आज से शुरू हो गया है मलमास, पूरी दुनिया में होगा नई ऊर्जा का संचार, जरूर करें ये 1 काम

जेठ के इस महीने में अधिकमास आ रहा हैं और यह 19 सालो बाद आया हैं| यह 16 मई से 13 जुन तक रहने वाला हैं| यह अधिकमास 3 साल बाद आता हैं| इसको तीन नामों से जानते हैं अधिकमास, मलमास और पुरुषोत्तममास के नाम से भी जाना जाता हैं| हिन्दू धर्म में इस महीने को विशेष माना गया हैं तथा लोग इस महीने में पुजा-पाठ करते हैं, इस महीने में शुभ काम नहीं किया जाता हैं| इस महीने में किए गए पुजा-पाठ का 10 गुना लाभ मिलता हैं| मनुष्य का शरीर पंच महाभूतों से बना हैं ये पंच महाभूत हैं जल, वायु, आकाश, पृथ्वी और अग्नि हैं|

यह भी पढ़ें : 16 मई से 13 जून तक रहेगा अधिकमास, करें ये काम भगवान विष्णु हो जाएंगे प्रसन्न, दूर हो जाएगी गरीबी

इस महीने में जो लोग पुजा-पाठ करते हैं उसमें लोग अपने पंच महाभूतों में संतुलन स्थापित करते है| इस महीने में पुजा-पाठ करें| अधिमास में यज्ञ हवन करें, देवी भागवत का पाठ करें और विष्णु पुराण पढ़ें या सुने| यह माह भगवान विष्णु का हैं तो इस महीने में भगवान विष्णु के मंत्रों का जप करें| यदि आप ऐसा करते हैं तो भगवान विष्णु स्वयं आपके पापों का नाश करते हैं, इसके साथ ही आपके सभी इच्छाओं को पूरा करते हैं| इस महीने में दान जरूर करें| इस महीने में भूमि पर शयन करें और एक टाइम भोजन करें|

मलमास में दीपदान करने का विशेष महत्व होता हैं| वस्त्र और श्रीमदभागवत गीता दान करने का विशेष महत्व होता हैं| दीपदान करने से धन लाभ मिलता हैं| इस दौरान प्रतिपदा को चाँदी के पात्र में घी रख कर किसी गरीब को दान करें या किसी मंदिर के पुजारी को दान करें तो इससे परिवार में सुख-समृद्धि का वास आता हैं| मलमास के द्वितीया को कांसे के बर्तन में एक सोने का छोटा सा पत्ता रख कर दान करते हैं तो इससे भी खुशहाली आती हैं| इस महीने में आप जल का दान करें|

तृती तिथि को चना या चने के दाल या सत्तू आदि का दान करने से मनुष्य को व्यापार में मदद मिलती हैं और चतुर्थी को खजूर का दान करने से मनुष्य के लिए लाभदायी होता हैं| पंचमी के दिन तुअर की दालें आदि का दान करने से रिश्तों में मिठास बनी रहती हैं| इस महीने में जल का महत्व बहुत ज्यादा बड़ जाता हैं इसलिए इसका दान करें|

Share this on

Leave a Reply