Amazon बेच रहा है भगवान शिव की तस्वीर लगी टॉयलेट सीट और चप्पल, सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ #BoycottAmazon

अमेरिकन ऑनलाइन रिटेल कंपनी अमेज़ॉन दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन कंपनियों में से एक है। भारत में भी अमेज़ॉन के करोड़ो यूज़र्स हैं और यहाँ भी अमेज़ॉन का अच्छा व्यापार चल रहा है। वहीं एक बार फिर अमेज़ॉन एक बड़े विवाद में फंस चुका है। अमेज़ॉन ने हिन्दू धर्म के लोगो की आस्था को गहरी चोट पहुंचाई है और लोग इसके खिलाफ बहुत आक्रोश में हैं। लोग अमेज़ॉन के ऐप को अपने मोबाइल से डिलीट कर रहें हैं और दूसरों से भी डिलीट करने का आग्रह कर रहे हैं।

अमेज़ॉन की वेबसाइट पर टॉयलेट सीट कवर, योगा मैट, टॉयलेट मैट, आसनों पर हिंदू देवताओं की चित्र लगाकर कुछ सेलर बेच रहे हैं। यह देखकर हिन्दू धर्म के लोगो की भावनाएं काफी आहात हुईं हैं। लोगो में इस बात को लेकर बेहद गुस्सा है कि अमेज़ॉन ने अपनी वेबसाइट पर ऐसी वस्तुएं बेचने की अनुमति दी और इसके खिलाफ कोई एक्शन भी नहीं लिया। अमेज़ॉन को गुरुवार को सोशल मीडिया आक्रोश का सामना करना पड़ा, जिससे ट्विटर पर #BoycottAmazon देश का टॉप ट्रेंडिंग टॉपिक बन गया। लोग अपना गुस्सा दिखते हए सोशल मीडिया पर बहुत कुछ बोल रहे हैं।

“आखिर क्या है ये अमेज़न?
आप कितनी बार हिंदुओं की भावनाओं को आहत करेंगे? आप हर साल, हर बार ऐसा क्यों करते हैं? यह कब तक जारी रहेगा? क्या यह कभी रुकेगा?
सोशल मीडिया पर बैकलैश और गुस्से का सामना करने के बाद, फर्म ने कथित तौर पर उन वस्तुओं को हटा दिया है और अब यह वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है।”-अंशुल सक्सेना

“#BoycottAmazon कृपया अमेजॉन से कुछ भी न खरीदें, वे भारतीय लोगों की धार्मिक भावनाओं को आहत कर रहे हैं। “-निकिता आहूजा

“मुझे आश्चर्य है कि क्यों अमेज़ॉन भारतीयों की धार्मिक आस्था के प्रति इतना असंवेदनशील है! वे हमारे दरबार साहिब, मंदिरों या भगवानों को दुखदायी तरीके से दिखाते हुए निन्दा करने वाले उत्पादों को बेचते हैं। मैं ऐसे उत्पादों के खिलाफ एक मजबूत आवाज उठाता हूं और #BoycottAmazon आंदोलन में लोगों से जुड़ता हूं “-मनजिंदर सिरसा


वहीं हजारों ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन कंपनी के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह करने के साथ बहिष्कार का आग्रह किया है। यह घटना 2017 की याद दिलाती है जब यह एपिसोड 2017 की एक घटना की याद दिलाता है जब अमेज़ॉन पर भारत के झंडे से बने समान बेचने वाले डोरमैट्स बेचे जा रहे थे जो कि अपमानजनक था। शुष्मा स्वराज ने उस समय अमेज़ॅान के कर्मचारियों को वीजा देने की धमकी दी थी यदि डोरमैट को उनकी साइट से नहीं हटाया गया था। इस पर अमेज़ॉन ने कार्यवाही कर उन वस्तुओं को अपनी वेबसाइट से हटा दिया था।

Share this on