साल 2018 में इन राशियों पर रहेगा शनि का प्रकोप, जानें कौन कौन सी है वो राशि

हिन्दू धर्मं में कुल बारह ग्रह होते है जिसमे से अगर शनि ग्रह की बात की जाये तो शनि ग्रह एक ऐसा ग्रह है जो किसी भी व्यक्ति के जीवन में होने वाले शुभ लाभ हानि आदि के लिए जिम्मेदार माना गया है |शनि के चाल और दिशा ही हमारे जीवन में ख़ुशी और गम लाती  है इसलिए भी इसे बाकि ग्रहों से बहुत अलग माना गया है और हर व्यक्ति चाहता है की उसके जीवन में शनि का गलत प्रभाव ना पड़े और इसलिए शनि के प्रकोप से बचने के लिए और उन्हें प्रसन्न करने के लिए लोग तरह तरह के उपाय करते है। आज हम बात करेगे आने वाले साल 2018 में शनि के चाल और दिशा के बारे में और ये भी जानेगे की कौन से राशि के लोगो के लिए शनि ग्रह शुभ संकेत देने वाला है और किसके लिए अशुभ।

मेष

सबसे पहले हम मेष राशि वालो की बात करेंगे, शनि देव मेष राशि वालो के नौवे भाव में रजत के पाये पर होंगे, जिसके चलते आपके जीवन में लाभ, सुख समृद्धि और सफलता की ही बारिश होगी यानि आप पर शनि की कृपा बनी रहेगी।

वृषभ

शनि देव वृषभ राशि वालो के आठवे भाव में लौह के पाये पर होंगे. जिसके चलते आपके जीवन में कष्ट, तकलीफ और परिवार में कलह कलेश हो सकता है जी हां आप पर शनि की ढैय्या का प्रभाव पड़ेगा।

मिथुन

मिथुन राशि वालो के सातवे भाव में ताम्बे के पाये पर शनि देव मौजूद होंगे. जिसके चलते इनके जीवन में धन वृद्धि और माँ लक्ष्मी की कृपा के योग बने रहेंगे।

कर्क

कर्क राशि वालो के छठे भाव में स्वर्ण के पाये पर शनि देव मौजूद होंगे. जिससे आपके जीवन में सुख दुःख, धन, लाभ हानि आदि की सामान्य स्थिति ही बनी रहेगी. यानि इस साल आपके जीवन में सब कुछ सामान्य होगा लेकिन वैवाहिक जीवन में दिक्कते आ सकती है |

सिंह

शनि देव इनके पांचे भाव में रजत के पाये पर ही मौजूद होंगे. इसलिए इनके जीवन में भी लाभ होगा. यानि यह साल आपके लिए व्यापारिक, सामाजिक और पारिवारिक दृष्टि से काफी अच्छा रहेगा।

कन्या

शनि देव इनके चौथे भाव में और लोहे के पाये पर मौजूद होंगे. जिसके कारण इनके जीवन में दुःख, कलह कलेश आदि सब ही रहेगा. यानि सीधे शब्दों में कहे तो इस साल आपको काफी परेशानी होगी।

तुला

शनिदेव इन राशि वालो के तीसरे भाव में ताम्र के पाये पर मौजूद होंगे. जिससे इनके जीवन में देवी लक्ष्मी की कृपा, सामाजिक प्रतिष्ठा और व्यापार में वरदीहि बनी रहेगी. यानि इन लोगो को शनि की कृपा से हर सुख की प्राप्ति होग।

वृश्चिक

शनिदेव इन राशि वालो के दूसरे भाव में रजत पाये पर मौजूद होंगे इसके साथ ही धन में वृद्धि, मकान, व्यापार आदि सब में भी लाभ होगा।

धनु

शनिदेव इनके पहले भाव में स्वर्ण पाये पर मौजूद रहेंगे. इसके इलावा हृदय के मध्य भाग पर शनि की साढ़े साती का शुभ प्रभाव नहीं है, अगर सीधे शब्दों में कहे तो इस साल आपको हर क्षेत्र में नुकसान का सामना करना पडेगा।

मकर

बारहवें भाव में लौह पाद पर शनि का भ्रमण से आपके जीवन में इस साल सिर पर शनि की साढ़ेसाती का दुखद प्रभाव रहेगा. कलह, कष्ट, विघ्न-बाधा के साथ-साथ परिवार के किसी सदस्य का विछोह संभव है।

कुंभ

ग्याहरवें भाग में सुवर्ण पाद पर शनि रहेंगे। संघर्ष के बावजूद सफलता में अनिश्चित रहेगी. मानसिक उद्विग्नता, उदासी, अशांति लेकिन व्यवसाय उद्योग में उन्नति के योग बन रहे हैं।

मीन

मीन राशि वालो के दसवे भाव में ताम्र के पाये पर शनिदेव मौजूद रहेंगे. जिससे इन लोगो पर माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहेगी और हर सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी।

ये तो थी शनि की दशा बाकि हम यही चाहते है की नववर्ष सभी के लिए मंगलमय हो और सभी के जीवन में  खुशियाँ लेकर आये।
Share this on

Leave a Reply