Wednesday, December 13

क्या आप जानते है नयी गाड़ी की नंबर प्लेट पर लिखे A/F का क्या होता है मतलब

इन दिनो  त्योहार का मौसम है और हर तरफ खुशियाँ ही खुशियाँ है। दीपावली से पहले धनतेरस का त्योहार आता है जिस दिन हर कोई माँ लक्ष्मी की पुजा कर अपने घर में उनकी कृपा पाने की कामना करता है। बता दे की धनतेरस के दिन मान्यता है की घर में कोई ना कोई नयी वस्तु खरीदने से शुभ होता है और देखा जाए तो इस दिन ज़्यादातर लोग नयी गाडियाँ लेते है या फिर नए बर्तन। मगर आप नयी गाड़ी खरीद कर जब उसे शोरूम से लेकर निकलते है तो आपने ध्यान दिया होगा की आपकी नयी गाड़ी के नंबर प्लेट पर उसका नंबर अंकित नहीं होता है और उसकी जगह पर A/F लिखा रहता है।

क्या आप जानते है ऐसा क्यू होता है और क्या वजह है ऐसा करने के पीछे और क्या होता है इसका मतलब। सबसे पहले आपको बताना चाहेंगे की गाड़ी नई हो या पुरानी प्रत्येक वाहन को ‘मोटर वाहन अधिनियम 1989’ के तहत पंजीकृत होना बेहद आवश्यक है। यदि आप बिना रजिस्ट्रेशन नंबर के गाड़ी चलाते है तो इसे गैर कानूनी माना जाता है और इसके तहत आपके ऊपर कानूनी कार्यवाही भी की जा सकती है। बता दे की जब भी कोई दुपहिया, तिपहिया या चार पहिया गाड़ी आदि शोरूम से निकलती है तो उसको एक अस्थायी नम्बर दिया जाता है या फिर उसकी नम्बर प्लेट पर A/F लिख दिया जाता है।

ये है दुनिया का सबसे अनोखा तरबूज जिसके बारे में आपने ना कभी सुना होगा ना ही देखा

बताना चाहेंगे की A/F का मतलब होता है “Applied For” जिसका मतलब यह है कि गाड़ी के मालिक ने गाड़ी खरीदने के पश्चात नए नंबर के लिए अप्लाई किया हुआ है और जब तक गाड़ी का परमानेंट नम्बर नही मिल जाता है तब तक उसके नम्बर प्लेट पर A/F या Applied For लिखने की छूट प्राप्त रहती है जो कानूनी रूप से भी वैध है। आपको बता दे की A/F लिखने की छूट वहाँ स्वामी को कुछ निश्चित समय के लिए ही दी जाती है और उस समयावधि में उसे अपने वाहन का नंबर आरटीओ से प्राप्त कर लेना होता है। यह केवल एक सप्ताह तक के लिए कानूनी रूप से वैध है इसके बाद जैसे ही आपको परमानेंट नम्बर मिलता है आपको अपनी गाड़ी पर A/F की जगह परमानेंट नम्बर लिखवा लेना होता है।

सावधान! अगर आपको भी अपना पर्स पैंट की पीछे वाली जेब में रखने की आदत हैं तो उसे तुरंत बदल दें

अक्सर लोगों ने अपने मन में एक गलत धारणा बना ली है कि वे लंबे समय तक अपनी गाड़ी की नम्बर प्लेट पर  A/F लिखवाकर  चला सकते हैं और पुलिस उन्हे कुछ नही कहेगी। बता दे की यदि आप ऐसा सोचते है तो आप गलत है। यदि आपने बिना नबंर की गाड़ी का तय समय से ज्यादा प्रयोग किया और पकडे गए तो आपको 10,000 रुपये का जुर्माना भर्ना पद सकता है और आपकी गाड़ी भी जब्त की जा सकती है। बेहतर होगा की नियमों का पालन करें और किसी तरह की समस्या में पड़ने से बचे।

बताना चाहेंगे की कई तरह के सुरक्षा कारणो की वजह से सरकार वाहन रजिस्ट्रेशन को लेकर इतनी सतर्क रहती है क्योंकि ऐसासंभव है कि कोई व्यक्ति अपराध/एक्सीडेंट करने के लिए बिना नंबर की गाड़ी का इस्तेमाल करे, उस परिस्थिति में जुर्म करने वाले को पकड़ना मुश्किल काम हो जाता है। इसलिए नए वाहन का जल्दी से जल्दी रजिस्ट्रेशन करा लेना सभी के हित में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: