Tuesday, January 16

ये है ऊटपटांग एक्शन वाले 7 बॉलर, सचिन-लारा से लेकर विराट-डिविलियर्स तक रहते हैं कंफ्यूज

आज कल श्रीलंका की क्रिकेट टीम एक बार फिर से काफी सुर्खिया बटोर रही है। जिसका कारण श्रीलंका का एक रहस्यमयी गेंदबाज केविन कोथिगोड़ान है, जो 18 वर्षीय और लेग स्पिनर हैं। अंडर 19 टीम का हिस्सा बने केविन के गेंदबाजी करने का अंदाज लगभग उसी तरह है, जिस प्रकार दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज पॉल एडम्स का था। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व गेंदबाज पॉल बाएं हाथ के चाइनामैन गेंदबाज थे। उनके बारे में यह कहा जा है कि केविन पॉल एडम्स का दाएं हाथ का संस्करण हैं।

वैसे तो श्रीलंका के क्रिकेट टीम में कई रहस्यमयी गेंदबाज हैं, लेकिन उनके अलावा दुनियाभर की क्रिकेट टीमों  में कई ऐसे रहस्यमयी गेंदबाज रहे हैं, जिनका गेंद फेकने का अंदाज बेहद ही खतरनाक रहा है।बात अगर बांग्लादेश की करे तो एक समय था जब बांग्लादेश चार सालो में एक भी मैच नहीं जीत पा रहा था, लेकिन फिर ऐसा समय आया जब बांग्लादेश ने बांग्लादेश में खेले गए दस मैचो को अपने नाम किया। बांग्लादेश ने भारत और पाकिस्तान को पर भी जित हासिल की। बांग्लादेश की इस जीत में अहम भूमिका मुस्ताफिजुर रहमान ने निभाई थी। रहमान बांग्लादेश के नए रहस्यमयी गेंदबाज थे।

भारतीय बल्लेबाजों को भी इस गेंदबाज के सामने अपने घुटने टेकने पढ़े। रहमान से पहले भी विश्व क्रिकेट में ऐसे कई रहस्यमयी गेंदबाज आए जिनके गेंद फेकने का अंदाज सबसे अलग और हैरान कर देने वाला था और जिनकी रहस्यमय गेंदबाजी ने बड़े बड़े दिग्गज बल्लेबाजों को भी अपने गेंदबाजी के आगे घुटने पर मजबूर कर दिया। आज हम आपको ऐसे ही कुछ गेंदबाजों के बारे में बताएँगे जिनके गेंद फेकने का स्टाइल सबसे अलग व खतरनाक हैं :-

अजंता मेंडिस:

श्रीलंका के रहस्यमयी गेंदबाज अजंता मेंडिस जिन्होंने अपने गेंदबाजी से सभी बल्लेबाजों में अपना खौफ पैदा कर दिया था। एशिया कप के फाइनल में मेंडिस को भारत के विरुद्ध पहली बार खेल के मैदान में उतारा गया। जिसमे श्रीलंका ने 273 रनों की पारी खेली वहीँ भारतीय टीम 173 रनों पर ही सिमट गयी। मेंडिस ने सिर्फ 13 रन देकर 6 विकेट लिये थे। कैरम बॉल की शुरुआत करने वाले मेंडिस ही है। मेंडिस ने 19 टेस्ट मैचों की 31 पारियों में 70 विकेट लिए थे। वहीँ वन डे में 97 मैचों में 152 और 39 टी 20 में 66 विकेट उनके नाम हैं। लेकिन यह रहस्यमयी गेंदबाज न जाने कहां गुम हो गया।

यह भी पढ़े :-धोनी की पावरफुल हेलिकाप्टर शॉट्स के बीच इस क्रिकेटर का पूरा हो गया खास सपना

सुनील नरेन:

सुनील नरेन काफी लोग इन्हें दुनिया में बेस्ट रहस्यमयी गेंदबाज मानते हैं। नरेन ने भारतीय बल्लेबाजों को लगातार परेशानयो में डाला है चाहे टेस्ट हों, वन डे हो या फिर आईपीएल हो। आईपीएल में सबसे कम रन देने वाले गेंदबाज नरेन से दुनिया का शायद ही कोई ही ऐसा बल्लेबाज हो जो नरेन से खोफ न खाए।

सईद अजमल:

सईद अजमल मुरलीधरन के बाद अकेले ऐसे गेंदबाज हैं जो परफेक्ट दूसरा फेंक सकते हैं। अजमल ने भारतीय बल्लेबाजों स्पेशली युवराज सिंह को बेहद बहुत ज्यादा परेशान किया है। 2015 के वर्ल्ड कप में अजमल के गेंद फेकने के अंदाज को गैरकानूनी करार देकर उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जिसका सबसे बड़ा नुकसान पाकिस्तान को हुआ।

यह भी पढ़े :-खुद से 18 साल बड़े इस क्रिकेटर के पीछे दीवानी थी धक-धक गर्ल माधुरी

सकलेन मुश्ताक:

सकलेन मुश्ताक पाकिस्तान के एक ऐसे रहस्यमयी गेंदबाज हैं जिन्हें हिट करना सभी बल्लेबाजो के लिए कठिन होता था। फर्स्ट क्लास में 833 विकेट लेने वाले सकलेन अपने गेंद फेकने के खास अंदाज से जाने जाते हैं। 49 टेस्ट में 208, 169 वनडे में 288 विकेट लेने वाले सकलेन को जब इंग्लैंड का सलाहकार बनाया गया तो पूरी दुनिया हैरान हो गई थी। सकलने की गेंदबाजी ने पाकिस्तान को कई मैच जितवाए हैं।

बीएस चंद्रशेखर:

70 के दशक के बीएस चंद्रशेखर जिनके गेंदबाजी के सामने सभी बल्लेबाजों असहाय दिखाई देते हैं। उन्होंने क्रिकेट के जगत में तहलका मचा के रख दिया था। उनके गेंदबाजी का अंदाज इतना रहस्यमयी था कि बल्लेबाजों के लिए उन्हें खेलना लगभग असंभव हो जाता था। चंद्रशेखर का दायां हाथ बचपन में हुए पोलियो के कारण लगभग बेकार हो चुका है। 58 टेस्ट मैचों में 242 विकेट लेकर चंद्रशेखर ने क्रिकेट की दुनिया में हडकंप मचा के रख दिया था। 1971 में ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ 38 रन देकर चंद्रशेखर ने 6 विकेट लिए थे।

पॉल एडम्स:

दक्षिण अफ्रीका के रहस्यमयी गेंदबाज पॉल एडम्स को 1995 में इंग्लैंड के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैंसी क्रोनिए ने प्लेइंग 11 में खिलाया जिसमे पॉल के गेंदबाजी का अंदाज बेहद अजीब और हैरान कर देने वाला था। पॉल एडम्स ने यहां 8 विकेट लेकर अपने कप्तान को सही साबित किया।पॉल एडम्स दक्षिण अफ्रीका के लिए 45 टेस्ट मैच खेले जिसमे उन्होंने 134 विकेट प्राप्त किए है। 24 वनडे में उन्होंने 29 विकेट लिए। लेकिन उनका क्रिकेट करियर बहुत लंबा नहीं चल पाया। पॉल एडम्स अपने रहस्मयी अंदाज की वजह से मिस्ट्री बॉलर कहलाए।

मुथैया मुरलीधरन:

श्रीलंका के सबसे ज्यादा रहस्यमीय गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन है जिनके गेंदबाजी का अंदाज में उनकी आंखों की खास भूमिका होती थी। गेंदबाजी करते वक्त मुरलीधरन इस तरह से अपनी आंखें बाहर निकालते थे जिससे बल्लेबाज असहज हो जाता था। मुरलीधरण को सही अर्थों में गेंदबाजी का जादूगर माना जाता है। मुरलीधरण की गेंदबाजी से सभी बल्लेबाज खौफ खाते है। मुरलीधरन ने 133 टेस्ट मैचों में 800 विकेट लिए, 350 वन डे में 534 विकेट और 12 टी-20 में 13 विकेट लिए। दुनिया को कोई भी बल्लेबाज मुरलीधरन को आसानी से हिट नहीं कर पाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *