100 बिलियन डॉलर के क्‍लब में शामिल हुए बेजोस, गैराज में शुरू की थी कंपनी

दुनियां के सबसे अमीर व्यक्ति माइक्रोसॉफ्ट के सहसंस्थापक बिल गेट्स थे, वहीँ अब उन्हें सम्पति के मामले में अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस ने पीछे छोड़ दिया हैं। बेज़ोस की कुल संपत्ति अब 105 बिलियन डॉलर यानी 66000 करोड़ हो गई है। उनकी संपत्ति की ज्यादातर हिस्सा उनके हिस्से के अमेज़न में लगाये हुए शेयर से आता है, जेफ बेजोस अमेज़न के 7.8 मिलियन शेयर के मालिक है।

जेफ बेजोस का जन्म 12 जनवरी 1964 को हुआ और अब वो 54 वर्ष के हो चुके है। जेफ बेजोस की शुरू से ही ऐसी स्थिति नहीं थी, उनके जीवन में कई उतार-चढाव आये। जिनके कारण उन्हें अपने जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ा था। जेफ बेजोस बचपन से ही काफी तेज और एक्टिव प्रवृति के रहे हैं। जब वो बच्चे थे तभी उन्होंने पेंचकस से अपने पालने को खोलने का प्रयास किया। उनकी यांत्रिक मशीनों के प्रति शुरू से ही काफी रुझान रहा हैं, जिसके चलते आज वो इस मुकाम तक पहुँच पाये। तो चलिए आज हम आपको उनके जीवन से जुड़े कुछ जरुरी तथ्यों के बारे में बताते है, जिनके कारण आज वो दुनिया के सबसे अमीर शख्स बन गये।

आपको हम बता दे कि उनकी लाइफ में भी कुछ ऐसे दौर थे, जिनके कारण उन्हें आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा था, उनका बचपन काफी संघर्षों से भरा हुआ था। उनके माता-पिता ने शादी के केवल एक साल बाद ही दोनों ने एक दुसरे को तलाक दे दिया। तलाक हो जाने के कारण उनके पिता शराब के आदि हो गए। जब बेजोस चार वर्ष के हुए तो उनकी माँ ने दूसरी शादी मिगुअल माइक नामक व्यक्ति से कर ली और मिगुअल ने कानूनी रूप से बेजोस को गोद ले लिया।

बचपन में बेजोस गर्मी की छुटियाँ मानाने के लिए अपने नाना के यहाँ चले जाते थे, जहाँ उन्होंने कंप्यूटर के प्रति अपनी रूचि दिखाई। बेजोस पढ़ाई में ही अपना ज्यादातर समय व्यतीत करने लगे, उनकी इस प्रतिभा को देखते हुए  उनके माता-पिता को उनकी काफी चिन्ता होने लगी कि वो केवल पढ़ाई तक ही सिमित न रह जाए इसलिए उन्होंने बेजोस को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया।

यह भी पढ़े : इस महिला से पीछे हैं अंबानी, जानना नहीं चाहते कौन है वो

बेजोस ने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में भौतिक विज्ञान विषय को लेकर पढ़ाई की रूचि से प्रवेश लिया लेकिन बहुत ही जल्दी वो उस विषय से ऊब गये और कंप्यूटर की ओर अपना रुख मोड़ लिया। उनहोंने फिर इलेक्ट्रिकल और कंप्यूटर साइंस से स्नातक की उपाधि प्राप्त की।

यह भी पढ़े : बिल गेट्स को भी पीछा छोड़ ये शख्‍स बना दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, जानें कौन है ये शख्‍स

बेजोस का मन शुरू से ही कुछ अलग कर दिखने का था। पढ़ाई के पूरा होते ही उन्होंने कई जॉब किये लेकिन उनका मन कहीं भी न लगा जिसके बाद उन्होंने अपना गैराज खोलने का सोचा। जब उनकी यह सोच सही साबित हुई और बिजनेस चल पड़ा तो उन्होंने अपनी कंपनी को एक नाम देना का विचार किया तो उन्होंने सबसे पहले अपने कम्पनी के लिए कडाब्रा और रेलेंटसेस डॉट कॉम जैसे नाम सोचे लेकिन उन्हें वह उन्हें बाद में रद्द कर दिया गया फिर उन्होंने अपनी कम्पनी का नाम साउथ अमेरिकी नदी अमेजन से प्रेरित होकर अमेजन रख दिया।

आगे चलकर सन् 2007 में इस कंपनी ने काफी उप्लब्धि प्राप्त की और उस समय ऑनलाइन बिजनेस में उनकी कंपनी एक बड़ी ब्रांड बनकर सभी लोगो के सामने आयी। जिसके बाद बेजोस को एक के बाद एक करके सफलता मिलती गयी और उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और साथ ही साथ अपनी कम्पनी को और आगे बढ़ाते चले गए आज वो और उनकी कंपनी का नाम पूरी दुनिया में मशहूर हो चुका है।
Share this on

Leave a Reply