल में नजर आई एक्‍ट्रेस अनुष्‍का, सूती साड़ी और चप्पल में जाती दिखीं, जानें क्‍या है मामला

Entertainment
एक समय था जब बॉलीवुड में ज्यादातर रोमांटिक फिल्मे ही बनायीं जा रही थी लेकिन आज स्थिति ऐसी है की दर्शक ज्यादा रियल लाइफ से जुडी फिल्मे देखने के लिए बेताब रहते हैं इसी वजह से हमारे बॉलीवुड में आज कल जो फिल्मे बनायीं जा रही है वो रियल लाइफ को ज्यादा फोकस कर रही है |इन फिल्मो में यही दिखाया जाता है जो आम इंसानों की जिंदगी में रोजाना हो रहा है इसीलिए इन फिल्मो से दर्शक ज्यादा इम्प्रेस होते है जो घटना आम इंसानों के साथ हर दिन होता है, वो फिल्मों में दिखाया जाता है तो लोगो को इससे काफी कुछ सिखने को भी मिलता है । ऐसी फिल्मों को दर्शक और क्रिटिक्स  दोनों ही पसंद करते हैं।इस समय बॉलीवुड में ठीक ऐसी ही एक फिल्म बन रही है जिसमे  अनुष्का शर्मा और वरुण धवन ने एक साथ नजर आयेंगे और इस  स्टारर फिल्म का नाम है  'सुई धागा'। आपको बता दे की अभी हाल ही में अनुष्का शर्मा ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप
तुलसी के सामने 3 बार बोले 2 अक्षर का ये मन्त्र फिर तुरंत होगा चमत्कार

तुलसी के सामने 3 बार बोले 2 अक्षर का ये मन्त्र फिर तुरंत होगा चमत्कार

Religion
हमारे हिन्दू धर्म में तुलसी का पौधा बहतु ही पूजनीय माना जाता है और कहा जाता है की इस धरा पर तुलसी केवल एक पौधा नहीं बल्कि इस धरा के लिए वरदान है | तुलसी को दैवी गुणों से परिपूर्ण मानते हुए इसके बारे में अध्यात्म ग्रंथों में बहुत कुछ लिखा गया है। तुलसी को औषधियों का खान कहा जाता हैं।यही कारण है की तुलसी को  अर्थदेव औषधि की संज्ञा भी  दी गई हैं। संस्कृत भासा में तुलसी को  हरिप्रिया  के नाम से भी जाना जाता है । पौराणिक कथा के अनुसार कहा जाता है की इस औषधि की उत्पत्ति से भगवान् विष्णु का मनः संताप दूर हुआ इसी कारण से तुलसी को हरिप्रिया की संज्ञा दी गयी है । धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ये कहा जाता है की तुलसी की जड़ में सभी तीर्थ, मध्य में सभी देवि-देवियाँ और ऊपरी शाखाओं में सभी वेद स्थित हैं।इसीलिए यदि प्रतिदिन  तुलसी का दर्शन भी हो जाये तो व्यक्ति के जीवन से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं
शाहरूख खान पर टूटा मुसीबतों का पहाड़, आयकर विभाग के निशाने पर आए किंग खान

शाहरूख खान पर टूटा मुसीबतों का पहाड़, आयकर विभाग के निशाने पर आए किंग खान

Entertainment, News
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान का रायगढ जिले में स्थित अलीबाग वाला फॉर्म हाउस को सील कर दिया है, आपकी जानकारी के लिए बता दे की आयकर विभाग ने ये कार्रवाई बेनामी संपत्ति एक्ट के तहत की है। केवल इतना ही नहीं इनकम टैक्स विभाग ने किंग खान 90 दिनों के अंदर इस सम्बन्ध में जबाव भी मांगा है। शाहरुख़ खान के ऊपर आरोप है कि उन्होने रायगढ में 19,960 स्क्वेयर मीटर जमीन खरीदी थी खेती के लिए, लेकिन वहां उन्होने अपना फॉर्म हाउस बना लिया है। अक्सर आते हैं किंग खान रायगढ़ में स्थित इस फॉर्म हाउस पर  शाहरुख़ अक्सर अपने परिवार और दोस्तों के साथ पार्टी और वेकेशन एंजॉय करने के लिये आते जाते रहते हैं, अभी  हाल ही में शाहरुख़ ने अपना 51वां जन्मदिन इसी फॉर्म हाउस में मनाया था था, आयकर विभाग ने की कार्रवाई आयकर विभाग ने शाहरुख खान के फॉर्म हाउस को सील  कर दिया है  और उनका कहना है की कि