Sunday, November 19News That Matters

Author: Anisha Yadav

गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थीं कुछ ऐसी

गुप्त सुरंग से इस मंदिर में आती थी रानी पद्मावती, दिखती थीं कुछ ऐसी

Interesting, Trending
संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म पद्मावती की कहानी को लेकर पुरे देश में विवाद आग की तरह फ़ैल चूका है और हर समुदाय के लोगो के द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है| इस फिल्म को लेकर राजस्थान समेत कई देशो में विवाद इस कदर बढ़ चूका है की राजस्थान के राजपूत करणी सेना ने फिल्म के एक्ट्रेस की नाक काटने पर पांच करोड़ के इनाम देने की बात भी कह दी है| पद्मावती की कहानी राजस्थान के ऐतिहासिक चितौड़गढ़ किले से जुडी है इसलिए शुक्रवार को इस किले को बंद भी करवा  दिया गया है | असल में राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में बने एक मंदिर में पद्मावती की प्रतिमा स्थापित है और यहाँ के लोग रानी पद्मावती को आज भी देवी की तरह पूजते है| इस मंदिर का निर्माण सन 1468 में राणा रायमल ने पद्मावती की मूर्ति की स्थापना के साथ करवाई थी | इस मंदिर में रानी पद्मावती के मूर्ति के अलावा इसमें भगवान पाश्वनाथ और महादेव की मूर्ति भी स
18 नवम्बर को है शनि अमावस्या, शनिदोष से मुक्ति पाने का है सबसे अच्छा समय

18 नवम्बर को है शनि अमावस्या, शनिदोष से मुक्ति पाने का है सबसे अच्छा समय

News, Religion
शनिदेव भाग्यविधाता हैं, यदि निश्छल भाव से शनिदेव का नाम लिया जाये तो व्यक्ति के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं, श्री शनिदेव तो इस जगत में कर्मफल दाता हैं जो व्यक्ति के कर्म के आधार पर उसके भाग्य का फैसला करते हैं। 18 नवम्बर 2017 को शनिवार के दिन शनि अमावस्या है जो की बहुत ही शुभ दिन है क्योंकि अमावस्या और शनिवार दोनों एक साथ ही है  इसलिए इस दिन शनिदेव का पूजन सफलता प्राप्त करने एवं दुष्परिणामों से छुटकारा पाने हेतु बहुत उत्तम है। इस दिन शनि देव का विधिवत  पूजन  करने से सभी मनुष्यो की  मनोकामनाएं अवश्य पूर्ण  होंगी और शनि देव की कृपा भी सदैव उनपर बनी रहेगी। यह भी पढ़ें : अपनी राशि के अनुसार जानें किस खूबी के लिए आप हैं मशहूर, इस एक राशि के लोग हमेशा कर देते हैं इरिटेट अमावस्या का विशेष महत्व है और अमावस्या अगर शनिवार के दिन पड़े तो इसका महत्व और अधिक बढ़ जाता है। शनिदेव को अमावस्या अधिक प्रिय है
अपनी राशि के अनुसार जानें किस खूबी के लिए आप हैं मशहूर, इस एक राशि के लोग हमेशा कर देते हैं इरिटेट

अपनी राशि के अनुसार जानें किस खूबी के लिए आप हैं मशहूर, इस एक राशि के लोग हमेशा कर देते हैं इरिटेट

Interesting, Religion
राशि के अनुसार व्यक्ति के स्वभाव और भविष्य से जुड़ी कई जानकारी प्राप्त की जा सकती है। मेष राशि मेष राशि वाले आकर्षक होते हैं। इनका स्वभाव कुछ रुखा हो सकता है। दिखने में सुंदर होते है। यह लोग किसी के दबाव में कार्य करना पसंद नहीं करते। इनका चरित्र साफ -सुथरा एवं आदर्शवादी होता है। वृष राशि इस राशि का चिह्न बैल है। बैल स्वभाव से ही अधिक पारिश्रमी और बहुत अधिक वीर्यवान होता है, साधारणत: वह शांत रहता है, किन्तु क्रोध आने पर वह उग्र रूप धारण कर लेता है। मिथुन राशि मिथुन राशि के जातक हाजिर जवाब और फ़ुर्तीले होते हैं | | इनकी जिज्ञासु प्रवृत्ति और चतुराई इन्हे सामाजिक समारोहो और पार्टी के आकर्षण का केन्द्र बना देती हैं |इनकी जिन्दगी पूरी पूरी की तरह इनकी बातचीत करने की जरुरत के आगे पीछे घुमती हैं | कर्क राशि इस राशि के तहत पैदा हुए लोग, अपने घरों से, अपनी जड़ों, अपने घोंसले से बहुत प्यार
99% लोग नहीं जानते रोड पर बनी हुई इन सफ़ेद और पीली लाइन का मतलब, जानें क्‍या है इनका सही मतलब

99% लोग नहीं जानते रोड पर बनी हुई इन सफ़ेद और पीली लाइन का मतलब, जानें क्‍या है इनका सही मतलब

Interesting, Trending
मनुष्य सड़कों का उपयोग लंबे समय से करता रहा है । सड़क यातायात सुचारू रूप से हो सके इसके लिए कानून बनाए गए हैं क्योंकी भारत मे सबसे ज्यादा मौत सड़क दुर्घटनाओं से होती हैं।  लेकिन यातायात के रूल्स को फॉलो करके  हादसे को टाला जा सकता है। लेकिन ऐसे कई से राज है सड़क के जिससे हम अंजान है जैसे की सड़क पर बनी पीली औऱ सफेद लाइनें कुछ  कहती हैं| क्या आप जानते है इसका मतलब अगर नहीं तो आज हम अपनी इस पोस्ट से बताने वाले हैं तो चलिये देखते हैं इन पीली औऱ सफेद लाइन्स का राज़ वन सॉलिड व्हाइट लाइन सॉलिड व्हाइट लाइन इस बात का निर्देश देती है कि सभी गाड़ी एक ही लाइन में चले मतलब ये है कि आप जिस लाइन में हो आप उसी लाइन में ही चलो वन सॉलिड येलो लाइन इस रेखा के तहत आप ओवेरटेकिंग और पासिंग कर सकते है लेकिन आपको पीली रेखा को बिना पार किए ओवेरटेकिंग करना होता है भारत में इस लाइन के लिए अलग-अलग राज्यों मे
आखिर कौन थी रानी पद्मावती, जानिए क्‍या था इनका इतिहास

आखिर कौन थी रानी पद्मावती, जानिए क्‍या था इनका इतिहास

Entertainment, Interesting, Trending
'पद्मावती' एक आगामी भारतीय ऐतिहासिक फिल्म है जिसका निर्देशन संजय लीला  भंसाली ने किया है |फ़िल्म में मुख्य भूमिका में दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह हैं। यह फ़िल्म 1 दिसम्बर 2017 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होगी।इस फ़िल्म में चित्तौड़ की प्रसिद्द राजपूत रानी पद्मिनी का वर्णन किया गया है जो रावल रतन सिंह की पत्नी थीं | इस फिल्म में दीपिका पादुकोण को पद्मावती का किरदार में पेश किया गया है | आज हम आपको अपनी इस पोस्ट में बताएँगे की आखिर कौन थी रानी पद्मावती? और क्या है उनका इतिहास?? यह भी पढ़ें: रिलीज़ हुआ ‘पद्मावती’ का नया गाना, दीपिका और शाहीद की दिखी शाही केमिस्ट्री रानी पद्मावती के बारे में इतिहास बहुत कुछ बयां करता है |रानी पद्मावती भारत के चित्तौड़ की 13 वी -14 वी सदी की रानी थी | इनकी कहानी सबसे पहले कवि मलिक मुहम्‍मद जायसी की वजह से 15-16वीं सदी में सुर्खियों में आय
दिमाग का दही कर देगी ये तस्‍वीरें,दूर से कुछ और तो नजदीक से कुछ और ही दिखाई देता है

दिमाग का दही कर देगी ये तस्‍वीरें,दूर से कुछ और तो नजदीक से कुछ और ही दिखाई देता है

Interesting
कभी कभी ऐसा होता है की हमारी आंखे भी धोखा खा जाती है कुछ कलाकारी के साथ ऐसी कलाकारी को इल्यूजन कहते है। फोटो क्लिक करना किसे पसंद नही हैं किसी को प्रकृति की फोटो क्लिक करना पसंद है किसी को बिल्डिंग की, किसी को शहरों की तो किसी को वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफी पसंद है। पर कुछ फोटो ऐसे होते है जिन्हे देखकर दिमाग घूम जाता हैं। इन फोटों में कुछ ऐसा होता है जिन्हे देखकर दिमाग घूमने लगता है। तो आइए शुरू करते है कुछ ऐसी ही रोमांचक इल्यूजन वाली फोटोज के साथ है : इन्हें पहली नजर में देखने पर तो किसी का भी सर घुमने लगेगा ऐसा लग रहा है की ये दोनों ही डिजाईन घूम रही है लेकिन इनमे से कोई भी डिजाईन नहीं घूम रही है बस आपका दिमाग घूम रहा है। यह भी पढ़ें : भारत में तैयार हुआ दुनिया का सबसे शानदार स्‍टेडियम, अब बारिश आने पर भी नहीं रूकेगा मैच इस तस्वीर में आपको  पहली नजर में  देखने पर एक बूढ़े व्य
युवाओं के लिए घर बैठे कमानेे का ये है सबसे शानदार तरीका

युवाओं के लिए घर बैठे कमानेे का ये है सबसे शानदार तरीका

Business, Interesting
अक्सर ऐसा होता है कि हम पढाई के साथ साथ जॉब करने की सोचते हैं । लेकिन पढा़ई के साथ साथ बाहर जाकर या ऑफिस में बैठ कर 8 से 9 घंटे काम करना मुश्किल हो जाता है और आप अपनी पढाई के लिए भी समय नहीं निकल पाते। लेकिन अगर आप घर बैठे-बैठे एक्सट्रा अर्निंग करना चाहते हैं तो पार्ट टाइम जॉब के ऑपशन्स की कमी नहीं। रोजाना सिर्फ 3 से 4 घंटे देकर आप पार्ट टाइम जॉब के जरिए महीने में 3 से 10 हजार रुपए की कमाई आसानी से कर सकते हैं। जो आपको पैसे कमाने का मौका देने के साथ आपको इंडीपेंडेंट बनाते हैं। आज हम आपको बता रहे है कि कौन सी पार्ट टाइम जॉब्स आप घर बैठ पर रहकर कर सकते हैं और इन  कामों को आपको कैसे करना हैं। कंटेंट राइटिंग अगर आपके अंदर लिखने-पढ़ने का हुनर छुपा है तो उसे बाहर निकालें, जरूरी नहीं किसी दफ्तर में आठ घंटे की नौकरी करने के बाद ही विचारों को पंख दिए जाएं अगर आपके अंदर सोचने और लिखने का हुनर
लाखों की जॉब छोड़कर M.B.A की हुई ये लड़की सड़को पर लगाती है ठेला, जानें क्यों

लाखों की जॉब छोड़कर M.B.A की हुई ये लड़की सड़को पर लगाती है ठेला, जानें क्यों

Interesting, Women
आज कल के ज़माने में  सुकून की जिंदगी जीने के लिए अगर कुछ जरूरी है तो वो है पैसा और इसलिए युवा पीढ़ी अच्छी पढाई ,अच्छी डिग्री लेने के लिए दिनों रात मेहनत करते है और इसका मकसद बस इतना सा होता है की अच्छी नौकरी और बड़ा ओहदा मिल जाए, ताकि जिंदगी सुकून से कट सके। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनकी सोच कुछ अलग होती है | आज हम आपको ऐसी ही एक लड़की की कहानी बतायेगे जिसके पास एम बी ए की डिग्री  होते हुए भी सड़क पर खाने का ठेला लगाती है क्योंकि अक्सर  समाज के नियम से हटकर काम करने वाले ही  सफल होते है | हम बात कर रहे है चड़ीगढ़ की एम बी ए होल्डर राधिका अरोड़ा की जिन्होंने रिलायंस जिओ में एच आर का पद छोड़ के अपना ठेला लगाने का काम शुरू किया और अपने इस फैसले से राधिका संतुष्ट भी है | राधिका अरोड़ा चंडीगढ़ ग्रुप ऑफ कॉलेज से एमबीए करने के बाद नौकरी के सिलसिले में उन्हें चंडीगढ़ में रहना पड़ता था। वह रिलायं
बस एक चम्मच आजमा लें ये जादुई नुस्खा, ज़िन्दगी भर के लिए हट जाएगा आँखों से चश्मा

बस एक चम्मच आजमा लें ये जादुई नुस्खा, ज़िन्दगी भर के लिए हट जाएगा आँखों से चश्मा

Health & Fitness
आँखे हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा हैं, आँखों के बिना हम किसी भी कार्य को नही कर सकते। आँखों के माध्यम से हम इस दुनिया को देख सकते हैं अलग-अलग प्रकार के रंगों को पहचान सकते हैं। इसलिए आँखों का खास ख्याल रखना बहुत ही जरुरी होता है। लेकिन आज कल के लाइफस्टाइल की वजह से कम उम्र के बच्चे जो ठीक से बोल भी नहीं पाते उनकी आँखों में चश्मा लग जाता है इसलिए माता पिता मजबूर होके बच्चो को चश्मा लगवा देते है और उम्र के साथ चश्मा लगना तो स्वाभाविक है इसलिए कई लोग तो इसको मज़बूरी समझकर अपना जीवन जीते है। मगर दोस्तों ऐसा नहीं है की अगर आपको एक बार में चश्मा लग जाये तो आप इसको उतार नहीं सकते। इसी चश्मे के कारण आपके जीवन में मुश्किल बढ़ सकती है, आज हम आपको बताएँगे  की आँखों  का चश्मा कैसे निकाले या आँखों पर चश्मा लगने से कैसे बचाया जाये खुदको और आँखों की नजर कैसे बढाया जाये। आँखों की रौशनी बढाने के लिए आप
जन्म के महीने से जानें महिलाओं का स्वभाव

जन्म के महीने से जानें महिलाओं का स्वभाव

Religion, Women
हमारे इस सृष्टि  में स्त्रियों को सबसे रहस्यमय प्राणी समझा जाता है। ऐसा माना जाता है कि जब बड़े-बड़े ज्ञानी-महाज्ञानी स्त्री के स्वभाव और उसके विचारों को नहीं समझ पाए तो तुच्छ मनुष्य की क्या हिम्मत लेकिन ज्योतिष शास्त्र द्वारा हम किसी महिला का व्यवहार तथा उसके भविष्य के बारे में जान सकते हैं। आज हम आपको जन्म के महीने के आधार पर बताते हैं कि किस माह में जन्मीं स्त्रियां कैसी होती हैं, उनके विचार, उनकी सोच और जीवन से उनकी प्राथमिकताएं क्या होती हैं।   जनवरी जनवरी महीने में जन्म लेने वाली स्त्री वक्ता, होशियार, क्रोधी स्वभाव वाली, रतनारे नेत्र वाली, सुंदर रूप- गोरे रंग वाली, धनवान, पुत्रवती और सभी सुखों को पाने वाली होती है। फ़रवरी फरवरी महीने में जन्म लेने वाली स्त्री श्रेष्ठ पतिव्रता, कोमल स्वभाव वाली, सुंदर हृदय, बड़े नेत्रों वाली, धनवान, क्रोध करने वाली तथा मितव्ययी होती है। मार्च म